बिग ब्रेकिंग-बशारतपुर में अज्ञात बाइक सवारों ने माँ बेटी को मारी गोली,माँ की मौत_विभवपाठक     जिगिना ससुराल जा रहे युवक की दुर्घटना में दर्दनाक मौत_रिपोर्ट-घनश्याम तिवारी     सड़क हादसे में महिला की मौत,शव सड़क पर रख मार्ग जाम_संतोष श्रीवास्तव की रिपोर्ट     अपराधियों के हौसले इतने बढे कि एसडीएम को ही दे दी जान से मारने की धमकी_धनीरामखंडेलवाल     गाजीपुर: ग्राम प्रधान पर दिनदहाड़े गोली चलाने के दो दिन बाद समर्थक पर भी प्राणघातक हमला     चित्रकूट- पुलिस मुठभेड़ में डकैत गिरफ्तार_रिपोर्ट--बसंत द्विवेदी      अज्ञात बदमाशों ने मारी युवक को गोली,अस्पताल पहुंचने से पहले हुई मौत_रिपोर्ट_अज़हरअब्बास     अमेठी-फायरिंग में एक की मौत,दो घायल_रिपोर्ट-शिवकेशशुक्ल     बिग ब्रेकिंग कानपुर-खूंखार विकास दुबे_बना 8 पुलिसकर्मियों की मौत का जिम्मेदार_रिपोर्ट-वीरेंद्रस          रामपुर-राशन वितरण के दौरान हुई मारपीट_रिपोर्ट-फुरकान अंसारी     विवाद मे चली गोली प्रधानपति की मौत व प्रधानपति का भाई लखनऊ रेफर_रिपोर्ट_अज़हर अब्बास     जिले मे कोरोना पॉजिटिव के 6 नए मामले आने से आंकड़ा पहुँचा 112_रिपोर्ट_अज़हर अब्बास     दुधारा-बेलहवा मार्ग पर हुआ दर्दनाक हादसा दो की मौत_रिपोर्ट:नूर आलम सिद्दीकी      गैंगस्टर का वांछित चढा हत्थे,जेल भेजने की तैयारी शुरू_रिपोर्ट_अज़हर अब्बास     
Advertisement
आवश्यकता है

गुनाहों से माफी की है आज की रात,घरों में करें इबादत,मुल्क में अमनचैन और बीमारी से निजात की मांगें द

 


आज की रात दुनिया के लिए बहुत बडी रात है ।जहां प्रतिवर्ष शबे बारात की रात मस्जिदों में इबादत की आवाजें आती रहती थी वहीं इसबार कोरोना वायरस COVID19 के कारण पूरी दुनिया के हर धर्म के इबादतगाह लगभग बंद हो गये हैं इसलिए घरों में इबादत करिए,पुरखों के मगफिरत और गुनाहों से माफी मांगने के साथ ही अल्लाहपाक की बारगाह में पूरी दुनिया में फैली इस बीमारी से निजात की भी दुआ करिए । इस्लामी कैलेंडर के हिसाब से आठवें महीने शाबान की 15 वीं तारीख को शब-ए-बरात के नाम से जाना जाता है। यह रात इबादत के साथ ही दिन में रोजा रखने की तरफ भी इशारा करता है। इस दिन रोजा रखकर इंसान इबादत और कुरआन की तिलावत में गुजार दें और जाने-अंजाने में किए गए गुनाहों का पश्चाताप करते हुए साफ दिल से तौबा करे तो उसके सब गुनाह माफ हो जाते हैं। इस रात में इंसान अपने एक साल के किए गए कार्यों का भी जायजा लेता है।
इस मुकद्दस दिन सूर्यास्त से सूर्योदय तक रहमतों की बारिश होती है। शब-ए-बरात को दिन में रोजा रखने व रात में इबादत करने वालों की हर गुनाह माफ कर दिए जाते हैं। यह रात को बुजुर्गी, रहमत और बरकत वाली रात है ।
इस रात में कब्रिस्तानों में जाकर दफन लोगों के लिए मुक्ति की दुआ भी की जाती है। एक हदीस में आता है कि शब-ए-बरात की रात नबी मुहम्मद साहब ने मदीने की कब्रिस्तान में जाकर पूर्वजों के लिए बक्शीश की दुआ मांगी थी। इस रात में खुदा फरमाता है कि है कोई बक्शीश मांगने वाला, है कोई रोजी मांगने वाला जिसको मैं रोजी दे सकूं।
क्या कोई मुसीबत जदा है, जिसको मैं मुसीबत से दूर कर दूं। जब बंदा अपने गुनाहों के लिए रोता है और आइन्दा गुनाह न करने की कसम खाता है। तब अल्लाहतआला उसके सब गुनाह माफ कर देते हैं। वहीं जो लोग इस रात को सो कर गुजार देते हैं और इबादत नहीं करते हैं। वह मगफिरत से महरूम हो जाते हैं।
शब-ए-बारात दो शब्दों, शब और बारात से मिलकर बना है।
शब का अर्थ है रात। वहीं बारात का अर्थ बरी होना होता है। मुसलमानों के लिए यह रात बहुत फजीलत की रात होती है। इस दिन विश्व के सारे मुसलमान अल्लाह की अबादत करते हैं। वे दुआएं मांगते हैं और अपने गुनाहों की तौबा करते हैं। रात में मनाए जाने वाले शब-ए-बरात के त्योहार पर कब्रिस्तानों में भीड़ का आलम रहता है। पिछले साल किए गए कर्मों का लेखा-जोखा तैयार करने और आने वाले साल की तकदीर तय करने वाली इस रात को शब-ए-बरात कहा जाता है। इस रात को पूरी तरह इबादत में गुजारने की परंपरा है। नमाज,तिलावत-ए-कुरआन,कब्रिस्तान की जियारत और हैसियत के मुताबिक खैरात करना इस रात के अहम काम हैं ।रात में मुस्लिम इलाकों में शब-ए-बरात की भरपूर रौनक रहती थी जो इसबार गायब रहेगी । इस्लामी मान्यता के मुताबिक शब-ए-बरात की सारी रात इबादत और तिलावत का दौर चलता है। साथ ही इस रात मुस्लिम धर्मावलंबी अपने उन परिजनों, जो दुनिया से रूखसत हो चुके हैं, की मगफिरत की दुआएं करने के लिए कब्रिस्तान भी जाते हैं।लेकिन इसबार कब्रिस्तान जाने के बजाए अपनों घरों पर ही इबादत कर अपने पुरखों की मगफिरत की दुआएं करें और बारगाहे-ईलाही में पूरी दुनिया के लिए दुआ करें कि अल्लाहपाक इस महामारी से पूरी दुनिया को बचाएं और अपनी हिफ्जो अमान में रखें ।बडी बरकत और मगफिरत की ये रात बहुत बडी है इसलिए खूब इबादत करिए ।

हाल के पोस्ट

एडमिशन के लिए सम्पर्क करें
S.R International Academy
#विज्ञापन