Home » शख्सियत » पुण्यतिथि पर याद किये गये पूर्वांचल के मालवीय स्व0 पंडित सूर्य नारायण चतुर्वेदी

पुण्यतिथि पर याद किये गये पूर्वांचल के मालवीय स्व0 पंडित सूर्य नारायण चतुर्वेदी

फ़ोटो साभार-बिट्ठल दास_संतकबीरनगरकौमी एकता के मिशाल संत कबीर की धरती संतकबीरनगर जिले के भिठहां गाँव...

पुण्यतिथि पर याद किये गये पूर्वांचल के मालवीय स्व0 पंडित सूर्य नारायण चतुर्वेदी
Share Post




फ़ोटो साभार-बिट्ठल दास_

संतकबीरनगर

कौमी एकता के मिशाल संत कबीर की धरती संतकबीरनगर जिले के भिठहां गाँव मे जन्मे आधुनिक शिक्षा के अमिट हस्ताक्षर पूर्वांचल के मालवीय कहे जाने वाले पंडित सूर्य नारायण चतुर्वेदी की प्रथम पुण्यतिथि उनके पैतृक गांव में श्रद्धाभाव के साथ मनाई गई। जिसमें पूरे पूर्वांचल एवं प्रदेश भर के जाने माने शिक्षा विदों के साथ समाजसेवी और तमाम राजनैतिक दलों के लोगों के साथ जिलाधिकारी संतकबीरनगर रवीश गुप्ता, सीडीओ बब्बन उपाध्याय, सहित तमाम आलाधिकारियों ने उनके चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें नमन किया। आपको बता दें कि जीवन मे मिले तमाम चुनौतियों और कठिनाइयों को मात देकर संतकबीरनगर बस्ती सहित पूरे पूर्वांचल में शिक्षा की अलख जगाने का श्रेय स्व0 पंडित सूर्यनारायण चतुर्वेदी जी को ही जाता है जिनकी पहली पुण्य तिथि उनके गांव भिठहाँ में मनाई गई। जहां पर डीएम,सीडीओ, शिक्षाविदों, स्थानीय सांसद,विधायक, तमाम राजनैतिक दलों के नेताओं और अन्य जानी मानी हस्तियों ने उन्हें श्रद्धांजलि दी। वैदिक परंपरा के अनुसार सम्पन्न हुई पूर्वांचल के मालवीय स्व0 पंडित सूर्य नारायण चतुर्वेदी की पहली पुण्यतिथि के अवसर पर विद्वान पंडितों और विद्वान आचार्यों द्वारा विधि विधान से उनकी आत्मा की शांति के लिए मंत्रोचारण किया,इस दौरान हजारों लोगों ने उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित कर उन्हें नमन किया। पूर्वांचल के मालवीय स्व0 पंडित सूर्य नरायण चतुर्वेदी की पुण्यतिथि के अवसर पर प्रसिद्ध भजन गायक गोरखनाथ मिश्र एवं उनके सहयोगियों द्वारा माँ उपासना के गीत गाये गए जिसको सुनकर लोग भक्ति रस मे घण्टो तक गोते लगाते रहे।










गौरतलब हो कि जिले के भिठहां गाँव निवासी पंडित सूर्यनारायण चतुर्वेदी गरीबी और चुनौतियों से लड़ते हुए पूर्वांचल मे अपनी एक अलग पहचान बनाते हुए पिछले साल बड़ी ही खामोशी के साथ इस दुनिया को छोड़ कर चले गए थे। शैक्षणिक दृष्टिकोण से समाज को नई दिशा देने और अति पिछड़े जनपद संतकबीरनगर की युवा पीढ़ी के सपनो को पंख लगा कर उनके सपनो को साकार करने की जो आधारशिला स्व0 पंडित सूर्यनारायण चतुर्वेदी ने रखी वो आज एक नज़ीर है, संघर्षों की सीख देती उनकी जीवनी आज सभी के लिए एक प्रेरणा समान है। इस अवसर पर डीएम रवीश गुप्ता, बीजेपी सांसद प्रवीण निषाद,एवं उनके पुत्र समान भतीजे सदर विधायक दिग्विजय नरायण चतुर्वेदी उर्फ जय चौबे, जनार्दन चतुर्वेदी, गोरखपुर विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष सत्यपाल पाल सिंह,पूर्व बीजेपी जिलाध्यक्ष राम ललित चौधरी, शिक्षाविद प्रो के एम त्रिपाठी, सहित तमाम लोगो ने उनके व्यक्तित्व और कृतित्व पर प्रकाश डालते हुए उन्हें नमन किया।





याद दिलाते चलें कि वर्ष 1950 मे संतकबीरनगर जिले के महुली थाना क्षेत्र के ग्राम भिटहा मे पं सूर्य नारायण चतुर्वेदी का जन्म हुआ था। पांच बर्ष की उम्र मे ही इनके पिता पंडित अम्बिका नारायण चतुर्वेदी का निधन हो जाने से बड़े भाई वशिष्ठ मुनि चतुर्वेदी और गोमती प्रसाद चतुर्वेदी के सरंक्षण और मां के आंचल की छांव मे पले बढे पं सूर्य नारायण चतुर्वेदी समय से पहले ही परिवार और समाज के प्रति अपनी जिम्मेदारियो को लेकर चिंतित रहने लगे। स्नातक की शिक्षा हीरालाल रामनिवास स्नातकोत्तर महाविद्यालय खखलीलाबाद से पूरी करने के बाद परास्नातक की शिक्षा गोरखपुर विश्वविद्यालय से पूरी किया। स्व0 श्री चतुर्वेदी ने बीएड की पढाई रतन सेन डिग्री कालेज बांसी से किया। ग्रामीण क्षेत्र के बच्चो को शिक्षा से वंचित होता देख 30 बर्ष की उम्र मे ही उन्होंने 1980 मे परवतवा मे बाबा पर्वतनाथ इण्टर कालेज की स्थापना किया। धीरे धीरे शिक्षा के क्षेत्र मे शुरू हुआ ये कारवां आगे बढता गया। उच्च शिक्षा के क्षेत्र मे कदम रखते हुए बर्ष 2002-03 मे पं अंबिका प्रताप नारायण स्नातकोत्तर महाविद्यालय डुमरी की स्थापना किया। इसके बाद पंडित चतुर्वेदी ने कभी पीछे मुड़कर नही देखा। तकनिकी शिक्षा को बढावा देने के लिए कई आईटीआई कालेज स्थापित करने के बाद व्यवसायिक शिक्षा के लिए बीएड, बीटीसी और बीपीएड कालेजो की भी स्थापना किया। वर्तमान समय इन संस्थानो मे पूर्वांचल के युवाओ के लिए 1500 से अधिक बीएड, 1500 से अधिक बीटीसी और लगभग 200 बीपीएड सीटो की व्यवस्था किया।

इस पुण्यतिथि के अवसर पर पूर्वांचल के मालवीय स्व0 पंडित सूर्य नारायण चतुर्वेदी के बड़े पुत्र व सूर्या इंटरनेशनल एकेडमी के प्रबंध निदेशक डॉ उदय प्रताप चतुर्वेदी,बहु व सूर्या इंटरनेशनल एकेडमी की सह प्रबंध निदेशिका श्रीमती सविता चतुर्वेदी, छोटे बेटे पूर्व ब्लॉक प्रमुख व एसआर इंटरनेशनल स्कूल नाथनगर के प्रबंध निदेशक राकेश चतुर्वेदी समेत उनके परिवार के सभी सदस्यों ने गरीबों औऱ जरूरतमंदों में वस्त्र इत्यादि का दान भी किया, इस दौरान सगे सम्बन्धी और रिश्तेदार मौजूद भी रहे।