Home » यू पी/उत्तराखण्ड » संतकबीरनगर- डीएम-एसपी ने सुनी जनसमस्या, आगामी त्योहार मद्देनजर ली जानकारी_रिपोर्ट-बिट्ठल दास

संतकबीरनगर- डीएम-एसपी ने सुनी जनसमस्या, आगामी त्योहार मद्देनजर ली जानकारी_रिपोर्ट-बिट्ठल दास

संतकबीरनगर। जनपद के समस्त थानो पर समाधान दिवस का आयोजन, जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक द्वारा थाना...

संतकबीरनगर- डीएम-एसपी ने सुनी जनसमस्या, आगामी त्योहार मद्देनजर ली जानकारी_रिपोर्ट-बिट्ठल दास
Share Post


संतकबीरनगर। जनपद के समस्त थानो पर समाधान दिवस का आयोजन, जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक द्वारा थाना धर्मसिंहवा पर संयुक्त रुप से सुनी गई जनसमस्यायें, तत्पश्चात थाना धर्मसिंहवा, पुलिस चैकी दुर्गजोत थाना बखिरा व पुलिस चैकी पिपरा प्रथम थाना दुधारा का किया गया। निरीक्षण शनिवार को समस्त थानो पर संपूर्ण समाधान दिवस का आयोजन किया गया, जिसमे जिलाधिकारी रवीश गुप्ता व पुलिस अधीक्षक ब्रजेश सिंह द्वारा संयुक्त रुप से थाना धर्मसिंहवा पर जनता की समस्यायें सुनकर उनका त्वरित निस्तारण हेतु संबंधित को निर्देशित किया गया तथा पुलिस अधीक्षक द्वारा बताया गया कि प्रार्थना पत्रों का निस्तारण गुणवत्ता परक व समयसीमा के भीतर कराया जाए। तत्पश्चात जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक द्वारा संयुक्त रुप से थाना धर्मसिंहवा का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान सर्वप्रथम थाना कार्यालय के समस्त अभिलेखों का सघन मुआयना व सीसीटीएनएस कार्यालय में आनलाइन जीडी, दर्ज एफआईआर के सम्बन्ध में जानकारी ली गयी, तथा शस्त्रागार में रखे शस्त्रों की साफ सफाई सहित प्रभारी निरीक्षक कक्ष, भोजनालय, आरक्षी बैरक का निरीक्षण किया गया तथा साफ सफाई हेतु प्रभारी निरीक्षक धर्मसिंहवा को निर्देशित किया गया। तत्पश्चात पुलिस अधीक्षक द्वारा आगामी त्यौहार दुर्गा पूजा (दशहरा) के दृष्टिगत आयोजित होने वाले कार्यक्रमो, शान्ति एवं कानून व्यवस्था व पुलिस प्रबन्ध के संबंध मे समीक्षा की गयी व पुलिस कर्मचारियों से उनकी समस्याओं के सम्बन्ध में जानकारी ली गई तथा समस्याओं के समाधान हेतु सम्बन्धित को निर्देशित किया गया व पुलिसकर्मियों से अपने व्यवहार व क्रियाकलाप से आम जनमानस में पुलिस की छवि सुधारने की नसीहत भी दी गयी। इसके उपरान्त चैकी दुर्गजोत थाना बखिरा का आकस्मिक निरीक्षण किया गया तथा आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये। प्रभारी निरीक्षक थाना धर्मसिंहवा अनिल कुमार पाण्डेय को थाना स्तर पर शिकायत लेकर आने वाले शिकायतकर्ताओं के साथ उचित व्यवहार करने व महिला संबंधी अपराधों मे बिना किसी लापरवाही के तत्काल कार्यवाही करने के लिए भी आदेशित किया गया।