Home » यू पी/उत्तराखण्ड » संतकबीरनगर-उपचार व आपरेशन के लिए हृदय रोग से बीमार 7 बच्चो का होगा मुफ्त इलाज_रिपोर्ट विट्ठलदास

संतकबीरनगर-उपचार व आपरेशन के लिए हृदय रोग से बीमार 7 बच्चो का होगा मुफ्त इलाज_रिपोर्ट विट्ठलदास

संतकबीरनगर । जिले में चल रहे राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम की टीमों के द्वारा खोजे गए हृदय रोग...

संतकबीरनगर-उपचार व आपरेशन के लिए हृदय रोग से बीमार 7 बच्चो का होगा मुफ्त इलाज_रिपोर्ट विट्ठलदास
Share Post


संतकबीरनगर । जिले में चल रहे राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम की टीमों के द्वारा खोजे गए हृदय रोग से ग्रसित 7 बच्चों का मुफ्त में इलाज होगा। जरुरत पड़ी तो उनके हृदय की सर्जरी देश के प्रख्यात अस्पतालों में होगी। सीएमओ के निर्देशन में गहन जांच के बाद इन बच्चों को दो लाइफ सपोर्ट एम्बुलेन्स के जरिए लखनऊ भेजा गया। लखनऊ में इनका चेकअप होगा, जिसके बाद इनका इलाज और सर्जरी की जाएगी। राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम मे जिला कार्यक्रम समन्वयक पिण्टू कुमार के निर्देशन में जिले के नौ ब्लाकों में काम कर रही 18 टीमों में से खलीलाबाद ब्लाक की टीम ने 1, मेंहदावल ब्लाक की टीम ने 1, सांथा ब्लाक की टीम ने 2 तथा नाथनगर ब्लाक की टीम ने अपने खोजी कार्यक्रम के दौरान 3 ऐसे बच्चों को खोजा जो हृदय रोग से पीडित थे। इन 7 हृदय रोगियों की खोजबीन के बाद इनका स्थानीय स्तर पर इलाज कराया गया। जिन्हें स्थानीय चिकित्सकों ने किंग जार्ज मेडिकल कालेज लखनऊ के लिए रेफर कर दिया । रेफर कराने के बाद राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के नोडल तथा एसीएमओ आरसीएच डॉ मोहन झा व सीएमओ डॉ हरगोविन्द सिंह के निर्देशन में इन बच्चों को सोमवार को लाइफ सपोर्ट एम्बुलेन्स के जरिए उनके परिजनों के साथ लखनऊ भेजा गया। इस दौरान जिला सर्विलांस अधिकारी डॉ ए के सिन्हा, डॉ रचना यादव, डॉ आशुतोष, डॉ मकीन, ज्योति शर्मा, छाया आदि मौजूद रहे। इन 7 हृदय रोगी बच्चों को भेजा गया लखनऊ, बिक्रम पु्त्र बबलू (7 वर्ष) निवासी भेडिया उफ बकरिया, ब्लाक खलीलाबाद, बबली पुत्री राजू ( 8 वर्ष ) निवासी खजुरी, ब्लाक सांथा, इस्माइल पुत्र मरगूब अली ( 13 वर्ष ) निवासी राजेडीहा, ब्लाक सांथा, सत्यप्रकाश पुत्र विजय पाण्डेय ( 9 वर्ष ) निवासी ददरी हरदो, ब्लाक नाथनगर, श्रेयांशु पुत्र सुग्रीव ( 4 वर्ष 3 माह ) निवासी मोलनापुर, ब्लाक नाथनगर, अन्तिमा पुत्री धर्मेन्द्र ( 7 वर्ष ) निवासी मोहबरा, ब्लाक नाथनगर, राजमन पुत्र उदयराज ( 6 वर्ष ) निवासी भैंसामाफी, ब्लाक मेहदावल लाइफ सपोर्ट एम्बुलेन्स के जरिए भेजे गए बच्चे इन बच्चों और उनके परिजनों को लखनऊ तक जाने में कोई परेशानी न हो। इसलिए उनको एडवांस लाइफ सपोर्ट एम्बुलेन्स के जरिए भेजा गया है। यह एम्बुलेन्स उन सारे बच्चों को लखनऊ के किंग जार्ज मेडिकल कालेज में छोड़ देगी। लखनऊ के जिला कार्यक्रम समन्वयक इन सारे बच्चों को प्राथमिकता के आधार पर हृदय रोग विशेषज्ञ से चेक कराएंगे। जिन्हें दवा से ठीक होना होगा उन्हें दवाएं दी जाएंगी। तथा जिनको सर्जरी की आवश्यकता होगी उनको सर्जरी की डेट दी जाएगी। इसके बाद नियत समय पर उनकी सर्जरी होगी। अगर किसी बच्चे को हों ये रोग तो करें सम्पर्क आरबीएसके समन्वयक पिण्टू कुमार ने बताया कि अगर कोई बच्चा जिसकी उम्र 18 साल तक हो और उसके अन्दर जन्मजात विकृति ओठ और तालू कटे हुए हों, नाक कान गला सम्बन्धी विकृति हो, या फिर हृदय और कार्निया से सम्बन्धित रोग अगर कभी भी पकड़ में आएं तो अपने सम्बन्धित सीएचसी व पीएचसी में चले जाएं, या फिर जिला चिकित्सालय पर चले आएं वहां पर पूछ लें कि राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम की टीम कहां बैठती है। हर ब्लाक में दो टीमें हैं, किसी भी टीम से सम्पर्क हो जाएगा तो उसका पूरा इलाज मुफ्त होगा। ''राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम की टीम बेहतर कार्य कर रही है। इस टीम ने अभी तक दजनों रोगियों की जन्मजाज रोगों का इलाज कराया है। साथ ही साथ सैकड़ो बच्चों को लाकर स्थानीय और गोरखपुर मेडिकल कालेज के चिकित्सकों से उनका इलाज कराया है। यह सुविधा पूरी तरह से निशुल्क है। बालकों के हित को लेकर केन्द्र सरकार पूरी तरह से संकल्पित है। जिले में 18 साल से कम आयु के जो भी बच्चे आरबीएसके के अन्तर्गत आने वाले 38 बीमारियों से पीडित हैं वे आरबीएसके टीम से सम्पर्क कर सकते हैं।''