Home » यू पी/उत्तराखण्ड » बांदा--वेतन न मिलने पर कर्मचारी ने तहसील परिसर में किया आत्मदाह_ रिपोर्ट-साजिद अली

बांदा--वेतन न मिलने पर कर्मचारी ने तहसील परिसर में किया आत्मदाह_ रिपोर्ट-साजिद अली

बाँदा में आज उस समय सनसनी फैल गयी जब जिले की नरैनी तहसील में तैनात में एक चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी...

बांदा--वेतन न मिलने पर कर्मचारी ने तहसील परिसर में किया आत्मदाह_ रिपोर्ट-साजिद अली
Share Post



बाँदा में आज उस समय सनसनी फैल गयी जब जिले की नरैनी तहसील में तैनात में एक चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी ने कई महीनों से बेतन का भुगतान न होने से छुब्ध होकर तहसील परिषर में किया आत्मदाह कर लिया, आनन -फानन में परिजनों ने उसे तुरंत गंभीर हालत में बाँदा जिला अस्पताल भर्ती कराया , जहाँ इलाज के दौरान कर्मचारी की मौत हो गयी, परिजनों ने तहसील जे अधिकारियों पर शोषण का आरोप लगाया है। जहां एक तरफ यह दुःखद घटना सरकारी सिस्टम की पोल खोल रही थी वहीं दूसरी ओर सूबे के मुखिया खुद भी उस समय बाँदा में मौजूद थे।

आज जिस समय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बाँदा जनपद का दौरा कर रहे थे ठीक उसी समय जनपद की नरैनी तहसील का एक चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी बाँदा जिला अस्पताल के ट्रामा सेंटर में अपनी आखरी सांसे रहा था। नरैनी के देवेन्द्र नगर मोहल्ले के निवासी चुन्नू लाल नरैनी तहसील में ही संग्रह अमीन सहायक के पद पर तैनात था।परिजनों का कहना हैं की चुन्नू लाल का कई महीने से वेतन नही मिल रहा था जिसको लेकर वो तनाव में चल रहा था जिसके चलते आज उसने तहसील परिसर पहुंच कर तहसीलदार कार्यालय के नजदीक अपने ऊपर केरोसिन डाल कर आग लगा ली जिससे वो बुरी तरह झुलस गया जिसे परिजनों ने तत्काल बाँदा जिला अस्पताल के ट्रामा सेन्टर में भर्ती कराया जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी परिजनों बक आरोप है कि तहसील के अधिकारियों के शोषण से तंग आकर चुन्नू लाल ने आत्मदाह किया है ।खास बात यह है कि जिस समय कर्मचारी ने आत्मदाह किया उसी समय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी बाँदा में मौजूद थे और तिन्दवारी में गौशाला का निरीक्षण कर रहे थे।