Home » यू पी/उत्तराखण्ड » संतकबीरनगर-माया सिंह के नेतृत्व में आशा वर्करो ने दिया डीएम व सीएमओ को ज्ञापन

संतकबीरनगर-माया सिंह के नेतृत्व में आशा वर्करो ने दिया डीएम व सीएमओ को ज्ञापन

संतकबीरनगर। राज्य महिला आशा स्वास्थ्य कार्यकत्री संघ की प्रान्तीय महामंत्री श्रीमती माया सिंह के...

संतकबीरनगर-माया सिंह के नेतृत्व में आशा वर्करो ने दिया डीएम व सीएमओ को ज्ञापन
Share Post


संतकबीरनगर। राज्य महिला आशा स्वास्थ्य कार्यकत्री संघ की प्रान्तीय महामंत्री श्रीमती माया सिंह के नेतृत्व में आशा कार्यकत्रियो ने 5 सूत्रीय मांग पत्र जिलाधिकारी एवं मुख्य चिकित्सा अधिकारी को सौपा है। जिलाधिकारी को दिये गये ज्ञापन में आशा कार्यकत्री माया सिंह, आशा देवी, सुषमा, सारिका, विन्द्रावती, श्रवनबाला, प्रियंका सिंह, माया सिंह, रेनू, मालती, पुष्पा यादव, पूनम सिंह, साधना सिंह, सीमा देवी, संगीता, मीरा, सीमा, दीपा, उर्मिला, अनारपति, गीता कहा है कि आशा वर्करो का मानदेय/पारिश्रमिक केन्द्र द्वारा मानदेय दुगुना करने का वादा किया गया था जो नही हुआ वही राज्य सरकार द्वारा मानदेय/पारिश्रमिक में साढ़े सात सौ रूपये बढोत्तररी करने का घोषणा किया गया था जो आज तक नही मिल रहा है। आशा वर्करो के शासन द्वारा निर्धारित पारिश्रमिक में भारी कटौती किया जा रहा है। जब कि आशा इन्सोलिब बुकलेट में तमाम मद निर्धारित कर अंकित है। लेकिन मद वाइज कार्य करने के बावजूद भुगतान बी0सी0पी0एम0 द्वारा कटौती कर लिया जा रहा है। पूछने पर कार्य मुक्त करने की धमकी दी जाती है। डयूटी कम धमकी अधिक दी जाती है। सरकार द्वारा चलाए जा रहे तमाम कार्यक्रमो की जानकारी आशाओ को दिए बिना ही कागजो में सिमट कर रह जा रहे है तथा कोई संसाधन जनहित में आशा वर्करो को नही दिया जा रहा है। जैसे दवा, काटन, नैपकीन, वनज मशीन, थर्मामीटर, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र बघौली में कोई जिम्मेदार चिकित्सक रात्रि निवास नही करते है। मात्र स्टाफ नर्सो के भरोसे अस्पताल चल रहा है। चिकित्सक के न रहने पर मरीजो के ले जाने पर रिस्क उठाना पड़ता है तथा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र बघौली में आशा संगिनी चमन की जानकारी नही दी गयी तथा जो कलस्टर बनाया गया वह गलत है जिससे मात्र आठ ही उपकेन्द्र के आशा वर्करो को लाभ दिया जा रहा है। धन लेकर कथाकथित आशा वर्करो का आवेदन लिया गया है जो निरस्त किया जाय।