Home » यू पी/उत्तराखण्ड » मुरादाबाद:-नकल माफिया गिरफ्तार-मौके से बरामद हुई नकल सामाग्री_सागर रस्तोगी की रिपोर्ट

मुरादाबाद:-नकल माफिया गिरफ्तार-मौके से बरामद हुई नकल सामाग्री_सागर रस्तोगी की रिपोर्ट

मुरादाबाद:- उत्तर प्रदेश में योगी सरकार आने के बाद चल रही बोर्ड की परीक्षाओं में नक़ल रोकने के लिए...

👤 Ajay2017-03-29 16:41:52.0
मुरादाबाद:-नकल माफिया गिरफ्तार-मौके से बरामद हुई नकल सामाग्री_सागर रस्तोगी की रिपोर्ट
Share Post


मुरादाबाद:- उत्तर प्रदेश में योगी सरकार आने के बाद चल रही बोर्ड की परीक्षाओं में नक़ल रोकने के लिए पलिस प्रशासन लगा हुआ है इसी क्रम में मुरादाबाद में नक़ल की सूचना के बाद हरकत में आये शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने पुलिस के साथ थाना पाकबड़ा इलाके के एक इंटर कोलेज पर छापा मारा जहाँ अजीबो गरीब तरीके से नक़ल माफिया सामने आ गए आज इंटर मीदिएत का रसायन शास्त्र का पेपर था ,पलिस ने इस कोलेज के बाहर से कुछ लोगों को गरफ्तार कर लिया जो पूरा एक गैंग बनाकर नक़ल करा रहे थे ..उनके पास से आज की परिक्षा की उत्तर पुस्तका बरामद हुई जिन पर प्रश्न पात्र के उत्तर लिखे हुए थे इस पूरे मामले में संलिप्तता पाते हुए कोलेज के प्रधानाचार्य और परिक्षा प्रभारी सहित कुल 5 को गिरफ्तार कर उनके खिलाफ कार्यवाही शुरू कर दी गयी है और जो विद्यालय का प्रबंधक है वो फरार हो गया है शिक्षा विभाग के अधिकारियों के अनुसार कोलेज को दिबार करने की संस्तुति की जा रही है !

मुरादाबाद के थाना पाकबड़ा में अपराधियों की तरह खड़े ये सभी नक़ल माफिया हैं जिन्हें आज शिक्षा विभाग के अधिकारियों द्वारा नक़ल की सूचना मिलने के बाद मुरादाबाद के पाक बड़ा इलाके के जे एम् इंटर कोलेज [पर जहां इंटर मीडिएट की रसायन विज्ञान की परीक्षा चल रही थी वहां छापा मारा जहाँ कोलेज के बाहर मौके से अजीबो गरीब तरीके से नक़ल कराते हुए दो लोगों को पकड़ा और उनके पास से 6 उत्तर पुस्तिका बरामद हुई जिन पर आजे के प्रश्न पात्र के उत्तर लिखे हुए थे इन पकडे गए लोगों में एक उस छात्र का पिता भी था जो पेपर दे रहा था दूसरा वो था जो इन माफियाओं का एक सदस्य है जिसे इस काम के लिए रोजाना 500 रुपये मिलते थे जिनसे प्राप्त जानकारी के अनुसार इन्हें बाकायदा कोलेज के प्रबंधक जितेन्द्र द्वारा ये रकम मुहय्या कराई जाती थी पुलिस अधिकारी के अनुसार पहले तो ऊपर का कवर हटाकर उत्तर पुस्तिका बाहर भेज दी जाती थी जिस पर छात्र का पूरा विवरण होता है जो प्रधानाचार्य पकड़ा गया है वो अपने मोबाइल फोन से प्रश्न पात्र का फोटो खीचकर उसे बाहर भेज देता था और जो बाहर बैठे इस गंग के सदस्य होते थे ओ इन उत्तर पुस्तिकाओं पर उसे सोल्व करके अन्दर भेज देते थे .फिलहाल ये पूरा गंग हत्थे चढ़ गया है जो यहाँ काफी समय से सक्रिय था पकडे गए गिरोह के सदस्य ने कैमरे के सामने ये बभी कबूल किया है की इससे पहले भी ओ कई परीक्षाओं में इस तरह से नक़ल करा चुके हैं