Home » यू पी/उत्तराखण्ड » संतकबीरनगर- राष्ट्र को समर्पित है स्काउट/गाइड, अनुशासन की सीख है स्काउट-सविता_रिपोर्ट-बिट्ठल दास

संतकबीरनगर- राष्ट्र को समर्पित है स्काउट/गाइड, अनुशासन की सीख है स्काउट-सविता_रिपोर्ट-बिट्ठल दास

संतकबीरनगर। शिक्षा समाज एवं राष्ट्र की अमूल्य धरोहर है जिसकी परिधि में व्यक्ति स्वतः बदल जाता है।...

👤 Ajay11 Feb 2019 1:28 PM GMT
संतकबीरनगर- राष्ट्र को समर्पित है स्काउट/गाइड, अनुशासन की सीख है स्काउट-सविता_रिपोर्ट-बिट्ठल दास
Share Post


संतकबीरनगर। शिक्षा समाज एवं राष्ट्र की अमूल्य धरोहर है जिसकी परिधि में व्यक्ति स्वतः बदल जाता है। शिक्षा केा बिना व्यक्ति का जीवन अधूरा है। शिक्षा ही राष्ट्र एवं समाज का संचालन करती है। ये बातें जी0पी0एस0 स्नातकोत्तर महाविद्यालय के प्रबन्धक डा0 उदय प्रताप चतुर्वेदी ने बतौर मुख्य अतिथि कही। डाॅ0 चतुर्वेदी जी0पी0एस0 स्नातकोत्तर महाविद्यालय एवं शुभी देवी महिला महाविद्यालय के बी0एड0 द्वितीय वर्ष प्रशिक्षुओं के संयुक्त भारत स्काउट एवं गाइड द्वारा आयोजित पाॅच दिवसीय स्पेशल इण्टोडक्ट्री कोर्स रोवर्स/रेंजर्स के प्रशिक्षण एवं शिविर के समापन अवसर पर बोल रहे थे। उन्होने कहा शिक्षा व्यक्ति को संस्कृति एवं संस्कारो से जोड़ती है। शिक्षित युवा ही देश का भविष्य सुधार सकते है। यह प्रशिक्षण सामाजिकता एवं व्यक्तित्व विकास मार्ग प्रशस्त तो करती ही है तथा मनुष्य निर्माण की कार्यशाला भी है। विशिष्ट अतिथि शुभी देवी महिला महाविद्यालय के प्राचार्य डाॅ0 चिन्तामणि उपाध्याय ने कहा यह प्रशिक्षण देशप्रेम, देश की एकता एवं अखण्डता का पाठ सिखाता है। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए प्राचार्य डाॅ0 चन्द्र प्रकाश श्रीवास्तव ने कहा कि लक्ष्य प्राप्ति तक चलते रहे दृढ संकल्पित होकर देश के विकास में अपना योगदान दे। शिविराध्यक्ष गिरिजेश पाण्डेय ने कहा सीखे हुए प्रशिक्षण को दैनिक जीवन का हिस्सा बनाएॅ। इस पाॅच दिवसीय प्रशिक्षण शिविर में स्काउट एवं गाइड के प्रशिक्षको द्वारा प्रशिक्षुओं को ध्वज शिष्टाचार, प्राथमिक चिकित्सा, हाइकिंग, शिविर कला, गाॅठ बन्धन आदि के बारे उन्हे प्रशिक्षित किया गया। इसके पूर्व मुख्य अतिथि में प्रशिक्षुओं द्वारा बनाए गये शिविर तम्बू इत्यादि का निरीक्षण किया तथा बिना पात्र के भोजन बनाकर प्रशंसा के पात्र बनें। छात्रा सुधा चैहान, कु0 निरमा तथा कुसुम ने सरस्वती वन्दना एवं स्वागत गीत प्रस्तुत किए। कार्यक्रम का संचालन डा0 बी0एम0 वर्मा ने किया। इस दौरान एच खान, गोकरन पाठक, इरशाद आलम, अमित राय, प्रमोद यादव, बिपिन जोशी, सुमन चैबे, पूजा पाण्डेय, डा0 रवि प्रकाश माॅझी, कृष्णानन्द, गौरीशंकर, दीक्षा मौर्या, भीम प्रसाद, हरिश्चन्द्र यादव, सौरभी श्रीवास्तव, रमेश चन्द्र यादव, बबिता सहित शिक्षक-शिक्षकाए उपस्थित रही।


Read More