Home » यू पी/उत्तराखण्ड » संतकबीरनगर- सम्मान जनक भाषा है हिन्दी, सभी अपनाये-जिला जज_रिपोर्ट-बिट्ठल दास

संतकबीरनगर- सम्मान जनक भाषा है हिन्दी, सभी अपनाये-जिला जज_रिपोर्ट-बिट्ठल दास

हिन्दी भाषा का सर्वाधिक प्रयोग न्यायपालिका में हो रहा है-शैलेन्द्र संतकबीरनगर। जिला एवं सत्र...

संतकबीरनगर- सम्मान जनक भाषा है हिन्दी, सभी अपनाये-जिला जज_रिपोर्ट-बिट्ठल दास
Share Post


हिन्दी भाषा का सर्वाधिक प्रयोग न्यायपालिका में हो रहा है-शैलेन्द्र

संतकबीरनगर। जिला एवं सत्र न्यायाधीश जयशंकर मिश्र की अध्यक्षता में हिन्दी सप्ताह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के नोडल अधिकारी/सिविल जज सीनियर डिवीजन अध्यक्षता में गोष्ठी का आयोजन किया गया। हिन्दी सप्ताह का शुभारम्भ सर्वप्रथम जिला जज ने माॅ सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण व दीप प्रज्जवलित कर किया। गोष्ठी की संचालन युवा अधिवक्ता अन्जय श्रीवास्तव ने किया। गोष्ठी में न्यायिक अधिकारी एवं अधिवक्ताओ ने अपने विचार को रखते हुए हिन्दी भाषा के महत्व को बताया। इस अवसर पर जिला एवं सत्र न्यायाधीश जयशंकर मिश्र ने कहा कि विश्व में सबसे ज्यादा प्रचलित भाषाओ में तीसरे स्थान पर बोले जाने वाले हिन्दी भाषा का महत्व बहुत है। उन्होने कहा कि न्यायालय में हिन्दी भाषा में कार्य सम्पादित हो रहा है। जिससे ग्रामीण क्षेत्रो से आने वाले वादकारी सहित सभी लोग आसानी से समझ सके। उन्होने कहा कि हिन्दी भाषा सम्मान जनक भाषा है। निरन्तर हिन्दी भाषा को जारी रखने के लिए प्रयत्नशील रहना होगा। इस अवसर पर नोडल अधिकारी/सिविल जज सीनियर डिवीजन शैलेन्द्र यादव, न्यायिक अधिकारी दीपकान्त मणि, सीजेएम श्रीमती शिखा रानी जायसवाल, एडीजे फास्ट ट्रैक कोर्ट जैनुद्दीन अंसारी सहित न्यायिक अधिकारी एवं अधिवक्ताओ ने अपने-अपने विचार को रखा। इस अवसर पर वरिष्ठ अधिवक्ता महीप बहादुर पाल, जनपद बार के अध्यक्ष कृष्ण मोहन मिश्र, न्यायिक अधिकारी राकेश पाण्डेय, अभिषेक त्रिपाठी, सुधाशु रंजन उपाध्याय, विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव/न्यायिक अधिकारी सत्य प्रकाश आर्य सहित न्यायिक अधिकारी अधिवक्ता एवं न्यायालय कर्मी उपस्थित रहे।