दौलतपुर में मिला अज्ञात युवक का शव, फैली सनसनी_रिपोर्ट--घनश्याम तिवारी     संतकबीरनगर में स्प्रे मशीन फटने से बड़ा हादसा...     संतकबीरनगर_महुली क्षेत्र में पेड़ से लटकता मिला युवक का शव-राशिदा खान की रिपोर्ट     जनता कर्फ्यू का रहा व्यापक असर, हमेशा गुलजार रहने वाले चौराहे रहे सुनसान_रिपोर्ट- मु.परवेज़ अख्तर     पालघर स्टेशन पर उतारे गये कोरोना वायरस के संक्रमण के चार संदिग्ध     सुलतानपुर-रफ्तार का कहर,दो की मौत,चार रेफर_रिपोर्ट_अज़हर अब्बास     मदरसों में बच्चों के अन्दर छिपी हुई प्रतिभा को निखारा जाता हैः मौलाना हलीमुल्लाह कासिमी     सुल्तानपुर, फ्लैश     संतकबीरनगर-विज्ञान महोत्सव का डीएम-एसपी ने किया शुभारम्भ_रिपोर्ट-बिट्ठल दास     संतकबीरनगर- संघर्ष समिति संयोजक ने किया भ्रमण_रिपोर्ट-नूर आलम सिद्धीकी     पीएचसी दुधारा पर लगा मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेला     जनपद बदायूं के नगर कोतवाली क्षेत्र उझानी मे चल रहे वाछितं अपराधियो को गिरफ्तार कर जेल भेजा     

संतकबीरनगर-समय से नहीं आ रहे डाक्टर, मरीज परेशान_रिपोर्ट-नूर आलम सिद्दीकी

 

 

सेमरियावां (संतकबीरनगर)। शासन के लाख कोशिशों के बावजूद भी ग्रामीण इलाकों में चिकित्सकीय व्यवस्था पटरी पर आती नहीं दिख रही है। अस्पतालों पर पर्याप्त दवा तो है, पर चिकित्सक नहीं रहते हैं चिकित्सक मनमाना ड्यूटी कर रहे हैं। सब कुछ जानते हुए भी उच्चाधिकारी मौन हैं, जिसका खामियाजा मरीजों को भुगतना पढ़ रहा है। प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र दानूकुईयां पर तैनात चिकित्सको की लापरवाही इस कदर हैं कि उन्हें अस्पताल पर आने वाले मरीजों की परेशानियां से कोई मतलब नहीं हैं और न ही अपने ड्यूटी के प्रति सजगता उनकी लेट लतीफी के चक्कर में क्षेत्र की जनता उनका इंतजार कर थक हार कर मजबूरन प्राईवेट क्लीनिक पर जाने को विवश हैं। शुक्रवार को पीएचसी दानूकुईयां पर इलाज कराने आये राम अनुज ,जानकी देवी ,फरहाना खातून निवासी परसा जब्ती व अतीकुर्रहमान निवासी रोहनिया जुकाम बुखार आदि से सम्बंधित दर्जनों मरीजों इलाज करने आये थे तो वहीं बासखोर निवासी गर्भवती महिला आरती देवी अपनी जांच करवाने आयी थी लेकिन प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर तैनात चिकित्सको की लेट लतीफी के कारण प्राईवेट डाक्टरों की शरण में जाने को विवश होना पड़ा। बताते चले कि पीएचसी दानूकुईयां पर आयुष महिला चिकित्सक डा.नाजिम कौसर, फार्मसिस्ट अरुण कुमार, एलए अश्विनी कुमार, वार्ड आया रेनू, (संविदा) स्टाफ नर्स मुकेश मीनी व स्वीपर मनोज की तैनाती हैं चार बेड वाले इस अस्पताल में लगभग 60-70 मरीज रोजाना आते हैं। शुक्रवार को लगभग 10.45 बजें तक चिकित्सको की कुर्सियां खाली रही और मरीज बाहर इनके आने का इंतेजार करते देखे गये। स्थानीय निवासी शकील अहमद चैधरी, अब्दुल मतीन, जैनुल्लाह, रिजवान अहमद, वसीउल्लाह, अब्दुल कवी, अमेरुददीन, अब्दुर रहमान, किसोर बडही, नन्दालाल, बनशी विशकर्मा, जिननान, तुफेल अहमद, जुबैर आदि दर्जनों लोगों ने बताया कि अस्पताल का कायाकल्प और महिला चिकित्सक की तैनाती होने के बाद उम्मीद जगी कि लोगो को बेहतर इलाज मिलेगा लेकिन डाक्टर कभी भी समय से नहीं आते जिसकी वजह से गर्भवती महिलाएं व प्राथमिक उपचार के लिए आने वाले मरीजो को निराश होकर प्राईवेट डाक्टर के पास जाना पड़ता हैं। इस सम्बंध में सीएचसी अधीक्षक डा.जगदीश पटेल ने बताया कि वहां तैनात सभी स्वास्थ्य कर्मियों को निर्धारित समय पर आने के लिए कहा गया मै स्वतः पीएचसी का निरीक्षण करने जाऊंगा अगर इस तरह की शिकायत मिलती हैं तो सम्बंधित के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

हाल के पोस्ट

S.R International Academy
Police banner