Home » यू पी/उत्तराखण्ड » संतकबीर नगर-सीडीओ के जांच में शौचालय मिला अपूर्ण, जताई नाराजगी_रिपोर्ट-बिट्ठल दास

संतकबीर नगर-सीडीओ के जांच में शौचालय मिला अपूर्ण, जताई नाराजगी_रिपोर्ट-बिट्ठल दास

संतकबीरनगर। विकास खण्ड पौली के ग्राम पंचायत बगही का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण को समय खण्ड विकास...

संतकबीर नगर-सीडीओ के जांच में शौचालय मिला अपूर्ण, जताई नाराजगी_रिपोर्ट-बिट्ठल दास
Share Post


संतकबीरनगर। विकास खण्ड पौली के ग्राम पंचायत बगही का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण को समय खण्ड विकास अधिकारी, सहायक विकास अधिकारी (पंचायत) एवं ग्राम पंचायत सचिव भी मेरे साथ उपस्थित थे। उक्त ग्राम पंचायत की जनसंख्या वर्ष 2011 की जनगणना को अनुसार 489 है। जिसमें कुल 292 परिवार हैं। अन्त्योदय कार्ड ग्राम में 51 बने है तथ्था पात्र गृहस्थी कार्ड 277 बने है। उपलब्ध कराये गये अभिलेख के अनुसार उक्त ग्राम पंचायत में एस0बी0एम0 योजनान्तर्गत 261 शौचालय एवं एल0ओ0बी0 के अन्तर्गत 25 शौचालय, इस प्रकार कुल 286 शौचालय बने हैं तथा 31 प्रधानमंत्री आवास बनाये गये है। रामदरश पुत्र रामदौर के प्रधानमंत्री आवास का निरीक्षण किया गया, जो पूर्ण पाया गया किन्तु शौचालय अधूरा है। आवास में प्लास्टर एवं पेंटिग नही कराई गई है। श्रीमती दुर्गावती पत्नी जयराम के प्रधानमंत्री आवास का निरीक्षण, आवास पूर्ण हो गया है किन्तु शौचालय नहीं बनाया गया है जबकि शौचालय की धनराशि दे दी गयी है। आवास की पेंटिग एवं प्लास्टर नही करायी गयी है। खण्ड विकास अधिकारी कृपया शौचालय निर्माण न कराये जाने के लिए दोषी ग्राम पंचायत सचिव के विरूद्व कार्यवाही कराये जाने के लिए संस्तुति पत्र भेजे। छांगुर पुत्र सोमई के आवास का निरीक्षण किया गया, जो पूर्ण पाया गया। इनका शौचालय भी पूर्ण पाया गया। किन्तु आवास की पेंटिग एवं प्लास्टर नही कराया गया है। कुल 286 शौचालय बनाया जाना बताया गया किन्तु अधिकांश शौचालय अभी भी अपूर्ण है एवं जो शौचालय बनाये गये है उनमें भी अभी अधिकांश में न तो दरवाजे, खिड़की लगे है, और न ही पेंटिग कार्य, लाभार्थियों का नाम लिखाया गया है। श्रीमती बुधना देवी पत्नी रामनरेश, रामचन्दर पुत्र रामनरेश, इसरावती पत्नी रामकिशुन, दुर्गावती पत्नी जयराम के शौचालय का निरीक्षण किया गया जो अभी अपूर्ण पाया गया। किसी भी शौचालय पर लाभार्थी का नाम एल0जी0डी0 कोड नही लिखा गया है। श्यामसुन्दर पुत्र रामलौट ने बताया कि उनको शौचालय नही दिया गया है जबकि उनके पास शौचालय नहीं है। इन्ही के भाई शिवकुमार पुत्र रामलौट को शौचालय हेतु रू0 12 हजार दिया जाना बताया गया। किन्तु अभी तक उनका शौचालय नहीं बना है। ग्राम में साफ सफाई की व्यवस्था खराब पायी गयी। ग्राम पंचायत सचिव विनय कुमार को लाभार्थियों के आवास एवं शौचालय का पता नहीं था। खण्ड विकास अधिकारी इस सम्बन्ध में देख ले और उनके खिलाफ कार्यवाही प्रस्तावितत करके अवगत करायें तथा सफाईकर्मियों द्वारा सफाई नहीं किया जा रहा है। इस सम्बन्ध में अपनी आख्या उपलब्ध करायें।