जिगिना ससुराल जा रहे युवक की दुर्घटना में दर्दनाक मौत_रिपोर्ट-घनश्याम तिवारी     सड़क हादसे में महिला की मौत,शव सड़क पर रख मार्ग जाम_संतोष श्रीवास्तव की रिपोर्ट     अपराधियों के हौसले इतने बढे कि एसडीएम को ही दे दी जान से मारने की धमकी_धनीरामखंडेलवाल     गाजीपुर: ग्राम प्रधान पर दिनदहाड़े गोली चलाने के दो दिन बाद समर्थक पर भी प्राणघातक हमला     चित्रकूट- पुलिस मुठभेड़ में डकैत गिरफ्तार_रिपोर्ट--बसंत द्विवेदी      अज्ञात बदमाशों ने मारी युवक को गोली,अस्पताल पहुंचने से पहले हुई मौत_रिपोर्ट_अज़हरअब्बास     अमेठी-फायरिंग में एक की मौत,दो घायल_रिपोर्ट-शिवकेशशुक्ल     बिग ब्रेकिंग कानपुर-खूंखार विकास दुबे_बना 8 पुलिसकर्मियों की मौत का जिम्मेदार_रिपोर्ट-वीरेंद्रस          रामपुर-राशन वितरण के दौरान हुई मारपीट_रिपोर्ट-फुरकान अंसारी     विवाद मे चली गोली प्रधानपति की मौत व प्रधानपति का भाई लखनऊ रेफर_रिपोर्ट_अज़हर अब्बास     जिले मे कोरोना पॉजिटिव के 6 नए मामले आने से आंकड़ा पहुँचा 112_रिपोर्ट_अज़हर अब्बास     दुधारा-बेलहवा मार्ग पर हुआ दर्दनाक हादसा दो की मौत_रिपोर्ट:नूर आलम सिद्दीकी      गैंगस्टर का वांछित चढा हत्थे,जेल भेजने की तैयारी शुरू_रिपोर्ट_अज़हर अब्बास     श्रम कार्यालय पर लगी लंबी कतार,सोशल डिस्टेंस का पालन न होने पर गेट बंद_रिपोर्ट-धनीराम     
Advertisement
आवश्यकता है

अधिकारियों पर ग्राम प्रधान और सीक्रेटरी को बचाने का आरोप, निष्पक्ष जांच की मांग

 

संतकबीरनगर जिले के सेमरियावां ब्लॉक क्षेत्र के बन्नी गाँव मे ग्राम प्रधान और सचिव के द्वारा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मंशा पर पलीता लगाते हुए विकास कार्यों के मद में आये लगभग 22 लाख रुपये के बंदरबांट का मामला सामने आया है।

गाँव के विकास के मद में आये सरकारी धन के बंदरबांट के मामले में एक तरफ जहां पहले की गई शिकायत के बाद पिछले दिनों बड़ा गड़बड़झाला निकल कर सामने आया था जिसपर तत्कालीन डीएम रवीश गुप्ता के द्वारा बड़ी कार्यवाही करते हुए ग्राम प्रधान के वित्तीय अधिकार सीज कर अंतिम जांच जिले के पीडी को सौंप दिया गया था। मामले में गुपचुप तरीके से जांच कर पीडी द्वारा ग्राम प्रधान के पक्ष में रिपोर्ट लगाए जाने से निराश गाँव के दूसरे युवक ने कुल 14 विन्दुओ पर शिकायत करते हुए दुबारा जांच करने की मांग तत्कालीन डीएम रवीश गुप्ता से की थी जिसपर डीडीओ संतकबीरनगर की अगुआई में बन्नी गाँव पहुंची टीम ने स्थलीय परीक्षण के दौरान माना कि गाँव के विकास कार्यों में अनियमितता हुई है लेकिन अंतिम जांच रिपोर्ट में ग्राम प्रधान और सीक्रेटरी को क्लीन चिट देते हुए पहले हुए जांच पर आंच लाते हुए मामले में लीपापोती की जिससे परेशान शिकायतकर्ता तहसील दिवस में अपनी शिकायत लेकर पहुंचा। तहसील दिवस के दौरान नवागत जिलाधिकारी श्रीमती दिव्या मित्तल से मिलकर शिकायतकर्ता अदील अहमद ने गाँव के विकास कार्यों की जांच किसी निष्पक्ष जांच एजेंसी से कराए जाने की मांग की।
आपको बता दें कि सेमरियावां ब्लॉक क्षेत्र के बन्नी गाँव के ग्राम प्रधान और सीक्रेटरी के ऊपर विकास कार्यों के मद में आये सरकारी धन के बंदरबांट को लेकर पिछले दिनों गाँव निवासी मुस्ताक अहमद नाम के जिस शिकायतकर्ता की शिकायत को सही पाते हुए जांच अधिकारियों में शामिल ड्रेनेज खण्ड के अधिशासी अभियंता सतीश चंद ने घोटाले की पुष्टि की थी और जिसपर तत्कालीन जिलाधिकारी रवीश गुप्ता के द्वारा ग्राम प्रधान का वित्तीय अधिकार सीज किया था उसी गाँव के रहने वाले दूसरे शिकायतकर्ता अदील अहमद की शिकायत पर गाँव मे जांच करने पहुंचे जिला विकास अधिकारी ने अपनी जांच रिपोर्ट में ग्राम प्रधान और सीक्रेटरी को साफ तौर पर क्लीन चिट दे डाला। जबकि गाँव निवासी शिकायतकर्ता अदील अहमद ने आरटीआई से मिली जानकारी और भुगतान से जुड़े दस्तावेज भी जांच अधिकारी यानी डीडीओ को सौंप कर यह अवगत कराया था कि किस तरह एक ही काम को कागज़ो में दो बार कार्य होना दिखाकर लाखों का बंदरबांट किया गया है। शिकायतकर्ता अदील अहमद ने जिन 14 विन्दुओ की शिकायत की थी उनमे प्रमुख रुप से सीसी रोड,खण्डजा निर्माण, नाली निर्माण, शौचालय निर्माण ,चकरोड निर्माण, आदि के मद में आये सरकारी धन के बंदरबांट का आरोप ग्राम प्रधान और सचिव के ऊपर लगाते हुए जांच की मांग की थी। पूरे मामले पर शिकायतकर्ता अदील अहमद ने जांच अधिकारियों पर ग्राम प्रधान और सीक्रेटरी को बचाने का आरोप लगाते हुए मामले की जांच किसी निष्पक्ष जांच एजेंसी से कराए जाने की मांग की है जिसपर जिलाधिकारी श्रीमती दिव्या मित्तल ने जांच और कार्यवाही की बात कही है।

 

हाल के पोस्ट

एडमिशन के लिए सम्पर्क करें
S.R International Academy
#विज्ञापन