Home » यू पी/उत्तराखण्ड » बलरामपुर-गर्भवती महिलाओं के पोषण व जागरूक के लिए 2 दिसम्बर से मातृ वंदना सप्ताह_रिपोर्ट-रवि गुप्ता

बलरामपुर-गर्भवती महिलाओं के पोषण व जागरूक के लिए 2 दिसम्बर से ''मातृ वंदना सप्ताह''_रिपोर्ट-रवि गुप्ता

-''एक स्वस्थ राष्ट्र के निर्माण की ओर-सुरक्षित जननी विकसित धारिणी'' थीम पर सप्ताह- प्रधानमंत्री...

बलरामपुर-गर्भवती महिलाओं के पोषण व जागरूक के लिए 2 दिसम्बर से मातृ वंदना सप्ताह_रिपोर्ट-रवि गुप्ता
Share Post


-''एक स्वस्थ राष्ट्र के निर्माण की ओर-सुरक्षित जननी विकसित धारिणी'' थीम पर सप्ताह

- प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना में पोषण के लिए गर्भवती महिला को मिलते हैं 5000 रूपये

बलरामपुर 28 नवम्बर। गर्भवती महिलाओं को पोषण दिये जाने के उद्देश्य से केंद्र सरकार द्वारा चलाई जा रही प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए स्वास्थ्य विभाग ''मातृ वंदना सप्ताह'' मनाने जा रहा है। दो दिसम्बर से शुरू होने वाले कार्यक्रम को लेकर कार्यकारी अधिशासी निदेशक/मिशन निदेशक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन जसजीत कौर ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को शासनादेश भेजकर ''एक स्वस्थ राष्ट्र के निर्माण की ओर-सुरक्षित जननी, विकसित धारिणी'' थीम पर सप्ताह मनाने का निर्देश दिया है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. घनश्याम सिंह ने गुरूवार को बताया 02 से 08 दिसम्बर तक आयोजित होने वाली ''मातृ वंदना सप्ताह'' में विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से लोगों को इस योजना के प्रति जागरूक किया जाएगा। प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के तहत पहली बार गर्भवती होने वाली महिला को 5000 रूपये की धनराशि दी जाती है। पंजीकरण कराने के साथ ही गर्भवती को प्रथम किश्त में 1000 रूपये, प्रसव पूर्व कम से कम एक जांच होने पर, गर्भवास्था के छह माह बाद दूसरी किश्त के रूप् में 2000 रूपये और बच्चे के जन्म का पंजीकरण होने और बच्चे के प्रथम चक्र का टीकाकरण पूरा होने पर तीसरी किश्त के रूप में 2000 रूपये दिए जाते हैं। उन्होंने कहा कि विशेष सप्ताह में विभिन्न आयोजनों व गतिविधियों के माध्यम से लोगों को जागरूक किया जाएगा। योजना का लाभ सभी सही पात्र लोगों तक पहुंचे इसके लिए आनलाइन पंजीकरण की व्यवस्था की गई है। यह सुविधा अमीर, गरीब व किसी भी जाति बंधन से मुक्त है। उन्होंने बताया कि केवल सरकारी कर्मचारी महिला को इसका लाभ नहीं मिलेगा। इसमे आवेदन के लिए किसी भी तरह का शुल्क नहीं लगता है। उन्होंने कहा कि धन व जागरूकता के अभाव में अधिकतर गर्भवती महिलाएं बेहतर पोषण से वंचित रह जाती हैं। ऐसे लोगों के लिए सरकार ने प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना की शुरूआत 1 जनवरी 2017 में की थी। इस योजना से महिलाओं को समय से उचित पोषण तो मिलेगा ही साथ ही कुपोषण के कारण शिशु मृत्यु दर में भी कमी आएगी।

जिला कार्यक्रम समन्वयक पुनीत मिश्रा ने बताया कि अगले माह दिसंबर तक 30,157 का लक्ष्य निर्धारित किया गया है, इसमें 29,475 महिलाओं को लाभ मिल चुका है। लक्ष्य से अधिक काम करते हुए बेहतरीन प्रदर्शन कर बलरामपुर शहर, बलरामपुर ग्रामीण व शिवपुरा ब्लाक टाप थ्री में शामिल है। उन्होंने बताया कि योजना का लाभ लेने के लिए टीकाकरण कार्ड, आधार कार्ड, बैंक या पोस्ट आफिस की पासबुक, शिशु का जन्म प्रमाण पत्र होना आवश्यक है। योजना का लाभ लेने के लिए गर्भवती महिलाएं अपने निकटतम प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर संपर्क कर सकती हैं। योजना का प्रचार प्रसार कर लोगों को जागरूक किया जा रहा है।

विशेष सप्ताह में यह होंगे विभिन्न कार्यक्रम

-मातृ वंदना सप्ताह के पहले दिन दो दिसंबर को स्वास्थ्य केंद्रों में सेल्फी प्वाइंट बनेंगे, जिसमें मां की उसके बच्चे के साथ तस्वीर या पहली बार मां बनने वाली गर्भवती की पिक्चर होगी। तीन दिसंबर को ग्राम सभा/स्थानीय निकाय में बैठक, मैराथन व प्रभातफेरी, एएनएम व आशा द्वारा गृह भ्रमण में पंपलेट वितरण, चार दिसंबर को घर-घर जाकर लाभार्थी का चिन्हीकरण व फार्म भरना, पाँच दिसंबर को आवेदन व बैंक संबंधी समस्या का निस्तारण, छः दिसंबर को दूसरी व तीसरी किश्त के लंबित प्रकरण को कम करने के लिए विशेष अभियान, सात दिसंबर को स्वास्थ्य पोषण एवं स्वच्छता दिवस और आठ दिसंबर को जनपद स्तरीय गतिविधियां एवं बधाई दिवस मनाया जाएगा।