Home » यू पी/उत्तराखण्ड » बलरामपुर-जिले के पांच क्षेत्रों में चलेगा मिशन इंद्रधनुष, 1 लाख 92 हजार 785 घरों का हुआ सर्वे,2 दिसम्बर से चार चरण में जिले में शुरू होगा अभियान_रिपोर्ट-विवेक गुप्ता

बलरामपुर-जिले के पांच क्षेत्रों में चलेगा मिशन इंद्रधनुष, 1 लाख 92 हजार 785 घरों का हुआ सर्वे,2 दिसम्बर से चार चरण में जिले में शुरू होगा अभियान_रिपोर्ट-विवेक गुप्ता

-15536 बच्चे और 4283 गर्भवती महिलाओं का होगा टीकाकरणबलरामपुर 29 नवम्बर। जिले में 2 दिसंबर से शुरू...

बलरामपुर-जिले के पांच क्षेत्रों में चलेगा मिशन इंद्रधनुष, 1 लाख 92 हजार 785 घरों का हुआ सर्वे,2 दिसम्बर से चार चरण में जिले में शुरू होगा अभियान_रिपोर्ट-विवेक गुप्ता
Share Post


-15536 बच्चे और 4283 गर्भवती महिलाओं का होगा टीकाकरण

बलरामपुर 29 नवम्बर। जिले में 2 दिसंबर से शुरू होने वाले सघन मिशन इंद्रधनुष अभियान 2.0 के लिए 15536 बच्चे और 4283 गर्भवती महिलाओं को चिन्हित किया गया है। 4 महीने तक चलने वाले अभियान के दौरान इन बच्चों और गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण किया जाएगा। इस बार यह अभियान जिले के केवल उन क्षेत्रों में चलाया जाएगा जिनमें टीकाकरण 80 प्रतिशत से कम है। यह अभियान प्रदेश के 73 जिलों में चल रहा है।

शुक्रवार को सघन मिशन इंद्रधनुष 2.0 के संबंध में सीएमओ कार्यालय सभागार में आयोजित प्रेस वार्ता में सीएमओ डॉ घनश्याम सिंह ने बताया कि 84 प्रतिशत से कम टीकाकरण वाले पांच ब्लाक के 1 लाख 92 हजार 785 घरों का सर्वे किया गया। सर्वे में कुल 4283 गर्भवती महिलाओं और 0 से 2 साल के 15536 बच्चों को चिन्हित किया गया है। ग्यारह बीमारियों से बचाव के टीके लगाए जाने हैं। गर्भवती महिलाओं को टीडी के टीके लगाए जाएंगे, जबकि बच्चों को बीसीजी, पोलियो, डिप्थीरिया, काली खांसी, टिटनेस, निमोनिया, डायरिया, मस्तिष्क ज्वर, मिजिल्स व रूबेला से बचाने के टीके लगाए जाने हैं।

पांच ब्लाकों में होगा टीकाकरण

अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. ए.के. सिंघल ने बताया जिले के शिवपुरा, गैसड़ी, तुलसीपुर, गैण्डास बुजुर्ग व बलरामपुर ग्रामीण में 84 प्रतिशत से कम टीकाकरण हुआ है। क्षेत्र में टीकाकरण अभियान चलाया जाएगा टीकाकरण अभियान के लिए 1075 सुपरवाईजर व 892 एएनएम की ड्यूटी लगाई गई है। 4 महीने चरणवार 2 से 12 दिसम्बर, 6 से 16 जनवरी, 3 से 13 फरवरी व 2 से 12 मार्च तक 10-10 दिन अभियान के तहत टीकाकरण किया जाएगा। शासन की मंशा पूरे प्रदेश में 90 प्रतिशत से ज्यादा टीकाकरण किए जाने की है, जिसके तहत 892 सत्रों में टीकाकरण किया जाएगा।

विरोध करने वालों को किया जा रहा है जागरूक

डा. ए.के. सिंद्यल ने बताया टीकाकरण का विरोध करने वाले लोगों से लगातार संपर्क किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि बलरामपुर ग्रामीण क्षेत्र के बल्लीडीह, कटरा शंकरनगर, भीखमपुर, खमौवा सहित आदि स्थानों में रहने वाले परिवार टीकाकरण का विरोध करते हैं। समझाने पर मारपीट पर उतारू हो जाते हैं। अभियान से पहले ऐसे लोगों के साथ एनजीओ के जरिए मीटिंग करके उन्हें समझाने और टीकाकरण के लाभ बताने का प्रयास किया जा रहा है। इसके अलावा सोसाइटी के लिए भी डीएम व सीएमओ की ओर से एक अपील पत्र व वीडियो जारी कराया गया है, जिससे टीकाकरण में किसी तरह का विरोध ना हो। उन्होंने सभी से बच्चों को 11 गंभीर बीमारियों से बचने के लिए टीकाकरण जरूर करवाए जाने की अपील भी की है।

पांच विभाग करेंगे सहयोग

-डा. ए.के. सिंघल ने बताया बेहतर कवरेज के लिए अभियान में स्वास्थ्य विभाग के साथ इस बार सहयोग में आईसीडीएस विभाग, पंचायती राज विभाग पूर्ति विभाग, पुलिस विभाग और अल्पसंख्यक विभाग समेत कुल 5 विभागों को शामिल किया गया है।

इस दौरान एसीएमओ डा. बी.पी. सिंह, युनिसेफ के अमित श्रीवास्तव, के.के. सिंह, ए.के. पाण्डेय, विनोद त्रिपाठी समेत तमाम अधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहे।