अपराधियों के हौसले इतने बढे कि एसडीएम को ही दे दी जान से मारने की धमकी_धनीरामखंडेलवाल     गाजीपुर: ग्राम प्रधान पर दिनदहाड़े गोली चलाने के दो दिन बाद समर्थक पर भी प्राणघातक हमला     चित्रकूट- पुलिस मुठभेड़ में डकैत गिरफ्तार_रिपोर्ट--बसंत द्विवेदी      अज्ञात बदमाशों ने मारी युवक को गोली,अस्पताल पहुंचने से पहले हुई मौत_रिपोर्ट_अज़हरअब्बास     अमेठी-फायरिंग में एक की मौत,दो घायल_रिपोर्ट-शिवकेशशुक्ल     बिग ब्रेकिंग कानपुर-खूंखार विकास दुबे_बना 8 पुलिसकर्मियों की मौत का जिम्मेदार_रिपोर्ट-वीरेंद्रस          रामपुर-राशन वितरण के दौरान हुई मारपीट_रिपोर्ट-फुरकान अंसारी     विवाद मे चली गोली प्रधानपति की मौत व प्रधानपति का भाई लखनऊ रेफर_रिपोर्ट_अज़हर अब्बास     जिले मे कोरोना पॉजिटिव के 6 नए मामले आने से आंकड़ा पहुँचा 112_रिपोर्ट_अज़हर अब्बास     दुधारा-बेलहवा मार्ग पर हुआ दर्दनाक हादसा दो की मौत_रिपोर्ट:नूर आलम सिद्दीकी      गैंगस्टर का वांछित चढा हत्थे,जेल भेजने की तैयारी शुरू_रिपोर्ट_अज़हर अब्बास     श्रम कार्यालय पर लगी लंबी कतार,सोशल डिस्टेंस का पालन न होने पर गेट बंद_रिपोर्ट-धनीराम     छत पर सो रहे युवक की धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या,इलाके मे सनसनी_रिपोर्ट_अज़हर     हादसे में 02 युवकों की मौत , तीसरा गम्भीर_रिपोर्ट--घनश्याम तिवारी     
हमसे संपर्क करें
डीलरशिप के लिए सम्पर्क करें

खुलेआम घूम रहे हैं दहेज हत्या के आरोपी,पीड़ित परिजनों ने पुलिस पर लगाया आरोप

 

यूपी के संतकबीरनगर जिले में बीते पच्चीस मार्च 2020 को विवाहिता की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत के मामले में नामजद आरोपी खुलेआम घूम रहे है जिनकी गिरफ्तारी की मांग को लेकर मृतका की मां और उसके परिजन पुलिस कार्यालय के चक्कर काट रहे है। पूरा मामला कोतवाली खलीलाबाद क्षेत्र के सौरहां सिंहोरवा गाँव का है जहां की रहने वाली पीड़िता सुशीला देवी ने अपनी बेटी अंतिमा की शादी वर्ष 2018 में दुधारा थाना क्षेत्र के सेमरियावां गाँव निवासी श्रीकांत गुप्ता नाम के शख्स के साथ की थी। पीड़िता के मुताबिक शादी में तय दहेज की रकम के अलावा जो भी शर्ते लड़के वालों ने रखी थी उसको पूरा करते हुए बेटी की शादी की गई थी लेकिन शादी के कुछ महीनों बाद से ही बेटी के ससुराल वाले और दहेज की मांग करने लगे। पीड़िता के मुताबिक बेटी के ससुराल वाले उसकी बेटी पर 50 हजार रुपये, माला और अंगूठी के साथ मोटरसाइकिल की मांग कर उसे प्रताड़ित करने लगे थे, पीड़िता ने अपनी गरीबी का हवाला देते हुए बताया कि उसका परिवार मजदूरी कर अपना जीवन गुजारता है, अचानक बेटी के ससुराल वालों ने दहेज में इतनी बड़ी रकम और सामान मांग लिया जिसे न देने पर उसकी बेटी को जहर खिलाकर उसे मार दिया गया। ग़ौरतलब हो कि इस मामले में पुलिस ने आरोपी पति श्रीकांत शर्मा समेत कुल छः के खिलाफ एक अप्रैल 2020 को मुकदमा तो दर्ज लिया था लेकिन घटना के तीन महीनों बाद तक आरोपियों की गिरफ्तारी नही कर पाई जिसको लेकर मृतका की मां के साथ परिजन निराश है और हत्यारोपियों की जल्द गिरफ्तारी को लेकर एसपी ब्रजेश सिंह से गुहार लगाते हुए पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाए हैं। पूरे मामले पर पीड़िता के अधिवक्ता राकेश मिश्रा ने पुलिस की कार्यशैली पर सवालिया निशान खड़ा करते हुए कहा कि पुलिस की इसी तरह की लापरवाही का परिणाम है कानपुर की घटना।उन्होंने कहा कि अपराधियों को संरक्षण देकर पुलिस उनका मनोबल बढ़ा रही है।

हाल के पोस्ट

शुभकामनाएं
S.R International Academy
#विज्ञापन
शुभकामनाएं