Home » यू पी/उत्तराखण्ड » बदायूं-भागीरथी घाट का बढा पानी _रिपोर्ट-संजीव सक्सेना

बदायूं-भागीरथी घाट का बढा पानी _रिपोर्ट-संजीव सक्सेना

बदायूँ-जनपद बदायूं मे रूहेलखडं का मिनी कुंभ मेला के भागीरथी घाट परगंगा में पानी बढ़ गया है। गहराई...

बदायूं-भागीरथी घाट का बढा पानी _रिपोर्ट-संजीव सक्सेना
Share Post


बदायूँ-जनपद बदायूं मे रूहेलखडं का मिनी कुंभ मेला के भागीरथी घाट परगंगा में पानी बढ़ गया है। गहराई और तेज बहाव को देखते हुए श्रद्धालु से सावधानी से बरतने की चेतवनी दी जा रही है। गंगा तट पर लाखों श्रद्धालु स्नान करने पहुंचे। मां गंगा के प्रति अटूट श्रद्धा और भक्ति उन्हें गंगा किनारे ला रही है। जीवनदायिनी मां गंगा की कल कल करती निर्मलधारा को स्वच्छता बनाने लिए युवाशक्ति ने लोगों को जागरूक किया। श्रद्धालुओं के श्रेष्ठ जीवन के लिए यज्ञ भगवान को विशेष आहुतियां समर्पित की। प्रज्ञा मंडल और महिला मंडल के सदस्यों ने गंगा तट पर शौच जाने वाले लोगों को रोका और उन्हें शौचालय का प्रयोग करने के लिए प्रेरित किया। जिससे गंगा तट पर काफी हद तक स्वच्छता रही। गंगा तटों पर स्वच्छकारों की सेवाएं सराहनीय रहीं। मेले में बिजली की व्यवस्था अच्छी रही। मेले में शाम होते ही बिजली की सप्लाई सुचारू दी जा रही है। मेले में पुलिस के जवानों ने मुस्तैदी दिखाते हुए व्यवस्था को चाक चौबंध रखा। जुआ और शराब को सार्वजनिक नहीं होने दिया। गंगा तट पर कावेरी 8वीं वाहिनी पीएसी बरेली के जवानों ने गंगा के किनारे लगीं खतरे के निशान की वाली बल्लियों से आगे घहराई में स्नान करने वाले श्रद्धालुओं को गहरे में स्नान करने से मना किया। ग्रामीणों और शहरी लोगों ने मेले में जमकर खरीददारी की। ग्रामीणों ने अपनी बेटे और बेटियों की शादी के लिए बक्से और ढ़ोलक आदि खरीदी। मेहमानों के सम्मान और स्वागत के लिए चादरों और कंबलों को भी खरीदा। मेले में पहले से हो रही तैयारी के बाबजूद गंगा घाट का मुख्य द्वार अंत तक नहीं सजाया गया। जबकि आधा अधूरा तैयार कर छोड़ दिया गया। मेले में मुख्य मार्गों को व्यवस्थित नहीं किया गया। कहीं धूल और कहीं कीचड़ की भरमार है।

खोया पाया समाजसेवा शिविर में स्काउट संस्था के प्रदेश उपाध्यक्ष महेश चंद्र सक्सेना के नेतृत्व में नंदराम शाक्य, मु.असरार और विभिन्न विद्यालयों से आए स्काउट ने मेले में मुस्तैदी से कार्य करते दिखे।