दौलतपुर में मिला अज्ञात युवक का शव, फैली सनसनी_रिपोर्ट--घनश्याम तिवारी     संतकबीरनगर में स्प्रे मशीन फटने से बड़ा हादसा...     संतकबीरनगर_महुली क्षेत्र में पेड़ से लटकता मिला युवक का शव-राशिदा खान की रिपोर्ट     जनता कर्फ्यू का रहा व्यापक असर, हमेशा गुलजार रहने वाले चौराहे रहे सुनसान_रिपोर्ट- मु.परवेज़ अख्तर     पालघर स्टेशन पर उतारे गये कोरोना वायरस के संक्रमण के चार संदिग्ध     सुलतानपुर-रफ्तार का कहर,दो की मौत,चार रेफर_रिपोर्ट_अज़हर अब्बास     मदरसों में बच्चों के अन्दर छिपी हुई प्रतिभा को निखारा जाता हैः मौलाना हलीमुल्लाह कासिमी     सुल्तानपुर, फ्लैश     संतकबीरनगर-विज्ञान महोत्सव का डीएम-एसपी ने किया शुभारम्भ_रिपोर्ट-बिट्ठल दास     संतकबीरनगर- संघर्ष समिति संयोजक ने किया भ्रमण_रिपोर्ट-नूर आलम सिद्धीकी     पीएचसी दुधारा पर लगा मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेला     जनपद बदायूं के नगर कोतवाली क्षेत्र उझानी मे चल रहे वाछितं अपराधियो को गिरफ्तार कर जेल भेजा     

अनाथ हुए इन बच्चों के लिए किसी मसीहा से कम नही चतुर्वेदी बंधु_रिपोर्ट पंकज गुप्ता

 

यूपी के संतकबीरनगर जिले में इंसानियत की एक बड़ी नज़ीर पेश करते हुए सूर्या इंटरनेशनल एकेडमी के एमडी डॉ उदय प्रताप चतुर्वेदी और एसआर इंटरनेशनल एकेडमी के एमडी राकेश चतुर्वेदी यानी समाजसेवी चतुर्वेदी बंधुओ ने समाजसेवा क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान करते हुए इंसानियत की एक बड़ी नज़ीर पेश की है।

चतुर्वेदी बंधुओ यानी डॉ उदय प्रताप चतुर्वेदी और राकेश चतुर्वेदी के द्वारा पेश की गई इंसानियत की नज़ीर का ये पूरा मामला महुली थाना क्षेत्र के तरयापार गाँव से जुड़ा हुआ है जहां माँ की मृत्यु के बाद पिता की दुर्घटना में मौत होने के पश्चात हुए अनाथ हुए दो मासूम बच्चों के पालन पोषण की पूरी जिम्मेदारी उनके दादा दादी के बूढ़े कंधों पर आ गयी थी लेकिन नियति को शायद ये भी मंजूर नही था जिसके चलते बीते दिनों अचानक ही ह्रदय गति रुकने के कारण मासूम बच्चों के दादा जी का निधन हो गया जिसके चलते मासूम एकदम से अनाथ हो गए। मासूम बच्चों के साथ नियति क्रूर मज़ाक कर रही थी जिसकी जानकारी होने के बाद सबसे पहले गाँव पहुंचे सूर्या इंटरनेशनल एकेडमी खलीलाबाद के एमडी व जिले के वरिष्ठ समाजसेवी डॉ उदय प्रताप चतुर्वेदी ने बच्चों के सिर पर ममता का हाथ फेरते हुए पर्याप्त दैनिक जरूरतों से जुड़े सामान प्रदान करने के साथ बीस हजार रुपये की तत्काल आर्थिक सहायता की थी जिसके बाद अब उन्ही के मार्गदर्शन में उनके छोटे भाई व एसआर इंटरनेशनल एकेडमी नाथनगर के एमडी राकेश चतुर्वेदी ने अब तरयापार गाँव के पाण्डेय टोला के रहने वाले 11 वर्षीया हर्षिता और 6 वर्षीय आयुष का सहारा बन दोनो के पढ़ाई लिखाई का जिम्मा उठाया है। दोनो बच्चों के भविष्य को संवारने के लिए एसआर इण्टरनेशनल एकेडमी के एमडी राकेश चतुर्वेदी ने दोनों बच्चों का खुद के संस्थान मे प्रवेश दिलाते हुए उन्हें ड्रेस,बैग और कॉपी किताब प्रदान कर समाजसेवा का एक बेहतर उदाहरण प्रस्तुत किया है जो औरों के लिए एक प्रेरणा समान है।

हाल के पोस्ट

S.R International Academy
Police banner