Home » यू पी/उत्तराखण्ड » बदायूं- डीएम- एसएसपी ने थाना समाधान दिवस में प्राप्त शिकायतों को गुणवत्तापूर्ण समयबद्ध तरीके से निस्तारित किए जाने का दिया निर्देष_रिपोर्ट-संजीव सक्सेना

बदायूं- डीएम- एसएसपी ने थाना समाधान दिवस में प्राप्त शिकायतों को गुणवत्तापूर्ण समयबद्ध तरीके से निस्तारित किए जाने का दिया निर्देष_रिपोर्ट-संजीव सक्सेना

शिकायत निस्तारण में विशेष तौर पर विवाद Iमामलों को प्राथमिकता के तौर पर लिए जाए। त्योहारों को ध्यान...

बदायूं- डीएम- एसएसपी ने थाना समाधान दिवस में प्राप्त शिकायतों को गुणवत्तापूर्ण समयबद्ध तरीके से निस्तारित किए जाने का दिया निर्देष_रिपोर्ट-संजीव सक्सेना
Share Post



शिकायत निस्तारण में विशेष तौर पर विवाद Iमामलों को प्राथमिकता के तौर पर लिए जाए। त्योहारों को ध्यान में रखते हुए शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए संबंधित क्षेत्र के लेखपाल एवं सिपाही की जिम्मेदारी है।

शनिवार को थाना समाधान दिवस में जिलाधिकारी कुमार प्रशान्त एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार त्रिपाठी ने कोतवाली दातागंज एवं थाना मूसाझाग में जन शिकायतें सुनी। डीएम ने लेखपालों को निर्देश दिए कि भूमि विवाद संबंधी शिकायतों का निस्तारण करने का बहुत अच्छा समय है। इस समय किसानों के खेतों में फसल खाली हो रही है, लेखपाल मौके पर जाकर निस्तारित करें। उन्होंने कहा कि किसानों की फसल कटने वाली है अगली फसल बोने से पहले भूमि पैमाइश की शिकायतें निस्तारित हो जानी चाहिए। उन्होंने लेखपालों को निर्देश दिए कि जो भी चक मार्ग, तालाब एवं सरकारी भूमि पर अवैध कब्जे करने वाले माफियाओं को चिन्हित कर कठोर कार्यवाही की जाए। लेखपाल सरकारी धान क्रय केंद्रों का निरीक्षण करते रहे जिससे किसानों का ही धान क्रय किया जाए। किसानों को सरकारी क्रय केंद्रों पर धान बेचने से धान का लागत मूल्य अच्छा मिलेगा। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने कहा कि गांव में समाजिक सौहार्द को बिगाड़ने वाले लोगों को विशेष तौर पर चिन्हित कर मुचलका पाबंद किया जाए। लोगों के यहां आने वाले मेहमानों को भी चिन्हित किया जाए। किसी क्षेत्र में भी कोई अशांति होती है तो संबंधित लेखपाल एवं क्षेत्र के सिपाही की पूर्ण जिम्मेदारी होगी। गांव के छोटे-छोटे विवादों को वहीं पर निस्तारित कर दिया जाए। लेखपाल गांवों के प्रमुख लोग, आशा, सामाजिक कार्य करने वाली संस्थाओं सहित आदि लोगों की सूची बना ले जिससे समय-समय पर गांव से शांति व्यवस्था की जानकारी लेते रहे।