Home » यू पी/उत्तराखण्ड » संतकबीरनगर--- पुलिस ने किया कई गुड वर्क, नियंत्रण में है अपराध_रिपोर्ट--बिट्ठल दास

संतकबीरनगर--- पुलिस ने किया कई गुड वर्क, नियंत्रण में है अपराध_रिपोर्ट--बिट्ठल दास

ऽ एसपी ने प्रेसवार्ता कर दी जानकारी।संतकबीरनगर। पुलिस कप्तान ब्रजेश सिंह के कुशल निर्देशन में जनपद...

संतकबीरनगर--- पुलिस ने किया कई गुड वर्क, नियंत्रण में है अपराध_रिपोर्ट--बिट्ठल दास
Share Post


ऽ एसपी ने प्रेसवार्ता कर दी जानकारी।

संतकबीरनगर। पुलिस कप्तान ब्रजेश सिंह के कुशल निर्देशन में जनपद की पुलिस अपराध को नियंत्रण करने में सफल हो रहा है। कई अपराधो का वर्क आउट करते हुए संलिप्त अभियुक्तो को मय माल बरामद गिरफ्तार किया गया है। उनके विरूद्व मुकदमा पंजीकृत कर न्यायालय भेजा गया। पुलिस अधीक्षक ब्रजेश ंिसह ने संतकबीरनगर पुलिस द्वारा किये गये कई गुड वर्क के सम्बन्ध में मंगलवार को दोपहर बाद मीडिया से वार्ता करते हुए जानकारी दिया कि महुली थाना क्षेत्र के नाथनगर स्थित भारतीय स्टेट बैंक में हुई चोरी के मामले में दो अभियुक्त गिरफ्तार किये गये है। पकड़े गये अभियुक्तो में धनघटा थाना क्षेत्र के भागवत यादव व दिनेश शामिल है। उनके पास से घटना में प्रयुक्त एक ब्रेजा कार व नकदी बरामद किया गया। इस वर्कआउट में इंस्पेक्टर महुली प्रदीप कुमार सिंह, वरिष्ठ उप निरीक्षक धर्मेन्द्र सिंह, स्वाट टीम प्रभारी दीपक दूबे, एसआई अमला यादव, सर्विलास टीम का योगदान रहा। उन्होने बताया कि इसी तरह चोरी की मोटर साइकिल, 3 अदद बैटरी, कम्प्यूटर, टुल्लू पम्प व चोरी की बाई बरामद की गई। के साथ एक चोर पकड़े गये है उनके पास से माल भी बरामद किया गया। पकड़े गये अभियुक्त में महुली थाना क्षेत्र के सागर साहनी शामिल है। इस घटना को वर्कआउट करने में महुली थाने में तैनात वरिष्ठ उप निरीक्षक खुश मोहम्मद, चैकी प्रभारी काली जगदीशपुर अवधेश पाण्डेय, एसआई राम प्रवेश यादव व स्वाट टीम शामिल है। इसी तरह मेंहदावल पुलिस ने छेड़खानी के मामले में वांछित अभियुक्त को गिरफ्तार कर न्यायालय भेजा। धनघटा पुलिस ने 2 वारन्टी को गिरफ्तार कर न्यायालय भेजा। पुलिस अधीक्षक ब्रजेश सिंह ने बताया कि इसी तरह सर्विलांस टीम द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुए बरदहिया बाजार निवासी बृजेन्द्र शुक्ला के खाते से ट्रासफर 45 हजार 900 रूपये को एकाउन्ट में वापस कराया गया। जिसकी प्रशंसा की गई। इस सराहनीय कार्य में उपनिरीक्षक प्रदीप सिंह व कास्टेबल प्रदीप कुशवाहा का सहयोग रहा।