Home » यू पी/उत्तराखण्ड » कौशाम्बी:- जेल में कैदी की रहस्य्मय मौत-जेल प्रशासन पर गम्भीर सवाल_रमेश कुशवाहा की रिपोर्ट

कौशाम्बी:- जेल में कैदी की रहस्य्मय मौत-जेल प्रशासन पर गम्भीर सवाल_रमेश कुशवाहा की रिपोर्ट

कौशाम्बी -- यूपी के कौशाम्बी जिला कारागार में एक सजायाफ्ता कैदी की रहस्मय हालत में मौत ने जेल...

👤 Ajay2017-03-20 16:01:46.0
कौशाम्बी:- जेल में कैदी की रहस्य्मय मौत-जेल प्रशासन पर गम्भीर सवाल_रमेश कुशवाहा की रिपोर्ट
Share Post

कौशाम्बी -- यूपी के कौशाम्बी जिला कारागार में एक सजायाफ्ता कैदी की रहस्मय हालत में मौत ने जेल प्रशासन पर सवाल खड़े कर दिए है | बताया जा रहा है कि जेल में सजा काट रहे 70 साल के कैदी देशराज को दो साल पहले एक हत्या के मामले में दोष सिद्ध पाये जाने के बाद अदालत ने उम्र कैद की सजा सुनाई थी | कैदी के मौत के बाद परिवार के लोग जेल प्रशासन पर इलाज न कराये जाने का गंभीर आरोप लगा रहे है | इस पूरे मामले पर जेल के अफसरों ने चुप्पी साध रखी है | कैदी की मौत के मामले पर फिलहाल जिला प्रशासन ने मजिस्ट्रेटी जाँच के आदेश दे दिए है |
जिला अस्पताल की जमीन पर पड़ा यह शव कौशाम्बी जिला जेल की व्यवस्था की पोल खोल रहा है | यह शव है हत्या के मुजरिम 70 साल के देशराज का | देशराज को जिला अदालत ने दो साल पहले मंझनपुर थाना इलाके में साल 1980 में हुयी हत्या के एक संगीन मामले का दोष-सिद्ध पाया था | जिसके बाद कोर्ट ने उसे उम्र कैद की सजा सुनाई थी | अभी सजा के दो साल ही बीते थे कि आज सुबह देशराज के घर वालो को जेल प्रशासन ने उसकी मौत की खबर दी | यह जानकारी होते ही घर वालो ने जेल के अफसरों पर अवैध रुपये की मांग पूरी न होने पर देशराज के इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाया | बेटे मोती लाल का कहना है कि अभी होली से पहले वह अपने पिता देशराज से जेल में मिलने गया था , तब उन्होंने जेल कर्मियों के द्वारा रुपये मागे जाने की बात बताई , इतना ही नहीं अपने बीमारी के बाबत इलाज न कराये जाने का भी आरोप जेल प्रशासन पर लगाया | रुपये न मिलने के कारण ही जेल कर्मियों ने कैदी देशराज का इलाज नहीं कराया | जिसके कारण ही उसके पिता की मौत हुयी है |

-कौशाम्बी जिला कारागार में सजा काट रहे वृद्ध कैदी देशराज की मौत पर सवाल खड़े होते ही जिला प्रशासन भी हरकत में आ आया | मृत मुजरिम देशराज के शव की जाँच करने वाले जिला अस्पताल के डाक्टर अखिलेश सिंह के मुताबिक जिस समय कैदी का शव अस्पताल लाया गया, उस समय उसके परिक्षण में वह मौत के मुह में जा चुका था | देशराज की मौत देश रात ही जेल में हो चुकी थी |