Home » यू पी/उत्तराखण्ड » बदायूं- सफाई व्यवस्था सही न होने पर डीएम.ने ईओ.को दी चेतावनी_रिपोर्ट-संजीव सक्सेना

बदायूं- सफाई व्यवस्था सही न होने पर डीएम.ने ईओ.को दी चेतावनी_रिपोर्ट-संजीव सक्सेना

बदायूँ -जनपद बदायूँ में सफाई व्यवस्था दुरस्त न होने पर डीएम ने समस्त ईओ को दिया सख्त...

बदायूं- सफाई व्यवस्था सही न होने पर डीएम.ने ईओ.को दी चेतावनी_रिपोर्ट-संजीव सक्सेना
Share Post


बदायूँ -जनपद बदायूँ में सफाई व्यवस्था दुरस्त न होने पर डीएम ने समस्त ईओ को दिया सख्त निर्देष।लगाकूड़ा न उठने की स्थिति को दयनीय बताते हुए डीएम ने समस्त अधिशासी अधिकारियों की कड़ी फटकार लगाई है। डीएम ने कहा कि आए दिन शिकायतें मिल रही हैं कि सफाई कर्मी मनमानी करते हैं और घर-घर जाकर कूड़ा नहीं उठा रहें हैं। डीएम ने सभी ईओ को सख्त हिदायत दी कि सफाई से सम्बंधित कोई शिकायत मिली या उन्हें सड़कों पर कूड़ा दिखाई दिया तो किसी भी दशा नहीं बख्शा नहीं जाएगा।

शुक्रवार को कलेक्ट्रेट स्थित सभाकक्ष में जिलाधिकारी कुमार प्रशान्त ने जिला पर्यावरण समिति की बैठक लेते हुए कहा कि उन्हें निरंतर शिकायतें मिल रही हैं कि अधिशासी अधिकारी मुख्यालय पर नहीं रहते हैं। ऐसे लापरवाह अधिकारियों के साथ कोई रियायत नहीं बरती जाएगी एवं इनके पीछे एलआईयू लगाकर इनकी गोपनीय रिपोर्ट ली जाएगी, उसी के आधार पर उनके विरुद्ध कार्यवाही की जाएगी। अपर जिलाधिकारी प्रशासन राम निवास शर्मा ने डीएम को अवगत कराया कि उसावां के अधिशासी अधिकारी मुख्यालय पर नहीं रहते हैं, गंदगी से लोगों का बुरा हाल है, आवारा गौवंश घूूमते रहते हैं। डीएम ने अधिशासी अधिकारियों को कड़े निर्देश दिए है कि कार्य में सुधार ले आएं और मुख्यालय पर रहना शुरू कर दें। जिन नगर पालिका एवं नगर पंचायतों में कूड़ा डम्पिंग के लिए भूमि चिन्हित कर ली गई है, कूड़ा वहीं डाला जाए, लेकिन किसी भी दशा में कूड़ा जलाया न जाए और जिन नगर पालिका एवं नगर पंचायतों में कूड़ा डम्पिंग के लिए भूमि चिन्हित नहीं की गई है, तो अधिशासी अधिकारी सम्बंधित उपजिलाधिकारी एवं लेखपाल से मिलकर भूमि चिन्हित करा लें।

बता दें कि पूर्व नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना द्वारा नगर पालिकाओं एवं नगर पंचायतों को निर्देशित किया गया था कि ईओ अपने व सफाई कर्मचारियों का नाम एवं उनके मोबाइल नम्बर लिखे बोर्ड में प्रत्येक गांवों एवं मौहल्लों में लगा दिए जाएं जिससे सफाई करने न आने वाले कर्मचारियों से जनता फोन पर उसके न आने का कारण पूछ सके एवं ईओ से उसकी शिकायत भी कर सके। डीएम ने अधिशासी अधिकारियों को निर्देश दिए कि गांव व मौहल्लों में तैनात सफाई कर्मचारियों की सूची लगाई जाए। इस अवसर पर सीओ सिटी विनय कुमार द्विवेदी, डीपीआरओ डॉ0 शरनजीत कौर सहित नगर पालिका एवं नगर पंचायतों के अधिशासी अधिकारी मौजूद रहे।