Home » यू पी/उत्तराखण्ड » सिद्धार्थनगर-नेपाल घूमने वाले भारतीयों के लिए बुरी खबर,वर्ष मे सिर्फ तीस बार ही करा सकेंगे भंसार _रिपोर्ट मनोज शुक्ला

सिद्धार्थनगर-नेपाल घूमने वाले भारतीयों के लिए बुरी खबर,वर्ष मे सिर्फ तीस बार ही करा सकेंगे भंसार _रिपोर्ट मनोज शुक्ला

कृष्णानगर तक जाने की फ्री सुविधा पर्ची को अब आने जाने पर कराना होगा आनलाईन।वापसी न दर्ज कराने पर...

सिद्धार्थनगर-नेपाल घूमने वाले भारतीयों के लिए बुरी खबर,वर्ष मे सिर्फ तीस बार ही करा सकेंगे भंसार _रिपोर्ट मनोज शुक्ला
Share Post


कृष्णानगर तक जाने की फ्री सुविधा पर्ची को अब आने जाने पर कराना होगा आनलाईन।

वापसी न दर्ज कराने पर देना होगा जुर्माना ।


सिद्धार्थनगर। अब चार पहिया व दुपहिया वाहन लेकर नेपाल मे घूमने वालो के लिए बुरी खबर है,नये नियम के अनुसार वर्ष मे सिर्फ 30 बार ही भंसार करवाकर ही भारतीय पर्यटक भ्रमण कर पायेंगे,तथा अब आन लाईन सुविधा पर्ची लेकर सीमा से सटे कृष्णनगर(नेपाल) जाने वाले लौटते समय आन लाईन वापसी न दर्ज कराने वालो से पकडे जाने पर प्रतिदिन के हिसाब से जुर्माना वसूल किया जायेगा।

कस्टम नेपाल पर आये नये नियम के मुताबिक नेपाल के कस्टम मे अब सभी कार्य ई-वे बिल से होंगे तथा नेपाल की वादियो मे अपने निजी वाहनो से घूमने जाने वाले पर्यटको को अब वर्ष मे सिर्फ 30बार ही भंसार करवाकर नेपाल की यात्रा की अनुमति होगी ।

बताया जाता है कि भारत-नेपाल के रोटी-बेटी के सम्बन्धो के मद्देनजर नेपाल के सीमावर्ती सुपर मार्केट कृष्णानगर मे सुविधा पर्ची बनवाकर अपने निजी दुपहिया या चार पहिया वाहनो से मार्केटिंग करने वालो को सुविधा पर्ची लेने के बाद शाम को वापस लौटते समय भंसार मे सुविधा पर्ची आनलाइन जमा करना होगा। ऐसा न करने वाले लोग यदि फिर से दुबारा नेपाल के कस्टम मे सुविधा बनवाने जाते हैं तो उन पर प्रति दिन के हिसाब से जुर्माना वसूल किया जायेगा।

नेपाल सरकार के भारतीय सीमा पर इस कडे फरमान से इस क्षेत्र के सीमावर्ती व्यापारियो सहित आमजनो मे भारी क्षोभ है।

नेपाल के कपिलवस्तु जिले के राष्ट्रीय जनता पार्टी के जिलाअध्यक्ष राजकुमार चौधरी ने बताया कि नेपाल सरकार की इस नीति से जहाँ नेपाल सरकार के राजस्व व पर्यटन की क्षति होगी वही दोनो देशो के बीच रोटी वेटीवाले मधुर संबंधों मे मतभेद उत्पन्न होने की संभावनाएं प्रबल है। उन्होंने आशंका प्रगट की कहीं हम धीरे धीरे इस सीमा पर भी वीजा पासपोर्ट के तरफ तो नही बढ रहे हैं ।

नेपाल भंसार के वरिष्ठ लिपिक आत्मा राम ने बताया कल रविवार 18अगस्त से हमारा कस्टम कार्यालय आनलाईन हो गया है अब भारत से नेपाल आने जाने वालों को आनलाईन भंसार व कृष्णानगर जाने के लिए आनलाइन सुविधा पर्ची लेना होगा जिसे वापसी दर्ज कराना अनिवार्य किया गया है न करने पर प्रतिदिन के हिसाब से जुर्माना देना होगा ।

भारत नेपाल सीमा क्षेत्र के कई व्यापारियों ने नाम न छापने की शर्त पर कहा नेपाल के मौजूदा शासन मे भारत के प्रति अब अपनापन नही दिखता है लगता है भारत के प्रति नियम कानून कहीं और से संचालित किया जा रहा है।जबकि भारतीय क्षेत्र मे नेपाली न०प्लेट की गाडी लेकर विना भंसार इंटी् के सिद्धार्थनगर बस्ती बलरामपुर आदि नगरों मे लोग वेहिचक आते जाते हैं । जबकि भारतीय कस्टम पर भी गाडी इंटी् करवाकर केवल रेलवे स्टेशन तक ही जाने का नियम है पर यहाँ विना इंटी् के भाई चारा भावना से नेपालियों को बस्ती गोंडा मंडल तक जाने दिया जाता है ।