सुलतानपुर---कोरोना वायरस (कोविड-19) महामारी से लड़ने के लिये हम सभी को साथ देने की जरूरत है और इसके संक्रमण को रोकने/बचाव हेतु सभी को मिलकर व्यापक प्रचार-प्रसार करके लाॅक डाउन का पूरा अनुपालन में सभी के सहयोग की नितान्त आवश्यकता है। सावधानी के साथ-साथ सुरक्षा हम सभी को अपनी करनी है तथा अपने परिवार एवं समाज की भी सुरक्षा करनी है।
यह विचार जिलाधिकारी सी0 इन्दुमती व पुलिस अधीक्षक शिव हरी मीना ने आज सायंकाल कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित धर्मगुरूओं व सामाजिक संगठनों के पदाधिकारियों के साथ बैठक करते हुए व्यक्त किया। दोनों अधिकारी संयुक्त रूप से अपील की है कि सभी धर्म गुरू अपने-अपने मजहब के वरिष्ठ जनों को बताएं कि लाॅक डाउन का सभी शत-प्रतिशत अनुपालन करते हुए कोरोना वायरस महामारी से लड़ने के लिये हम सब एक जुट होकर साथ दें और अपने-अपने धर्म की इबादत/पूजा अपने घरों में करें। सोशल डिस्टेन्स बनाये रखते हुए इस बारे में लोगों कोे बताया जाये। उन्होंने कहा कि जब तक समाज का हर प्राणी हर वर्ग साथ नहीं देगा, तब तक हम इस महामारी से लड़ाई को नहीं जीत पायेंगे। उन्होंने कहा कि आप लोग अपने तरफ से अपील(आडियो/वीडियो) सोशल मीडिया आदि पर जारी कर लोगों को जागरूक करें।
बैठक में जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक ने संयुक्त रूप से कहा कि आप लोगों का प्रभाव अपने-अपने समाज में है। आप सब अपने-अपने लोगों के समझाइयें की लाॅक डाउन का पालन कैसे किया जायें। तभी हम सब इस महामारी से बच सकते हैं। प्रशासन के साथ-साथ आप सब के सहयोग की आवश्यकता है। उन्होंने अपील की कि आप सभी से हर तरह से सहयोग की आवश्यकता है और आप लोग सहयोग भी कर रहे हैं, जो प्रशंसनीय है। उन्होंने कहा कि जनपद में विदेश/अन्य राज्यों से जो भी व्यक्ति आयें हैं। उनका स्वास्थ्य परीक्षण अवश्य करायें और उन्हें होम क्वारेन्टाइन पर रखा जाये। उन्होंने कहा कि लोगों की मानसिकता को परिवर्तित करना है। उन्होंने कहा कि हम सभी को अफवाहों पर कोई भी व्यक्ति कदापि ध्यान न दें, बल्कि अपने-अपने घरों में रहें। अनावश्यक रूप से अपने घर से बाहर कदापि न निकलें।
जिलाधिकारी ने सामाजिक संगठनों से अपील की कि आप सब सहयोग के रूप में ड्राई राशन दें ज्यादा अच्छा होगा। उन्होंने बताया कि खाद्यान्न आपूर्ति का नोडल अधिकारी जिला पूर्ति अधिकारी को बनाया गया है, जिनका मो0 नं0- 9415183099 है, जिस पर आप सब सम्पर्क कर सम्बन्धित क्षेत्र में खाद्यान्न आपूर्ति कर सहयोग प्रदान कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि शेल्टर होम के साथ-साथ विभिन्न स्थानों पर कम्युनिटी किचन सेन्टर चलाये जा रहे हैं, जिसमें ताजा खाना जरूरतमंद लोगों दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि निर्धन एवं गरीब बस्तियों में जाकर सहयोग करें, तो नेक कार्य होगा। उन्होंने कहा कि निराश्रित गोवंशों के लिये भूषा, चारा की व्यवस्था कराया गया है। आप सब यह भी समाज में बतायें कि कुत्तों को भी लोग खाना खिलायें।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ0 सीबीएन त्रिपाठी ने बताया कि कोरोना वायरस का फैलाव हवा में नहीं होता है, यह थूकने, खांसनें व छींकने से फैलता है। इसमें साफ-सफाई, साबुन से हाथ धुलना, सेनेटाइजर आदि के बारे में अवगत कराया। उन्होंने बताया कि विदेश व अन्य राज्यों से जो लोग आये हैं, उनकों छिपाने की जरूरत नहीं है। विदेश से आने वाले लोगों को 28 दिन तक होम क्वारन्टाइन की जरूरत है, जो अपने देश के अन्य राज्यों से जनपद में आयें हैं, उनकों 14 दिन की होम क्वारन्टाइन करने की जरूरत है। इसी के साथ-साथ सतर्क एवं जागरूक रहने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की टीम पूरी तरह से मेडिकल चेकअप के लिये जनपद में कार्य कर रही है। उप जिलाधिकारी सदर रामजी लाल ने भी धर्मगुरूओं से अपील की कि मेन रोड के अलावा गलियों में युवा वर्ग घूमते रहते हैं। उन्हें आप लोग समझायें और लाॅक डाउन का अक्षरशः पालन कराने में सहयोग करें।
बैठक के पश्चात लायंस क्लब सुलतानपुर मिड टाउन के पदाधिकारी बलदेव सिंह, डाॅ0 राजीव श्रीवास्तव, डाॅ0 डी0एस0 मिश्र द्वारा 51 हजार रू0 प्रधानमंत्री राहत कोष में भेजने हेतु जिलाधिकारी को चेक भेंट किया।
इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी(प्रशा0) हर्ष देव पाण्डेय, अपर पुलिस अधीक्षक शिवराज, सीओ सिटी सतीश चन्द्र शुक्ला, सरदार बलदेव सिंह, मौलाना उष्मान, अमर बहादुर सिंह, पंचमुखी हनुमान गढ़ी के प्रबन्धक आशीष श्रीवास्तव, व्यापार मण्डल के मीडिया प्रभारी जुबैर अहमद, मौलाना मो0 कसीम, सहित सामाजिक संगठनों के पदाधिकारी तथा विभिन्न समुदाय के धर्मगुरू एवं नगर के सम्भ्रान्त नागरिक आदि उपस्थित रहे।

Read more

 


सुल्तानपुर---कोरोना वायरस (कोविड-19) महामारी से बचाव के लिए 21 दिन के चल रहे लॉकडाउन के बीच उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर जिले में क्वारैंटाइन किए गए 25 लोग मंगलवार रात सेंटर से फरार हो गए। ये सभी गैर राज्यों से पलायन कर लौटे थे। पुलिस करीब 14 घंटे के भीतर सभी लोगों को पकड़ लिया है। पुलिस ने इन सभी मुकदमा दर्ज करने की कार्रवाई शुरू कर दी है। साथ ही अब कोई फरार न होने पाए, इसके लिए पुलिस की मुस्तैदी बढ़ा दी गई है।
डीएम सी. इन्दुमती ने बताया कि, केएनआईटी परिसर फरीदीपुर में दूसरे राज्यों व जनपदों से आए 115 व्यक्तियों को मेडिकल जांच कराने के पश्चात सतर्कता की दृष्टि से गोसाईगंज थाना क्षेत्र के फरीदीपुर स्थित केएनआईटी परिसर में क्वारैंटाइन किया गया था। मंगलवार की रात में लगभग 10 से 11 बजे के मध्य 25 व्यक्ति शेल्टर होम के पीछे के रास्ते से प्रथम तल से चादर एवं गमछे के सहारे रस्सी बनाकर फरार हो गए थे।
एसपी शिवहरि मीणा के निर्देशन में लगी पुलिस टीम ने 14 घंटे के अन्दर सभी भागे हुए 25 व्यक्तियों को पकड़कर उन्हें पुनः शेल्टर होम में वापस क्वारैंटाइन कर दिया है। पुलिस के अनुसार सभी के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है।
डीएम ने सभी यात्रियों की निगरानी के निर्देश दिए हैं। उन्होंने सभी को क्वारैंटाइन के महत्व के विषय में बताया और कहा कि यहां पर आप लोगों को खाने-पीने, रहने आदि की व्यवस्था जिला प्रशासन द्वारा दी जा रही है। लोगों के यहां आने पर प्रथम बार मेडिकल चेकअप कराया गया है। अब फिर से मेडिकल चेकअप कराने के बाद प्राउड टू प्रोटेक्ट सुलतानपुर (घर पर रहें, स्वस्थ्य रहें) नामक मुहर बाएं हाथ के हथेली की ऊपरी हिस्से में लगायी जाएगी। इसके पश्चात सबको घर भेजा जाएगा, जिससे यह सुनिश्चित हो सके कि आप लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया जा चुका है और आप स्वस्थ्य हैं। उन्होंने कहा कि यदि कोई व्यक्ति यहां से अवैध तरीके से भागने का प्रयास करेगा, तो उसके विरूद्ध कानूनी कार्रवाई भी की जाएगी।

Read more

 

 


सिद्धार्थ नगर)सोमवार को भनवापुर ब्लाक संसाधन केंद्र पर सर्व शिक्षा अभियान के तहत अब तक के सबसे बड़े बजट वाली ट्रेनिंग व शासन की अति महत्वाकांक्षी योजना निष्ठा प्रशिंक्षण के चौथे पारी में सभी प्रशिक्षु शिक्षक उपस्थित रहे मगर आवयौस्थाओं के बीच अधिकारियों के खानापूर्ति के साथ ही सम्पन्न हो गया है। तथा अंतिम पारी के शिक्षकों का निष्ठा प्रशिंक्षण कोरोना वायरस के कारण अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया है। वहीं पहले की तरह प्रशिक्षंण में चाय पानी व भोजन की व्यवस्था पर ठेकेदार की मनमानी भारी रही। पहली पारी में जहां आठ शिक्षक नदारद रहे तो वहीं दूसरी व तीसरे पारी में केवल एक ही शिक्षक प्रशिक्षण से अनुपस्थित रहे।
प्राथमिक विद्यालयों में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा व शैक्षिक संवर्धन के लिए अध्यापकों को पांच दिवसीय प्रशिक्षण दिया जा रहा है निष्ठा नाम से संचालित यह प्रशिक्षण प्रत्येक अध्यापक व शिक्षामित्र को 22 फरवरी से दिया जा रहा है। चलने वाले प्रशिक्षण के तीसरे पारी में भनवापुर के 150 अध्यापकों के जगह 149 को प्रशिक्षित कर प्रमाण पत्र दिया गया था तो वहीं चौथे पारी में 150 के जगह 150 शिक्षकों ने प्रशिक्षण लिया जिन्हे प्रमाणपत्र दिया गया। इस प्रशिक्षण के लिए शासन में अब तक का सबसे बड़ा बजट जारी किया है। बावजूद इसके भी प्रशिक्षण की व्यवस्था चौथी पारी में भी बदइंतजामी की शिकार के बीच खाना पूर्ति हो गई। तथा अंतिम दिन प्राथमिक शिक्षक संघ के ब्लॉक अध्यक्ष श्री राम प्रकाश मिश्रा ने 150 प्रशिक्षु शिक्षकों को प्रमाण पत्र दिया। इस दौरान हिमांशु द्विवेदी,राम प्रशिक्षण में के0आर0पी0 रामप्रकाश मिश्र, हिमांशु द्विवेदी, दुर्गेश कुमार मिश्र,किरन, उमाकांत गुप्ता, आशीष सिंह, राम बरन जायसवाल एस0आर0पी0 शिव कुमार राय अखिलेश्वर मिश्र, विजय कुमार श्रीवास्तव, अजय गौतम तथा प्रशिक्षु पिंगल प्रसाद मिश्र, अंजलि गुप्ता। रीना श्रीवास्तव, कमलेश कुमारी, रवि सिंह, अश्वनी कुमार, नीलम, वंदना श्रीवास्तव, शशिबाला सिंह, तनुजा, नीलम पांडेय, आदि मौजूद रहे।

Read more

 

 

सुल्तानपुर---चार पहिया वाहन से खोया लेकर जा रहे चालक को खाद महकमे ने रोक लिया ।मौके पर सैंपल भरा जा रहा है ।गाड़ी में तकरीबन 40 किलो का खोया लदा हुआ है ।बताते चलें कि नई नियमावली के तहत अब मिठाई पर उसकी मैन्युफैक्चरिंग डेट डाली जाएगी लेकिन खोवा कब का है ? इसका जिक्र नहीं होगा।इसलिए शहरवासी सेहत को लेकर होशियार रहें और एहतियात बरतें ।मिठाई निर्माण में सर्वाधिक इस्तेमाल खोए का होता है ।पता चला है कानपुर से कई कुंटल खोया यहां की नामचीन दुकानों पर भेज दिया जाता है। कानपुर में लोड करने के बाद बसअड्डे से युवक गायब हो जाता है और यहां पर बस अड्डे पर कुली द्वारा खोया उतार लिया जाता है ।गड़बड़ झाले की अगले अंक में प्रकाशित किया जाएगा जिसके तार अवैध शराब से भी जुड़े हुए हैं।

Read more

 

 

जनपद बदायूं के डीएम कुमार प्रशातं ने दिये दिशा निर्देष।
चीन समेत केई देशों में हाहाकार मचा चुके कोरोना वायरस की आहट अव हिन्दुस्तान मे भी सुनाई देने लगी है।वही डीएम कुमार प्रशांत ने मीडिया वार्ता मे कोरोना वायरस से पीडितो के द्बटिगत अस्पतालो की तैयारी के बारे मे बताया और नगर पालिका आघिकारियो को दिये निर्देष
डीएम कुमार प्रशांत ने बताया कि हमने जिला अस्पताल में एक आसुलोशन वार्ड, एक कट्रोल रूम स्थापित किया है इसके अलावा मेडीकल कालेज मे भी छः बेड और एक आशुलोसन वार्ड तैयार किया है वही मेडीकल कालेज के प्रिसिंपल से वात करके पेरामेडीकल स्टाफ व डाक्टर की व्यवस्था कर ली गयी है वही जिलाधिकारी ने बताया कि एक एडवांस लाइफ सपोर्ट सिस्टम की एक एबुलेंस भी नियुक्त की है।जो कोरोना से पीडित को लाने लेजाने का काम करेगी कही नगर पचायंत व नगर पालिका को आदेश दिए है कि मांस की दुकानो पर साफ सफाई का बिशेष ख्याल रखा जाये वही डीएम कुमार प्रशांत ने सार्वजनिक सभाओ पर भी रोक लगा दी है।
जिलाधिकारी कुमार प्रशांत ने खराब मौसम के चलते कल दिनांक 7 मार्च शनिवार को कक्षा 8 तक सभी विद्यालयो मे अवकाश का आदेश दिया।

Read more

 

 

सेमरियावां (संतकबीरनगर)। शासन के लाख कोशिशों के बावजूद भी ग्रामीण इलाकों में चिकित्सकीय व्यवस्था पटरी पर आती नहीं दिख रही है। अस्पतालों पर पर्याप्त दवा तो है, पर चिकित्सक नहीं रहते हैं चिकित्सक मनमाना ड्यूटी कर रहे हैं। सब कुछ जानते हुए भी उच्चाधिकारी मौन हैं, जिसका खामियाजा मरीजों को भुगतना पढ़ रहा है। प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र दानूकुईयां पर तैनात चिकित्सको की लापरवाही इस कदर हैं कि उन्हें अस्पताल पर आने वाले मरीजों की परेशानियां से कोई मतलब नहीं हैं और न ही अपने ड्यूटी के प्रति सजगता उनकी लेट लतीफी के चक्कर में क्षेत्र की जनता उनका इंतजार कर थक हार कर मजबूरन प्राईवेट क्लीनिक पर जाने को विवश हैं। शुक्रवार को पीएचसी दानूकुईयां पर इलाज कराने आये राम अनुज ,जानकी देवी ,फरहाना खातून निवासी परसा जब्ती व अतीकुर्रहमान निवासी रोहनिया जुकाम बुखार आदि से सम्बंधित दर्जनों मरीजों इलाज करने आये थे तो वहीं बासखोर निवासी गर्भवती महिला आरती देवी अपनी जांच करवाने आयी थी लेकिन प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर तैनात चिकित्सको की लेट लतीफी के कारण प्राईवेट डाक्टरों की शरण में जाने को विवश होना पड़ा। बताते चले कि पीएचसी दानूकुईयां पर आयुष महिला चिकित्सक डा.नाजिम कौसर, फार्मसिस्ट अरुण कुमार, एलए अश्विनी कुमार, वार्ड आया रेनू, (संविदा) स्टाफ नर्स मुकेश मीनी व स्वीपर मनोज की तैनाती हैं चार बेड वाले इस अस्पताल में लगभग 60-70 मरीज रोजाना आते हैं। शुक्रवार को लगभग 10.45 बजें तक चिकित्सको की कुर्सियां खाली रही और मरीज बाहर इनके आने का इंतेजार करते देखे गये। स्थानीय निवासी शकील अहमद चैधरी, अब्दुल मतीन, जैनुल्लाह, रिजवान अहमद, वसीउल्लाह, अब्दुल कवी, अमेरुददीन, अब्दुर रहमान, किसोर बडही, नन्दालाल, बनशी विशकर्मा, जिननान, तुफेल अहमद, जुबैर आदि दर्जनों लोगों ने बताया कि अस्पताल का कायाकल्प और महिला चिकित्सक की तैनाती होने के बाद उम्मीद जगी कि लोगो को बेहतर इलाज मिलेगा लेकिन डाक्टर कभी भी समय से नहीं आते जिसकी वजह से गर्भवती महिलाएं व प्राथमिक उपचार के लिए आने वाले मरीजो को निराश होकर प्राईवेट डाक्टर के पास जाना पड़ता हैं। इस सम्बंध में सीएचसी अधीक्षक डा.जगदीश पटेल ने बताया कि वहां तैनात सभी स्वास्थ्य कर्मियों को निर्धारित समय पर आने के लिए कहा गया मै स्वतः पीएचसी का निरीक्षण करने जाऊंगा अगर इस तरह की शिकायत मिलती हैं तो सम्बंधित के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

Read more

 

 

सुलतानपुर---कोरोना वायरस (कोविड-19) महामारी से लड़ने के लिये हम सभी को साथ देने की जरूरत है और इसके संक्रमण को रोकने/बचाव हेतु सभी को मिलकर व्यापक प्रचार-प्रसार करके लाॅक डाउन का पूरा अनुपालन में सभी के सहयोग की नितान्त आवश्यकता है। सावधानी के साथ-साथ सुरक्षा हम सभी को अपनी करनी है तथा अपने परिवार एवं समाज की भी सुरक्षा करनी है।
यह विचार जिलाधिकारी सी0 इन्दुमती व पुलिस अधीक्षक शिव हरी मीना ने आज सायंकाल कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित धर्मगुरूओं व सामाजिक संगठनों के पदाधिकारियों के साथ बैठक करते हुए व्यक्त किया। दोनों अधिकारी संयुक्त रूप से अपील की है कि सभी धर्म गुरू अपने-अपने मजहब के वरिष्ठ जनों को बताएं कि लाॅक डाउन का सभी शत-प्रतिशत अनुपालन करते हुए कोरोना वायरस महामारी से लड़ने के लिये हम सब एक जुट होकर साथ दें और अपने-अपने धर्म की इबादत/पूजा अपने घरों में करें। सोशल डिस्टेन्स बनाये रखते हुए इस बारे में लोगों कोे बताया जाये। उन्होंने कहा कि जब तक समाज का हर प्राणी हर वर्ग साथ नहीं देगा, तब तक हम इस महामारी से लड़ाई को नहीं जीत पायेंगे। उन्होंने कहा कि आप लोग अपने तरफ से अपील(आडियो/वीडियो) सोशल मीडिया आदि पर जारी कर लोगों को जागरूक करें।
बैठक में जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक ने संयुक्त रूप से कहा कि आप लोगों का प्रभाव अपने-अपने समाज में है। आप सब अपने-अपने लोगों के समझाइयें की लाॅक डाउन का पालन कैसे किया जायें। तभी हम सब इस महामारी से बच सकते हैं। प्रशासन के साथ-साथ आप सब के सहयोग की आवश्यकता है। उन्होंने अपील की कि आप सभी से हर तरह से सहयोग की आवश्यकता है और आप लोग सहयोग भी कर रहे हैं, जो प्रशंसनीय है। उन्होंने कहा कि जनपद में विदेश/अन्य राज्यों से जो भी व्यक्ति आयें हैं। उनका स्वास्थ्य परीक्षण अवश्य करायें और उन्हें होम क्वारेन्टाइन पर रखा जाये। उन्होंने कहा कि लोगों की मानसिकता को परिवर्तित करना है। उन्होंने कहा कि हम सभी को अफवाहों पर कोई भी व्यक्ति कदापि ध्यान न दें, बल्कि अपने-अपने घरों में रहें। अनावश्यक रूप से अपने घर से बाहर कदापि न निकलें।
जिलाधिकारी ने सामाजिक संगठनों से अपील की कि आप सब सहयोग के रूप में ड्राई राशन दें ज्यादा अच्छा होगा। उन्होंने बताया कि खाद्यान्न आपूर्ति का नोडल अधिकारी जिला पूर्ति अधिकारी को बनाया गया है, जिनका मो0 नं0- 9415183099 है, जिस पर आप सब सम्पर्क कर सम्बन्धित क्षेत्र में खाद्यान्न आपूर्ति कर सहयोग प्रदान कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि शेल्टर होम के साथ-साथ विभिन्न स्थानों पर कम्युनिटी किचन सेन्टर चलाये जा रहे हैं, जिसमें ताजा खाना जरूरतमंद लोगों दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि निर्धन एवं गरीब बस्तियों में जाकर सहयोग करें, तो नेक कार्य होगा। उन्होंने कहा कि निराश्रित गोवंशों के लिये भूषा, चारा की व्यवस्था कराया गया है। आप सब यह भी समाज में बतायें कि कुत्तों को भी लोग खाना खिलायें।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ0 सीबीएन त्रिपाठी ने बताया कि कोरोना वायरस का फैलाव हवा में नहीं होता है, यह थूकने, खांसनें व छींकने से फैलता है। इसमें साफ-सफाई, साबुन से हाथ धुलना, सेनेटाइजर आदि के बारे में अवगत कराया। उन्होंने बताया कि विदेश व अन्य राज्यों से जो लोग आये हैं, उनकों छिपाने की जरूरत नहीं है। विदेश से आने वाले लोगों को 28 दिन तक होम क्वारन्टाइन की जरूरत है, जो अपने देश के अन्य राज्यों से जनपद में आयें हैं, उनकों 14 दिन की होम क्वारन्टाइन करने की जरूरत है। इसी के साथ-साथ सतर्क एवं जागरूक रहने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की टीम पूरी तरह से मेडिकल चेकअप के लिये जनपद में कार्य कर रही है। उप जिलाधिकारी सदर रामजी लाल ने भी धर्मगुरूओं से अपील की कि मेन रोड के अलावा गलियों में युवा वर्ग घूमते रहते हैं। उन्हें आप लोग समझायें और लाॅक डाउन का अक्षरशः पालन कराने में सहयोग करें।
बैठक के पश्चात लायंस क्लब सुलतानपुर मिड टाउन के पदाधिकारी बलदेव सिंह, डाॅ0 राजीव श्रीवास्तव, डाॅ0 डी0एस0 मिश्र द्वारा 51 हजार रू0 प्रधानमंत्री राहत कोष में भेजने हेतु जिलाधिकारी को चेक भेंट किया।
इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी(प्रशा0) हर्ष देव पाण्डेय, अपर पुलिस अधीक्षक शिवराज, सीओ सिटी सतीश चन्द्र शुक्ला, सरदार बलदेव सिंह, मौलाना उष्मान, अमर बहादुर सिंह, पंचमुखी हनुमान गढ़ी के प्रबन्धक आशीष श्रीवास्तव, व्यापार मण्डल के मीडिया प्रभारी जुबैर अहमद, मौलाना मो0 कसीम, सहित सामाजिक संगठनों के पदाधिकारी तथा विभिन्न समुदाय के धर्मगुरू एवं नगर के सम्भ्रान्त नागरिक आदि उपस्थित रहे।

Read more

 


सुल्तानपुर---कोरोना वायरस (कोविड-19) महामारी से बचाव के लिए 21 दिन के चल रहे लॉकडाउन के बीच उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर जिले में क्वारैंटाइन किए गए 25 लोग मंगलवार रात सेंटर से फरार हो गए। ये सभी गैर राज्यों से पलायन कर लौटे थे। पुलिस करीब 14 घंटे के भीतर सभी लोगों को पकड़ लिया है। पुलिस ने इन सभी मुकदमा दर्ज करने की कार्रवाई शुरू कर दी है। साथ ही अब कोई फरार न होने पाए, इसके लिए पुलिस की मुस्तैदी बढ़ा दी गई है।
डीएम सी. इन्दुमती ने बताया कि, केएनआईटी परिसर फरीदीपुर में दूसरे राज्यों व जनपदों से आए 115 व्यक्तियों को मेडिकल जांच कराने के पश्चात सतर्कता की दृष्टि से गोसाईगंज थाना क्षेत्र के फरीदीपुर स्थित केएनआईटी परिसर में क्वारैंटाइन किया गया था। मंगलवार की रात में लगभग 10 से 11 बजे के मध्य 25 व्यक्ति शेल्टर होम के पीछे के रास्ते से प्रथम तल से चादर एवं गमछे के सहारे रस्सी बनाकर फरार हो गए थे।
एसपी शिवहरि मीणा के निर्देशन में लगी पुलिस टीम ने 14 घंटे के अन्दर सभी भागे हुए 25 व्यक्तियों को पकड़कर उन्हें पुनः शेल्टर होम में वापस क्वारैंटाइन कर दिया है। पुलिस के अनुसार सभी के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है।
डीएम ने सभी यात्रियों की निगरानी के निर्देश दिए हैं। उन्होंने सभी को क्वारैंटाइन के महत्व के विषय में बताया और कहा कि यहां पर आप लोगों को खाने-पीने, रहने आदि की व्यवस्था जिला प्रशासन द्वारा दी जा रही है। लोगों के यहां आने पर प्रथम बार मेडिकल चेकअप कराया गया है। अब फिर से मेडिकल चेकअप कराने के बाद प्राउड टू प्रोटेक्ट सुलतानपुर (घर पर रहें, स्वस्थ्य रहें) नामक मुहर बाएं हाथ के हथेली की ऊपरी हिस्से में लगायी जाएगी। इसके पश्चात सबको घर भेजा जाएगा, जिससे यह सुनिश्चित हो सके कि आप लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया जा चुका है और आप स्वस्थ्य हैं। उन्होंने कहा कि यदि कोई व्यक्ति यहां से अवैध तरीके से भागने का प्रयास करेगा, तो उसके विरूद्ध कानूनी कार्रवाई भी की जाएगी।

Read more

 

 


सिद्धार्थ नगर)सोमवार को भनवापुर ब्लाक संसाधन केंद्र पर सर्व शिक्षा अभियान के तहत अब तक के सबसे बड़े बजट वाली ट्रेनिंग व शासन की अति महत्वाकांक्षी योजना निष्ठा प्रशिंक्षण के चौथे पारी में सभी प्रशिक्षु शिक्षक उपस्थित रहे मगर आवयौस्थाओं के बीच अधिकारियों के खानापूर्ति के साथ ही सम्पन्न हो गया है। तथा अंतिम पारी के शिक्षकों का निष्ठा प्रशिंक्षण कोरोना वायरस के कारण अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया है। वहीं पहले की तरह प्रशिक्षंण में चाय पानी व भोजन की व्यवस्था पर ठेकेदार की मनमानी भारी रही। पहली पारी में जहां आठ शिक्षक नदारद रहे तो वहीं दूसरी व तीसरे पारी में केवल एक ही शिक्षक प्रशिक्षण से अनुपस्थित रहे।
प्राथमिक विद्यालयों में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा व शैक्षिक संवर्धन के लिए अध्यापकों को पांच दिवसीय प्रशिक्षण दिया जा रहा है निष्ठा नाम से संचालित यह प्रशिक्षण प्रत्येक अध्यापक व शिक्षामित्र को 22 फरवरी से दिया जा रहा है। चलने वाले प्रशिक्षण के तीसरे पारी में भनवापुर के 150 अध्यापकों के जगह 149 को प्रशिक्षित कर प्रमाण पत्र दिया गया था तो वहीं चौथे पारी में 150 के जगह 150 शिक्षकों ने प्रशिक्षण लिया जिन्हे प्रमाणपत्र दिया गया। इस प्रशिक्षण के लिए शासन में अब तक का सबसे बड़ा बजट जारी किया है। बावजूद इसके भी प्रशिक्षण की व्यवस्था चौथी पारी में भी बदइंतजामी की शिकार के बीच खाना पूर्ति हो गई। तथा अंतिम दिन प्राथमिक शिक्षक संघ के ब्लॉक अध्यक्ष श्री राम प्रकाश मिश्रा ने 150 प्रशिक्षु शिक्षकों को प्रमाण पत्र दिया। इस दौरान हिमांशु द्विवेदी,राम प्रशिक्षण में के0आर0पी0 रामप्रकाश मिश्र, हिमांशु द्विवेदी, दुर्गेश कुमार मिश्र,किरन, उमाकांत गुप्ता, आशीष सिंह, राम बरन जायसवाल एस0आर0पी0 शिव कुमार राय अखिलेश्वर मिश्र, विजय कुमार श्रीवास्तव, अजय गौतम तथा प्रशिक्षु पिंगल प्रसाद मिश्र, अंजलि गुप्ता। रीना श्रीवास्तव, कमलेश कुमारी, रवि सिंह, अश्वनी कुमार, नीलम, वंदना श्रीवास्तव, शशिबाला सिंह, तनुजा, नीलम पांडेय, आदि मौजूद रहे।

Read more

 

 

सुल्तानपुर---चार पहिया वाहन से खोया लेकर जा रहे चालक को खाद महकमे ने रोक लिया ।मौके पर सैंपल भरा जा रहा है ।गाड़ी में तकरीबन 40 किलो का खोया लदा हुआ है ।बताते चलें कि नई नियमावली के तहत अब मिठाई पर उसकी मैन्युफैक्चरिंग डेट डाली जाएगी लेकिन खोवा कब का है ? इसका जिक्र नहीं होगा।इसलिए शहरवासी सेहत को लेकर होशियार रहें और एहतियात बरतें ।मिठाई निर्माण में सर्वाधिक इस्तेमाल खोए का होता है ।पता चला है कानपुर से कई कुंटल खोया यहां की नामचीन दुकानों पर भेज दिया जाता है। कानपुर में लोड करने के बाद बसअड्डे से युवक गायब हो जाता है और यहां पर बस अड्डे पर कुली द्वारा खोया उतार लिया जाता है ।गड़बड़ झाले की अगले अंक में प्रकाशित किया जाएगा जिसके तार अवैध शराब से भी जुड़े हुए हैं।

Read more

 

 

जनपद बदायूं के डीएम कुमार प्रशातं ने दिये दिशा निर्देष।
चीन समेत केई देशों में हाहाकार मचा चुके कोरोना वायरस की आहट अव हिन्दुस्तान मे भी सुनाई देने लगी है।वही डीएम कुमार प्रशांत ने मीडिया वार्ता मे कोरोना वायरस से पीडितो के द्बटिगत अस्पतालो की तैयारी के बारे मे बताया और नगर पालिका आघिकारियो को दिये निर्देष
डीएम कुमार प्रशांत ने बताया कि हमने जिला अस्पताल में एक आसुलोशन वार्ड, एक कट्रोल रूम स्थापित किया है इसके अलावा मेडीकल कालेज मे भी छः बेड और एक आशुलोसन वार्ड तैयार किया है वही मेडीकल कालेज के प्रिसिंपल से वात करके पेरामेडीकल स्टाफ व डाक्टर की व्यवस्था कर ली गयी है वही जिलाधिकारी ने बताया कि एक एडवांस लाइफ सपोर्ट सिस्टम की एक एबुलेंस भी नियुक्त की है।जो कोरोना से पीडित को लाने लेजाने का काम करेगी कही नगर पचायंत व नगर पालिका को आदेश दिए है कि मांस की दुकानो पर साफ सफाई का बिशेष ख्याल रखा जाये वही डीएम कुमार प्रशांत ने सार्वजनिक सभाओ पर भी रोक लगा दी है।
जिलाधिकारी कुमार प्रशांत ने खराब मौसम के चलते कल दिनांक 7 मार्च शनिवार को कक्षा 8 तक सभी विद्यालयो मे अवकाश का आदेश दिया।

Read more

 

 

सेमरियावां (संतकबीरनगर)। शासन के लाख कोशिशों के बावजूद भी ग्रामीण इलाकों में चिकित्सकीय व्यवस्था पटरी पर आती नहीं दिख रही है। अस्पतालों पर पर्याप्त दवा तो है, पर चिकित्सक नहीं रहते हैं चिकित्सक मनमाना ड्यूटी कर रहे हैं। सब कुछ जानते हुए भी उच्चाधिकारी मौन हैं, जिसका खामियाजा मरीजों को भुगतना पढ़ रहा है। प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र दानूकुईयां पर तैनात चिकित्सको की लापरवाही इस कदर हैं कि उन्हें अस्पताल पर आने वाले मरीजों की परेशानियां से कोई मतलब नहीं हैं और न ही अपने ड्यूटी के प्रति सजगता उनकी लेट लतीफी के चक्कर में क्षेत्र की जनता उनका इंतजार कर थक हार कर मजबूरन प्राईवेट क्लीनिक पर जाने को विवश हैं। शुक्रवार को पीएचसी दानूकुईयां पर इलाज कराने आये राम अनुज ,जानकी देवी ,फरहाना खातून निवासी परसा जब्ती व अतीकुर्रहमान निवासी रोहनिया जुकाम बुखार आदि से सम्बंधित दर्जनों मरीजों इलाज करने आये थे तो वहीं बासखोर निवासी गर्भवती महिला आरती देवी अपनी जांच करवाने आयी थी लेकिन प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर तैनात चिकित्सको की लेट लतीफी के कारण प्राईवेट डाक्टरों की शरण में जाने को विवश होना पड़ा। बताते चले कि पीएचसी दानूकुईयां पर आयुष महिला चिकित्सक डा.नाजिम कौसर, फार्मसिस्ट अरुण कुमार, एलए अश्विनी कुमार, वार्ड आया रेनू, (संविदा) स्टाफ नर्स मुकेश मीनी व स्वीपर मनोज की तैनाती हैं चार बेड वाले इस अस्पताल में लगभग 60-70 मरीज रोजाना आते हैं। शुक्रवार को लगभग 10.45 बजें तक चिकित्सको की कुर्सियां खाली रही और मरीज बाहर इनके आने का इंतेजार करते देखे गये। स्थानीय निवासी शकील अहमद चैधरी, अब्दुल मतीन, जैनुल्लाह, रिजवान अहमद, वसीउल्लाह, अब्दुल कवी, अमेरुददीन, अब्दुर रहमान, किसोर बडही, नन्दालाल, बनशी विशकर्मा, जिननान, तुफेल अहमद, जुबैर आदि दर्जनों लोगों ने बताया कि अस्पताल का कायाकल्प और महिला चिकित्सक की तैनाती होने के बाद उम्मीद जगी कि लोगो को बेहतर इलाज मिलेगा लेकिन डाक्टर कभी भी समय से नहीं आते जिसकी वजह से गर्भवती महिलाएं व प्राथमिक उपचार के लिए आने वाले मरीजो को निराश होकर प्राईवेट डाक्टर के पास जाना पड़ता हैं। इस सम्बंध में सीएचसी अधीक्षक डा.जगदीश पटेल ने बताया कि वहां तैनात सभी स्वास्थ्य कर्मियों को निर्धारित समय पर आने के लिए कहा गया मै स्वतः पीएचसी का निरीक्षण करने जाऊंगा अगर इस तरह की शिकायत मिलती हैं तो सम्बंधित के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

Read more