Home » यू पी/उत्तराखण्ड » संतकबीरनगर --नाव हादसा में रेस्क्यू टीम के कड़ी मशक्कत के बाद लापता चौथा शव हुआ बरामद, रिपोर्ट-- घनश्याम तिवारी

संतकबीरनगर --नाव हादसा में रेस्क्यू टीम के कड़ी मशक्कत के बाद लापता चौथा शव हुआ बरामद, रिपोर्ट-- घनश्याम तिवारी

धनघटा --संतकबीरनगर। धनघटा थाना क्षेत्र के चपरा पूर्वी गांव के समीप शनिवार की सुबह सरयू नदी मे...

संतकबीरनगर --नाव हादसा में रेस्क्यू टीम के कड़ी मशक्कत के बाद लापता चौथा शव हुआ बरामद, रिपोर्ट-- घनश्याम तिवारी
Share Post


धनघटा --संतकबीरनगर।

धनघटा थाना क्षेत्र के चपरा पूर्वी गांव के समीप शनिवार की सुबह सरयू नदी मे मजदूरों से भरी नाव पलट गई थी।डोगी नाव पर कुल 18 लोग सवार थे।मजदूर नदी पार कर धान की फसल काटने जा ही रहे थे। नाव पलटते ही अफरा-तफरी मच गई।डोगी नाव पर सवार 13 लोग तो किसी तरह बाहर आ गए। लेकिन पांच महिलाएं डूब गईं। ग्रामीणों के अथक प्रयास से एक महिला को गंभीर हालत में बाहर निकाल लिया गया। लेकिन चार लोग लापता हो गए थे, जिनकी तलाश के लिए धनघटा पुलिस व एनडीआरएफ टीम लगातार रेस्क्यू ऑपरेशन चला रही थी। टीम ने तीन शव को नदी से दो दिन पूर्व ही ढूंढ निकाला था, और चौथे शव का तलाश जारी था।

रेस्क्यू टीम को बुधवार को सुबह चौथा शव गोरखपुर जनपद के कम्हरिया घाट के समीप मिला। शव की पहचान रूमा पुत्री राम नयन के रूप में हुई । धनघटा पुलिस के अनुसार माया पुत्री नंदलाल 22 वर्ष, कबिता पुत्री राम नयन उम्र 18 वर्ष, रूमा पुत्री रामनयन उम्र 28 वर्ष निवासी चपरा पूर्वी व रेखा पुत्री हरिवंश उम्र 28 वर्ष नाव हादसे में नदी में डूब गए थे। इन सभी का शव बरामद कर लिया गया है।रूमा के पति और बच्चों का रो-रोकर हुआ बुरा हाल है ।परिजनों ने बताया कि रूमा की शादी 2004 में बस्ती जिले के कुदरहा ब्लॉक के राजा टिगरिया गांव निवासी सत्यपाल के साथ हुई थी। जिनसे दो बेटी एक बेटा है। बड़ी बेटी मनीषा 10 वर्ष, बेटा राज 8 वर्ष और सबसे छोटी बेटी संजना की उम्र 6 वर्ष है । रोमा का शव मिलते ही परिजनों में हाहाकार मच गया। लोग ही कह रहे थे कि अब इन तीन बच्चों का सहारा कौन बनेगा ।