बिग ब्रेकिंग-बशारतपुर में अज्ञात बाइक सवारों ने माँ बेटी को मारी गोली,माँ की मौत_विभवपाठक     जिगिना ससुराल जा रहे युवक की दुर्घटना में दर्दनाक मौत_रिपोर्ट-घनश्याम तिवारी     सड़क हादसे में महिला की मौत,शव सड़क पर रख मार्ग जाम_संतोष श्रीवास्तव की रिपोर्ट     अपराधियों के हौसले इतने बढे कि एसडीएम को ही दे दी जान से मारने की धमकी_धनीरामखंडेलवाल     गाजीपुर: ग्राम प्रधान पर दिनदहाड़े गोली चलाने के दो दिन बाद समर्थक पर भी प्राणघातक हमला     चित्रकूट- पुलिस मुठभेड़ में डकैत गिरफ्तार_रिपोर्ट--बसंत द्विवेदी      अज्ञात बदमाशों ने मारी युवक को गोली,अस्पताल पहुंचने से पहले हुई मौत_रिपोर्ट_अज़हरअब्बास     अमेठी-फायरिंग में एक की मौत,दो घायल_रिपोर्ट-शिवकेशशुक्ल     बिग ब्रेकिंग कानपुर-खूंखार विकास दुबे_बना 8 पुलिसकर्मियों की मौत का जिम्मेदार_रिपोर्ट-वीरेंद्रस          रामपुर-राशन वितरण के दौरान हुई मारपीट_रिपोर्ट-फुरकान अंसारी     विवाद मे चली गोली प्रधानपति की मौत व प्रधानपति का भाई लखनऊ रेफर_रिपोर्ट_अज़हर अब्बास     जिले मे कोरोना पॉजिटिव के 6 नए मामले आने से आंकड़ा पहुँचा 112_रिपोर्ट_अज़हर अब्बास     दुधारा-बेलहवा मार्ग पर हुआ दर्दनाक हादसा दो की मौत_रिपोर्ट:नूर आलम सिद्दीकी      गैंगस्टर का वांछित चढा हत्थे,जेल भेजने की तैयारी शुरू_रिपोर्ट_अज़हर अब्बास     
Advertisement
आवश्यकता है

हंता वायरस से बचाने में कारगर है होम्योपैथी-डा.भास्कर शर्मा_रिपोर्ट-मनोज शुक्ला

 

 


सिद्धार्थ नगर।अगर कोई इंसान चूहों के मल-मूत्र या लार को छूने के बाद अपने चेहरे पर हाथ लगाता है तो हंता संक्रमित होने की आशंका बढ़ जाती है गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड धारी सहित सैकड़ों पुस्तकों के लेखक तथा सैकड़ों अंतरराष्ट्रीय वा राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त सिद्धार्थनगर के होम्योपैथिक चिकित्सक डॉ भास्कर शर्मा ने हंता वायरस के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि आमतौर पर हंता वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में नहीं जाता हैlहंता के संक्रमण का पता लगने में एक से आठ हफ्तों का वक़्त लग सकता हैl
अगर कोई व्यक्ति हंता संक्रमित है तो उसे बुखार, दर्द, सर्दी, बदन दर्द, उल्टी जैसी दिक़्क़तें हो सकती हैंl
हंता संक्रमित व्यक्ति की हालत बिगड़ने पर फेफड़ों में पानी भरने और सांस लेने में तकलीफ़ भी हो सकती हैl
 कोरोना वायरस की तरह हंता वायरस इंसान से इंसान में नहीं फैलता। डॉक्टर भास्कर शर्मा कहते हैं कि अगर कोई व्‍यक्ति चूहों के मल-मूत्र या उनके बिल की चीजें वगैरह छूने के बाद अपनी आंख, नाक और मुंह को छूता है तो उसमें हंता वायरस का संक्रमण फैल सकता है। कोरोना वायरस की तरह हंता वायरस हवा में नहीं फैलता है।  डॉ भास्कर शर्मा ने आगे यह भी बताया कि होम्योपैथी की कैंफर 30 की औषधि दिन में तीन बार 3 दिन तक लगातार दिया जाए तो हंता वायरस से बचाव की एक बेहतर औषधि हैl

हाल के पोस्ट

एडमिशन के लिए सम्पर्क करें
S.R International Academy
#विज्ञापन