जनपद बदायूं के नगर कोतवाली क्षेत्र उझानी मे चल रहे वाछितं अपराधियो को गिरफ्तार कर जेल भेजा     

 



सेमरियावां (संतकबीरनगर)। रविवार को पिड़वा कानपारा सिवान में अचानक लगी आग से सैकड़ों बीगा फसल जलकर राख हो गयी मौके पर फायर ब्रिगेड को सूचना दी लेकिन दमकल की गाड़ी काफी लेट पहुंची ग्रामीणों द्वारा लगभग एक घंटे के किये गये अथक प्रयास से आग पर काबू पा लिया गया। लगभग 2.30 बजें गंगौली सिवान में अचानक लगी आग ने धीरे धीरे पिड़वा कानपारा सिवान में पहुंच गयी और आग लगने की सूचना ग्रामीणों ने फायर ब्रिगेड को दी लेकिन मौके पर सहायता के लिए दमकल की गाड़ी सबकुछ खत्म होने के बाद पहुंची। ग्रामीणों द्वारा लगभग एक घंटे की काफी मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया गया। इस दौरान आग ने तब तक लगभग 200 सौ बीघा फसलों को अपनी चपेट में ले लिया। इस दौरान करही निवासी शिवकुमार यादव 3 बीघा, हिदायत अली 2 बीघा, शुभातरी देवी 2.50 बीघा, पुरैना निवासी वलीउल्लाह 8 बीघा, नगहरा निवासी राम सुभाव 1.50 बीघा, पिड़वा निवासी कासिम 1 बीघा, हरिनाथ 3 बीघा, मो. इद्रीस 5 बीघा, हरिमुरत 6 बीघा, करही निवासी अजय कुमार 2 बीघा आदि  किसानों की फसलें जलकर राख हो गयी।

Read more

 

जिलाधिकारी रवीश कुमार गुप्ता और पुलिस अधीक्षक ब्रजेश सिंह ने रविवार को नाथनगर ब्लाक क्षेत्र में लॉक डाउन के अनुपालन का जायजा लिया। उन्होंने कवारेंटाइन सेंटरो का निरीक्षण करते हुए जिम्मेदारो को आवश्यक दिशा निर्देश भी दिया। जिलाधिकारी ने कहा कि क्वारेंटाइन सेंटरो में भर्ती किए गए परदेशियों को 14 दिन पूरा हो जाने पर जांच करके उन्हें घर पर भेज दिया जाय। वे घर पर रहकर लॉकडाउन का पालन करते रहेंगे।
उनके साथ एसआई राम प्रवेश यादव भी पुलिस फोर्स के साथ मौजूद रहे। जनपद में कोरोना वायरस के रोकथाम हेतु प्राथमिक स्कूल बने पर क्वांरनटाइन सेन्टरो व बाजारों का निरीक्षण किया गया।साथ ही ग्राम पंचायत अधिकारी व प्रधान से मिलकर ग्राउंड रिपोर्ट की जानकारी ली गई। डीएम और एसपी में कहा कि कोरोना वायरस की रोकथाम के सबसे उपयुक्त उपाय सोसल डिस्टेंस का पालन,साफ सफाई,मास्क का उपयोग है। उन्होंने कहा कि लॉक डाउन का पालन नही करने और वगैर जरूरत घर से बाहर निकलने वालो को चिन्हित करके कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन करने की अपील लोगो से की है। क्वारेंटाइन सेंटरो पर भर्ती लोगो से उन्होंने जानकारी प्राप्त की और उनकी समस्या से भी अवगत हुए। इस मौके पर एसआई राम प्रवेश यादव के अलावा ग्राम प्रधान महेश यादव, गणेश गौड़ आदि मौजूद रहे।

Read more

 


-कोरोना युद्धा बनकर निकले स्काउट, लाॅक डाउन में पीड़ितों की सेवा
-एफएसओ डाॅ. भूपेंद्र सिंह और शम्भू दयाल ने किया स्काउट भवन पर भोजनालय का निरीक्षण

बदायूं: स्काउट संस्था ने लाॅक डाउन में भूख से व्याकुल झुग्गी झोपड़ियों में रहने वाले मजदूरों को भोजन और पानी पहुंचाया। प्रशासनिक अधिकारियों ने स्काउट भवन पर भोजनालय का औचक निरीक्षण किया और सब कुछ ओके मिला। स्काउट के सेवा कार्यों की प्रशंसा की।
लाॅक डाउन में स्काउट्स कोरोना युद्धा बनकर लोगों की सेवा की। डीओसी सीमा यादव के नेतृत्व में गाइड आरती पाल और स्काउट विकास कुमार, सचिन कुमार सिंह, जयंत पटेल, सतीश यादव, राजीव बाबू आदि की विशेष टीम ने काशीराम आवास, मीरा सराय, नेकपुर और स्टेशन पर लाॅक डाउन में भूख से पीड़ितों लोगों को घर-घर जाकर भोजन पैकेट वितरित किया। स्काउट संस्था के जिलाध्यक्ष महेश चंद्र सक्सेना, जिला मुख्यायुक्त डाॅ. वीरपाल सिंह सोलंकी के मार्गदर्शन में भोजन वितरण किया जा रहा है।
पूर्व जिला ट्रेनिंग कमिश्नर संजीव कुमार शर्मा ने बताया कि लाॅक डाउन में पीड़ितों के लिए स्काउट भवन पर तैयार हो रहे भोजन और भोजनालय का एफएसओ डाॅ. भूपेंद्र सिंह और शम्भू दयाल ने निरीक्षण किया। मानक के अनुसार सब कुछ ओके मिलने पर स्काउट गाइड के सेवा कार्यों की प्रशंसा की।
इस सेवा कार्य में डीओसी मु. असरार, जिला सचिव आलोक पाठक, जिला उपसचिव नंदराम शाक्य, मनोहर लाल, सिम्मी नाजिर आदि सेवा कार्य कर रहे हैं।

Read more

 


आज की रात दुनिया के लिए बहुत बडी रात है ।जहां प्रतिवर्ष शबे बारात की रात मस्जिदों में इबादत की आवाजें आती रहती थी वहीं इसबार कोरोना वायरस COVID19 के कारण पूरी दुनिया के हर धर्म के इबादतगाह लगभग बंद हो गये हैं इसलिए घरों में इबादत करिए,पुरखों के मगफिरत और गुनाहों से माफी मांगने के साथ ही अल्लाहपाक की बारगाह में पूरी दुनिया में फैली इस बीमारी से निजात की भी दुआ करिए । इस्लामी कैलेंडर के हिसाब से आठवें महीने शाबान की 15 वीं तारीख को शब-ए-बरात के नाम से जाना जाता है। यह रात इबादत के साथ ही दिन में रोजा रखने की तरफ भी इशारा करता है। इस दिन रोजा रखकर इंसान इबादत और कुरआन की तिलावत में गुजार दें और जाने-अंजाने में किए गए गुनाहों का पश्चाताप करते हुए साफ दिल से तौबा करे तो उसके सब गुनाह माफ हो जाते हैं। इस रात में इंसान अपने एक साल के किए गए कार्यों का भी जायजा लेता है।
इस मुकद्दस दिन सूर्यास्त से सूर्योदय तक रहमतों की बारिश होती है। शब-ए-बरात को दिन में रोजा रखने व रात में इबादत करने वालों की हर गुनाह माफ कर दिए जाते हैं। यह रात को बुजुर्गी, रहमत और बरकत वाली रात है ।
इस रात में कब्रिस्तानों में जाकर दफन लोगों के लिए मुक्ति की दुआ भी की जाती है। एक हदीस में आता है कि शब-ए-बरात की रात नबी मुहम्मद साहब ने मदीने की कब्रिस्तान में जाकर पूर्वजों के लिए बक्शीश की दुआ मांगी थी। इस रात में खुदा फरमाता है कि है कोई बक्शीश मांगने वाला, है कोई रोजी मांगने वाला जिसको मैं रोजी दे सकूं।
क्या कोई मुसीबत जदा है, जिसको मैं मुसीबत से दूर कर दूं। जब बंदा अपने गुनाहों के लिए रोता है और आइन्दा गुनाह न करने की कसम खाता है। तब अल्लाहतआला उसके सब गुनाह माफ कर देते हैं। वहीं जो लोग इस रात को सो कर गुजार देते हैं और इबादत नहीं करते हैं। वह मगफिरत से महरूम हो जाते हैं।
शब-ए-बारात दो शब्दों, शब और बारात से मिलकर बना है।
शब का अर्थ है रात। वहीं बारात का अर्थ बरी होना होता है। मुसलमानों के लिए यह रात बहुत फजीलत की रात होती है। इस दिन विश्व के सारे मुसलमान अल्लाह की अबादत करते हैं। वे दुआएं मांगते हैं और अपने गुनाहों की तौबा करते हैं। रात में मनाए जाने वाले शब-ए-बरात के त्योहार पर कब्रिस्तानों में भीड़ का आलम रहता है। पिछले साल किए गए कर्मों का लेखा-जोखा तैयार करने और आने वाले साल की तकदीर तय करने वाली इस रात को शब-ए-बरात कहा जाता है। इस रात को पूरी तरह इबादत में गुजारने की परंपरा है। नमाज,तिलावत-ए-कुरआन,कब्रिस्तान की जियारत और हैसियत के मुताबिक खैरात करना इस रात के अहम काम हैं ।रात में मुस्लिम इलाकों में शब-ए-बरात की भरपूर रौनक रहती थी जो इसबार गायब रहेगी । इस्लामी मान्यता के मुताबिक शब-ए-बरात की सारी रात इबादत और तिलावत का दौर चलता है। साथ ही इस रात मुस्लिम धर्मावलंबी अपने उन परिजनों, जो दुनिया से रूखसत हो चुके हैं, की मगफिरत की दुआएं करने के लिए कब्रिस्तान भी जाते हैं।लेकिन इसबार कब्रिस्तान जाने के बजाए अपनों घरों पर ही इबादत कर अपने पुरखों की मगफिरत की दुआएं करें और बारगाहे-ईलाही में पूरी दुनिया के लिए दुआ करें कि अल्लाहपाक इस महामारी से पूरी दुनिया को बचाएं और अपनी हिफ्जो अमान में रखें ।बडी बरकत और मगफिरत की ये रात बहुत बडी है इसलिए खूब इबादत करिए ।

Read more

 

 

कोरोना महामारी के मद्देनजर मिले सरकारी निर्देशों का सभी पालन करें, लाकडाउन के दौरान बेबजह घरों से बाहर न निकलने की लोगो से अपील करते हुए इकराम नबी खान गर्ल्स डिग्रीकॉलेज के सह प्रबन्धक मखमूर नबी खान ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी की है।
प्रेस विज्ञप्ति के जरिये उन्होंने कहा कि कोरोना कोविड-19 संक्रमण से पूरे विश्व के साथ साथ हमारा देश भी जूझ रहा है ,इस आपदा की घड़ी में हम सभी देशवासियों का नैतिक दायित्व है कि इसके विरुद्ध लड़ाई में अपने स्तर पर हम सब भी योगदान दें और यह तभी संभव हो सकेगा जब हम इसके संक्रमण और उसके प्रभाव को देखते हुए सावधानी अपनाएं । केंद्र एवं प्रदेश सरकार के समय समय पर जारी दिशा-निर्देशों का शत-प्रतिशत पालन किया जाए, इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाए । मेरा सभी देशवासियों से आग्रह है कि लॉक डाउन को सफल बनाएं घर में रहकर सकारात्मक विचार बनाए रखें । मुख्यतः चिकित्सकों द्वारा दिए गए निर्देशों जैसे- बार-बार हाथ धोना, भीड़भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचना, आंख नाक मुंह को अनावश्यक ना छूना, अनावश्यक आवागमन से बचना, मास्क एवं सैनिटाइजर का प्रयोग करना आदि का पालन करते हुए हम सभी को एकजुटता से बचाव कार्य में अपनी जिम्मेदारी सुनिश्चित करनी होगी । किसी भी प्रकार की अप्रमाणित खबरों पर ध्यान ना दें एवं सोशल मीडिया पर अफवाहों से बचें । इस आपदा की घड़ी में धर्म जाति का भेदभाव मिटाकर एकजुट होकर एवं एक दूसरे के सहयोग से ही हम सब इस लड़ाई में विजय पा सकते हैं ।
सभी देशवासियों से अपील है कि सुरक्षा एवं सतर्कता को अमल में लाकर एक दूसरे को जागरूक करने की जिम्मेदारी निभाएं ।

Read more

 


_*अयोध्या :-*_ जिला मजिस्ट्रेट श्री अनुज कुमार झा ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान खाद्य पदार्थों की उचित मूल्य पर बिक्री करने हेतु खाद्यान्न फलों एवं सब्जियों कुल 36 पदार्थों के मूल्य जिला प्रशासन द्वारा निर्धारित कर दिया गया है। ताकि कालाबाजारी और मुनाफाखोरी को नियंत्रित किया जा सके। उन्होंने बताया कि फुटकर में गेहूं 22 से ₹24 आटा ₹27 से 29 दाल अरहर 90 से ₹100 छिलका देसी अरहर दाल ₹80 चना दाल 65 से ₹70 चना खड़ा 62 से ₹65 मूंग दाल 105 से ₹110 मसूर दाल 63 से ₹ 66 चावल का मन 25 से ₹28 चीनी ₹38 सरसों तेल 105 से ₹112 रिफाइंड आयल फार्च्यून ₹105 नेचर फ्रेश ₹100 डालडा ₹90 नमक सेंधा 38 से ₹40 मटर दाल 65 से ₹70 प्रति किलो निर्धारित किया गया है ।जबकि नमक ,पराग दूध पैकेट, माचिस व एलपीजी गैस एमआरपी या कंपनी द्वारा निर्धारित मूल्य पर बिक्री की जाएगी। फल एवं सब्जियों में आलू 26 से ₹28 प्याज 28 से ₹30 लहसुन 80 से 85 टमाटर 25 से ₹28 ,हरा मिर्च 40 से ₹45 ,गोभी 20 से ₹22 बैगन 20 से ₹22 लोकी 23 से ₹25 कद्दू 20 से 22 रुपये करेला 30 से ₹32 अदरक 55 से ₹60 नींबू 45 से ₹50 नारंगी 40 से ₹42 प्रति किलो, केला ₹50 प्रति दर्जन अनार 65 से ₹70 पपीता 43 से ₹50 सेब 100 से 110 अंगूर 75 से ₹80 प्रति किलो निर्धारित किया गया है उन्होंने आगे बताया कि यदि कोई विक्रेता या दुकानदार अधिक दर पर बिक्री करते हुए पाया जाएगा तो उसके खिलाफ आवश्यक वस्तु अधिनियम, डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट,व भारतीय दंड संहिता के अंतर्गत सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Read more

संजीव सक्सेना रिपोर्ट
सत्यमेव जयते
बदायूं

क्षेत्राधिकारी उझानी बदायूँ के नेतृत्व मे चलाये जा रहे अभियान वांछित अपराधियों की गिरफ्तारी अभियान तथा चैकिंग संदिग्ध व्यक्ति/ वाहन हेतु उझानी प्रभारी निरीक्षक विनोद कुमार चाहर द्वारा बनायी गयी टीम - उ0नि0 श्री संजय सिंह  आयुष कुमार द्वारा दि. 13.03.2020 को समय 10.30 बजे   पाक्सो एक्ट में वांछित चल रहे अभियुक्त छोटू उर्फ शरद पुत्र संजीव नि0 मौ0 बहादुरगंज कस्वा व थाना उझानी जिला बदायूँ  को मानकपुर पुलिया के पास बन्द पड़ी रिलायंस पैट्रोल के सामने से गिरफ्तार कर जेल भेजा गया। अभियुक्त उपरोक्त नाबालिक लड़के के साथ बुरा काम करने के लिए उसे  विद्या मंदिर स्कूल मोहल्ला बहादुरगंज में  ले गया था  जहां पर  अभियुक्त द्वारा नाबालिक लड़के के साथ बुरा काम करने का प्रयास किया गया लेकिन लड़का किसी तरह वहां से भाग आया था ।

Read more

संतकबीरनगर जिले के सदर कोतवाली खलीलाबाद में तैनात हेड कांस्टेबल राघवेंद्र जल्द ही भोजपुरी फिल्म गोरखपुरिया रंगबाज में नजर आएंगे। रियल लाइफ में...

संतकबीरनगर जिले के सदर कोतवाली खलीलाबाद में तैनात हेड कांस्टेबल राघवेंद्र जल्द ही भोजपुरी फिल्म गोरखपुरिया रंगबाज में नजर आएंगे। रियल लाइफ में खाकीधारी राघवेंद्र को रील लाइफ में भी पुलिस वाले का रोल मिला है। राघवेंद्र सिंघम जैसे किरदार में इंस्पेक्टर अर्जुन पंडित के भूमिका में पब्लिक का मनोरंजन करेंगे।

राघवेंद्र पांडेय की यह फिल्म उनकी डेब्यू फिल्म होगी निर्माता एच खान, निर्देशक एमआई राज और लेखक शकील नियाजी द्वारा बन रही भोजपुरी फिल्म गोरखपुरिया रंगबाज में हेड कांस्टेबल राघवेंद्र पांडेय को एक इमानदार इंस्पेक्टर की भूमिका मिली है। दरअसल, फिल्म की ये कहानी अस्सी के दशक में गैंगवार और वर्चस्व को लेकर चर्चित रहे गोरखपुर जिले की पटकथा पर बन रही है। असल जिंदगी में खाकी पहनकर अपनी ड्यूटी निभाने वाले राघवेंद्र मूलतः महराजगंज जिले के ग्राम रुदरौली थाना निचलौल के रहने वाले हैं बचपन से ही अभिनय का शौक रखने वाले राघवेंद्र स्कूल और कॉलेज की पढ़ाई के दौरान ही कई स्टेज पर जोरदार परफॉर्मेंस दे चुके हैं।

Read more

 



सेमरियावां (संतकबीरनगर)। रविवार को पिड़वा कानपारा सिवान में अचानक लगी आग से सैकड़ों बीगा फसल जलकर राख हो गयी मौके पर फायर ब्रिगेड को सूचना दी लेकिन दमकल की गाड़ी काफी लेट पहुंची ग्रामीणों द्वारा लगभग एक घंटे के किये गये अथक प्रयास से आग पर काबू पा लिया गया। लगभग 2.30 बजें गंगौली सिवान में अचानक लगी आग ने धीरे धीरे पिड़वा कानपारा सिवान में पहुंच गयी और आग लगने की सूचना ग्रामीणों ने फायर ब्रिगेड को दी लेकिन मौके पर सहायता के लिए दमकल की गाड़ी सबकुछ खत्म होने के बाद पहुंची। ग्रामीणों द्वारा लगभग एक घंटे की काफी मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया गया। इस दौरान आग ने तब तक लगभग 200 सौ बीघा फसलों को अपनी चपेट में ले लिया। इस दौरान करही निवासी शिवकुमार यादव 3 बीघा, हिदायत अली 2 बीघा, शुभातरी देवी 2.50 बीघा, पुरैना निवासी वलीउल्लाह 8 बीघा, नगहरा निवासी राम सुभाव 1.50 बीघा, पिड़वा निवासी कासिम 1 बीघा, हरिनाथ 3 बीघा, मो. इद्रीस 5 बीघा, हरिमुरत 6 बीघा, करही निवासी अजय कुमार 2 बीघा आदि  किसानों की फसलें जलकर राख हो गयी।

Read more

 

जिलाधिकारी रवीश कुमार गुप्ता और पुलिस अधीक्षक ब्रजेश सिंह ने रविवार को नाथनगर ब्लाक क्षेत्र में लॉक डाउन के अनुपालन का जायजा लिया। उन्होंने कवारेंटाइन सेंटरो का निरीक्षण करते हुए जिम्मेदारो को आवश्यक दिशा निर्देश भी दिया। जिलाधिकारी ने कहा कि क्वारेंटाइन सेंटरो में भर्ती किए गए परदेशियों को 14 दिन पूरा हो जाने पर जांच करके उन्हें घर पर भेज दिया जाय। वे घर पर रहकर लॉकडाउन का पालन करते रहेंगे।
उनके साथ एसआई राम प्रवेश यादव भी पुलिस फोर्स के साथ मौजूद रहे। जनपद में कोरोना वायरस के रोकथाम हेतु प्राथमिक स्कूल बने पर क्वांरनटाइन सेन्टरो व बाजारों का निरीक्षण किया गया।साथ ही ग्राम पंचायत अधिकारी व प्रधान से मिलकर ग्राउंड रिपोर्ट की जानकारी ली गई। डीएम और एसपी में कहा कि कोरोना वायरस की रोकथाम के सबसे उपयुक्त उपाय सोसल डिस्टेंस का पालन,साफ सफाई,मास्क का उपयोग है। उन्होंने कहा कि लॉक डाउन का पालन नही करने और वगैर जरूरत घर से बाहर निकलने वालो को चिन्हित करके कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन करने की अपील लोगो से की है। क्वारेंटाइन सेंटरो पर भर्ती लोगो से उन्होंने जानकारी प्राप्त की और उनकी समस्या से भी अवगत हुए। इस मौके पर एसआई राम प्रवेश यादव के अलावा ग्राम प्रधान महेश यादव, गणेश गौड़ आदि मौजूद रहे।

Read more

 


-कोरोना युद्धा बनकर निकले स्काउट, लाॅक डाउन में पीड़ितों की सेवा
-एफएसओ डाॅ. भूपेंद्र सिंह और शम्भू दयाल ने किया स्काउट भवन पर भोजनालय का निरीक्षण

बदायूं: स्काउट संस्था ने लाॅक डाउन में भूख से व्याकुल झुग्गी झोपड़ियों में रहने वाले मजदूरों को भोजन और पानी पहुंचाया। प्रशासनिक अधिकारियों ने स्काउट भवन पर भोजनालय का औचक निरीक्षण किया और सब कुछ ओके मिला। स्काउट के सेवा कार्यों की प्रशंसा की।
लाॅक डाउन में स्काउट्स कोरोना युद्धा बनकर लोगों की सेवा की। डीओसी सीमा यादव के नेतृत्व में गाइड आरती पाल और स्काउट विकास कुमार, सचिन कुमार सिंह, जयंत पटेल, सतीश यादव, राजीव बाबू आदि की विशेष टीम ने काशीराम आवास, मीरा सराय, नेकपुर और स्टेशन पर लाॅक डाउन में भूख से पीड़ितों लोगों को घर-घर जाकर भोजन पैकेट वितरित किया। स्काउट संस्था के जिलाध्यक्ष महेश चंद्र सक्सेना, जिला मुख्यायुक्त डाॅ. वीरपाल सिंह सोलंकी के मार्गदर्शन में भोजन वितरण किया जा रहा है।
पूर्व जिला ट्रेनिंग कमिश्नर संजीव कुमार शर्मा ने बताया कि लाॅक डाउन में पीड़ितों के लिए स्काउट भवन पर तैयार हो रहे भोजन और भोजनालय का एफएसओ डाॅ. भूपेंद्र सिंह और शम्भू दयाल ने निरीक्षण किया। मानक के अनुसार सब कुछ ओके मिलने पर स्काउट गाइड के सेवा कार्यों की प्रशंसा की।
इस सेवा कार्य में डीओसी मु. असरार, जिला सचिव आलोक पाठक, जिला उपसचिव नंदराम शाक्य, मनोहर लाल, सिम्मी नाजिर आदि सेवा कार्य कर रहे हैं।

Read more

 


आज की रात दुनिया के लिए बहुत बडी रात है ।जहां प्रतिवर्ष शबे बारात की रात मस्जिदों में इबादत की आवाजें आती रहती थी वहीं इसबार कोरोना वायरस COVID19 के कारण पूरी दुनिया के हर धर्म के इबादतगाह लगभग बंद हो गये हैं इसलिए घरों में इबादत करिए,पुरखों के मगफिरत और गुनाहों से माफी मांगने के साथ ही अल्लाहपाक की बारगाह में पूरी दुनिया में फैली इस बीमारी से निजात की भी दुआ करिए । इस्लामी कैलेंडर के हिसाब से आठवें महीने शाबान की 15 वीं तारीख को शब-ए-बरात के नाम से जाना जाता है। यह रात इबादत के साथ ही दिन में रोजा रखने की तरफ भी इशारा करता है। इस दिन रोजा रखकर इंसान इबादत और कुरआन की तिलावत में गुजार दें और जाने-अंजाने में किए गए गुनाहों का पश्चाताप करते हुए साफ दिल से तौबा करे तो उसके सब गुनाह माफ हो जाते हैं। इस रात में इंसान अपने एक साल के किए गए कार्यों का भी जायजा लेता है।
इस मुकद्दस दिन सूर्यास्त से सूर्योदय तक रहमतों की बारिश होती है। शब-ए-बरात को दिन में रोजा रखने व रात में इबादत करने वालों की हर गुनाह माफ कर दिए जाते हैं। यह रात को बुजुर्गी, रहमत और बरकत वाली रात है ।
इस रात में कब्रिस्तानों में जाकर दफन लोगों के लिए मुक्ति की दुआ भी की जाती है। एक हदीस में आता है कि शब-ए-बरात की रात नबी मुहम्मद साहब ने मदीने की कब्रिस्तान में जाकर पूर्वजों के लिए बक्शीश की दुआ मांगी थी। इस रात में खुदा फरमाता है कि है कोई बक्शीश मांगने वाला, है कोई रोजी मांगने वाला जिसको मैं रोजी दे सकूं।
क्या कोई मुसीबत जदा है, जिसको मैं मुसीबत से दूर कर दूं। जब बंदा अपने गुनाहों के लिए रोता है और आइन्दा गुनाह न करने की कसम खाता है। तब अल्लाहतआला उसके सब गुनाह माफ कर देते हैं। वहीं जो लोग इस रात को सो कर गुजार देते हैं और इबादत नहीं करते हैं। वह मगफिरत से महरूम हो जाते हैं।
शब-ए-बारात दो शब्दों, शब और बारात से मिलकर बना है।
शब का अर्थ है रात। वहीं बारात का अर्थ बरी होना होता है। मुसलमानों के लिए यह रात बहुत फजीलत की रात होती है। इस दिन विश्व के सारे मुसलमान अल्लाह की अबादत करते हैं। वे दुआएं मांगते हैं और अपने गुनाहों की तौबा करते हैं। रात में मनाए जाने वाले शब-ए-बरात के त्योहार पर कब्रिस्तानों में भीड़ का आलम रहता है। पिछले साल किए गए कर्मों का लेखा-जोखा तैयार करने और आने वाले साल की तकदीर तय करने वाली इस रात को शब-ए-बरात कहा जाता है। इस रात को पूरी तरह इबादत में गुजारने की परंपरा है। नमाज,तिलावत-ए-कुरआन,कब्रिस्तान की जियारत और हैसियत के मुताबिक खैरात करना इस रात के अहम काम हैं ।रात में मुस्लिम इलाकों में शब-ए-बरात की भरपूर रौनक रहती थी जो इसबार गायब रहेगी । इस्लामी मान्यता के मुताबिक शब-ए-बरात की सारी रात इबादत और तिलावत का दौर चलता है। साथ ही इस रात मुस्लिम धर्मावलंबी अपने उन परिजनों, जो दुनिया से रूखसत हो चुके हैं, की मगफिरत की दुआएं करने के लिए कब्रिस्तान भी जाते हैं।लेकिन इसबार कब्रिस्तान जाने के बजाए अपनों घरों पर ही इबादत कर अपने पुरखों की मगफिरत की दुआएं करें और बारगाहे-ईलाही में पूरी दुनिया के लिए दुआ करें कि अल्लाहपाक इस महामारी से पूरी दुनिया को बचाएं और अपनी हिफ्जो अमान में रखें ।बडी बरकत और मगफिरत की ये रात बहुत बडी है इसलिए खूब इबादत करिए ।

Read more

 

 

कोरोना महामारी के मद्देनजर मिले सरकारी निर्देशों का सभी पालन करें, लाकडाउन के दौरान बेबजह घरों से बाहर न निकलने की लोगो से अपील करते हुए इकराम नबी खान गर्ल्स डिग्रीकॉलेज के सह प्रबन्धक मखमूर नबी खान ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी की है।
प्रेस विज्ञप्ति के जरिये उन्होंने कहा कि कोरोना कोविड-19 संक्रमण से पूरे विश्व के साथ साथ हमारा देश भी जूझ रहा है ,इस आपदा की घड़ी में हम सभी देशवासियों का नैतिक दायित्व है कि इसके विरुद्ध लड़ाई में अपने स्तर पर हम सब भी योगदान दें और यह तभी संभव हो सकेगा जब हम इसके संक्रमण और उसके प्रभाव को देखते हुए सावधानी अपनाएं । केंद्र एवं प्रदेश सरकार के समय समय पर जारी दिशा-निर्देशों का शत-प्रतिशत पालन किया जाए, इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाए । मेरा सभी देशवासियों से आग्रह है कि लॉक डाउन को सफल बनाएं घर में रहकर सकारात्मक विचार बनाए रखें । मुख्यतः चिकित्सकों द्वारा दिए गए निर्देशों जैसे- बार-बार हाथ धोना, भीड़भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचना, आंख नाक मुंह को अनावश्यक ना छूना, अनावश्यक आवागमन से बचना, मास्क एवं सैनिटाइजर का प्रयोग करना आदि का पालन करते हुए हम सभी को एकजुटता से बचाव कार्य में अपनी जिम्मेदारी सुनिश्चित करनी होगी । किसी भी प्रकार की अप्रमाणित खबरों पर ध्यान ना दें एवं सोशल मीडिया पर अफवाहों से बचें । इस आपदा की घड़ी में धर्म जाति का भेदभाव मिटाकर एकजुट होकर एवं एक दूसरे के सहयोग से ही हम सब इस लड़ाई में विजय पा सकते हैं ।
सभी देशवासियों से अपील है कि सुरक्षा एवं सतर्कता को अमल में लाकर एक दूसरे को जागरूक करने की जिम्मेदारी निभाएं ।

Read more

 


_*अयोध्या :-*_ जिला मजिस्ट्रेट श्री अनुज कुमार झा ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान खाद्य पदार्थों की उचित मूल्य पर बिक्री करने हेतु खाद्यान्न फलों एवं सब्जियों कुल 36 पदार्थों के मूल्य जिला प्रशासन द्वारा निर्धारित कर दिया गया है। ताकि कालाबाजारी और मुनाफाखोरी को नियंत्रित किया जा सके। उन्होंने बताया कि फुटकर में गेहूं 22 से ₹24 आटा ₹27 से 29 दाल अरहर 90 से ₹100 छिलका देसी अरहर दाल ₹80 चना दाल 65 से ₹70 चना खड़ा 62 से ₹65 मूंग दाल 105 से ₹110 मसूर दाल 63 से ₹ 66 चावल का मन 25 से ₹28 चीनी ₹38 सरसों तेल 105 से ₹112 रिफाइंड आयल फार्च्यून ₹105 नेचर फ्रेश ₹100 डालडा ₹90 नमक सेंधा 38 से ₹40 मटर दाल 65 से ₹70 प्रति किलो निर्धारित किया गया है ।जबकि नमक ,पराग दूध पैकेट, माचिस व एलपीजी गैस एमआरपी या कंपनी द्वारा निर्धारित मूल्य पर बिक्री की जाएगी। फल एवं सब्जियों में आलू 26 से ₹28 प्याज 28 से ₹30 लहसुन 80 से 85 टमाटर 25 से ₹28 ,हरा मिर्च 40 से ₹45 ,गोभी 20 से ₹22 बैगन 20 से ₹22 लोकी 23 से ₹25 कद्दू 20 से 22 रुपये करेला 30 से ₹32 अदरक 55 से ₹60 नींबू 45 से ₹50 नारंगी 40 से ₹42 प्रति किलो, केला ₹50 प्रति दर्जन अनार 65 से ₹70 पपीता 43 से ₹50 सेब 100 से 110 अंगूर 75 से ₹80 प्रति किलो निर्धारित किया गया है उन्होंने आगे बताया कि यदि कोई विक्रेता या दुकानदार अधिक दर पर बिक्री करते हुए पाया जाएगा तो उसके खिलाफ आवश्यक वस्तु अधिनियम, डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट,व भारतीय दंड संहिता के अंतर्गत सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Read more

संजीव सक्सेना रिपोर्ट
सत्यमेव जयते
बदायूं

क्षेत्राधिकारी उझानी बदायूँ के नेतृत्व मे चलाये जा रहे अभियान वांछित अपराधियों की गिरफ्तारी अभियान तथा चैकिंग संदिग्ध व्यक्ति/ वाहन हेतु उझानी प्रभारी निरीक्षक विनोद कुमार चाहर द्वारा बनायी गयी टीम - उ0नि0 श्री संजय सिंह  आयुष कुमार द्वारा दि. 13.03.2020 को समय 10.30 बजे   पाक्सो एक्ट में वांछित चल रहे अभियुक्त छोटू उर्फ शरद पुत्र संजीव नि0 मौ0 बहादुरगंज कस्वा व थाना उझानी जिला बदायूँ  को मानकपुर पुलिया के पास बन्द पड़ी रिलायंस पैट्रोल के सामने से गिरफ्तार कर जेल भेजा गया। अभियुक्त उपरोक्त नाबालिक लड़के के साथ बुरा काम करने के लिए उसे  विद्या मंदिर स्कूल मोहल्ला बहादुरगंज में  ले गया था  जहां पर  अभियुक्त द्वारा नाबालिक लड़के के साथ बुरा काम करने का प्रयास किया गया लेकिन लड़का किसी तरह वहां से भाग आया था ।

Read more

संतकबीरनगर जिले के सदर कोतवाली खलीलाबाद में तैनात हेड कांस्टेबल राघवेंद्र जल्द ही भोजपुरी फिल्म गोरखपुरिया रंगबाज में नजर आएंगे। रियल लाइफ में...

संतकबीरनगर जिले के सदर कोतवाली खलीलाबाद में तैनात हेड कांस्टेबल राघवेंद्र जल्द ही भोजपुरी फिल्म गोरखपुरिया रंगबाज में नजर आएंगे। रियल लाइफ में खाकीधारी राघवेंद्र को रील लाइफ में भी पुलिस वाले का रोल मिला है। राघवेंद्र सिंघम जैसे किरदार में इंस्पेक्टर अर्जुन पंडित के भूमिका में पब्लिक का मनोरंजन करेंगे।

राघवेंद्र पांडेय की यह फिल्म उनकी डेब्यू फिल्म होगी निर्माता एच खान, निर्देशक एमआई राज और लेखक शकील नियाजी द्वारा बन रही भोजपुरी फिल्म गोरखपुरिया रंगबाज में हेड कांस्टेबल राघवेंद्र पांडेय को एक इमानदार इंस्पेक्टर की भूमिका मिली है। दरअसल, फिल्म की ये कहानी अस्सी के दशक में गैंगवार और वर्चस्व को लेकर चर्चित रहे गोरखपुर जिले की पटकथा पर बन रही है। असल जिंदगी में खाकी पहनकर अपनी ड्यूटी निभाने वाले राघवेंद्र मूलतः महराजगंज जिले के ग्राम रुदरौली थाना निचलौल के रहने वाले हैं बचपन से ही अभिनय का शौक रखने वाले राघवेंद्र स्कूल और कॉलेज की पढ़ाई के दौरान ही कई स्टेज पर जोरदार परफॉर्मेंस दे चुके हैं।

Read more

हाल के पोस्ट

S.R International Academy
Police banner