Home » यू पी/उत्तराखण्ड » शाहजहांपुर:- दबंगो के आगे लाचार पुलिस-दबंगो से यहाँ पिट रही है खाकी_अभिषेक सिंह चौहान की विशेष रिपोर्ट

शाहजहांपुर:- दबंगो के आगे लाचार पुलिस-दबंगो से यहाँ पिट रही है खाकी_अभिषेक सिंह चौहान की विशेष रिपोर्ट

शाजहांपुर:- ।यूपी मे अब खाकी भी महफूज़ नही है। दबंग अब पुलिस को भी सरेआम पीट कर चले जाते हैं और...

👤 Ajay2017-03-09 04:19:55.0
शाहजहांपुर:- दबंगो के आगे लाचार पुलिस-दबंगो से यहाँ पिट रही है खाकी_अभिषेक सिंह चौहान की विशेष रिपोर्ट
Share Post


शाजहांपुर:- ।यूपी मे अब खाकी भी महफूज़ नही है। दबंग अब पुलिस को भी सरेआम पीट कर चले जाते हैं और पुलिस उनकी पहुंच से काफी दूर नजर आती है ताजा मामला यूपी के शाहजहांपुर का है जहां चेकिंग के दौरान दबंगों ने महिला दरोगा और दो सिपाहियों को लाठी-डंडों से जमकर पीटा। जिसमे महिला दरोगा और दो सिपाही घायल हो गए। घटना के बाद मौके से आरोपी फरार हो गए। घटना के बाद पुलिस महकमे मे हङकंप मच गया। फिलहाल मौके पर पहुची पुलिस ने पूरे शहर मे चेकिंग अभियान शुरू कर दीया है और घायल महिला दरोगा और दोनो सिपाहीयों को जिला अस्पताल में भर्ती करा दिया है जहां उनका ईलाज किया जा रहा है। वहीं घायल पीड़ित महिला दरोगा का कहना है बीजेपी का झंडा लगी गाड़ी मे सवार होकर 10 से 12 लोग आए और खुद को बीजेपी प्रत्याशी चेतराम का बेटा बताते हुए उन पर हमला कर दिया। दबंगों के पास तमंचे भी थे। घायल दरोगा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी से पूछा है कि अभी तो सरकार नही बनी है तो इतनी गुंडागर्दी शुरू कर दी है अगर सरकार बन जाएगी तो क्या हम जैसे पुलिस कर्मी को ड्यूटी करने देंगे या नही इसका जवाब घायल दरोगा को नरेंद्र मोदी से चाहिए है।


घटना सदर बाजार थाना क्षेत्र के टाउन हाल की पास की है बुधवार की रात करीब आठ बजे थाने में तैनात महिला दरोगा सुषमा यादव सिपाही विपुल मलिक और दूसरा सिपाही अजेय मलिक टाउन हाल ही में पास दो पहिया वाहनों की चेकिंग कर रह थे। घायल महिला दरोगा सुषमा यादव ने बताया कि जिस वक्त वह चेकिंग कर रहे थे तभी एक बाईक सवार तीन लोग आए उनको जब गाङी चेक करने के लिए रोका तो वह उसमे से एक खुद को बीजेपी प्रत्याशी चेतराम कि बेटा बता रहा था। दरोगा की माने तो तीनो नाबालिग थे। इसलिए उनको हिदायत देकर छोङ दिया तभी उसमें विधायक का बेटा कुछ लोगों से फोन पर बात करते हुए चला गया कि मेरी गाड़ी कैसे रोक ली। दरोगा की माने तो उसके आधे घंटे बाद एक बोलेरो गाड़ी आई उसपर बीजेपी के झंडा लगा था। उसमे से 10 से 12 लाख मय लाठी-डंडे और तमंचे के साथ उतरे और उन पर हमला कर दिया। कुछ देर तक तो सभी लोग पुलिस कर्मियों पर लाठी-डंडे से हमला करते रहे। जिसमे महिला दरोगा और दो सिपाही घायल हो गए। घटना घटना बाद सभी गाड़ी में सवार होकर से फरार हो गए। घटना की सूचना पुलिस को मिलते हैं पर आलाधिकारी पर पहुच गए और घायलों को जिला अस्पताल मे भर्ती कराया गया है। साथ ही पुलिस न घटना के बाद गंभीरता से लेते हुए पूरे जिले मे चेकिंग अभियान शुरू कर दिया। लेकिन पुलिस इस मामले में अभी मीडिया को कुछ भी बता से कतरा रही है।


घायल महिला दरोगा सुषमा यादव ने सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी से सवाल किया है कि जब महिला वरदी पहनकर स्टार लगाकर सुरक्षित नही है बीजेपी प्रत्याशी चेतराम के बेटे इस कदर वरदी पहने महिलाओ पर लाठी-डंडे से हमला करके पीटते है। तो आम महिलाओं की सुरक्षा प्रधानमंत्री नरेंद्र कैसे करेगे अभी तो सरकार बनी नही है अगर सरकार बन जाएगी तो क्या महिलाओ को वर्दी पहनने नही देंगे क्या इसका जवाब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देना होगा।


वहीं ईएमओ डाक्टर अनुराग पराशर का कहना है कि एक महिला दरोगा और दो सिपाही को पुलिस ने भर्ती कराया गया है। महिला के शरीर पर कई चोटें लगी है जिससे लगता है कि उनपर लाठी-डंडे से हमला किया गया है और साथ ही सिपाहियों पर भी लाठी-डंडे से हमला किया गया। जिसमे सिपाही विपुल मलिक के हाथ मे काफी चोटें आई है जिनका इलाज किया जा रहा है। साथ ही घायलो का मेडिकल कराया जा रहा है।