Home » यू पी/उत्तराखण्ड » हापुड़:- अस्पताल से चिकित्सक नदारद,भटकते रहे मरीज -रेबीज का इंजेक्शन लगाने के लिए घंटों करना पड़ा इंतजार-चिकित्सक पर सीएम व सीएमओं के आदेशों की अवहेलना करने का आरोप_अवनीश पाल की लाइव पड़ताल

हापुड़:- अस्पताल से चिकित्सक नदारद,भटकते रहे मरीज -रेबीज का इंजेक्शन लगाने के लिए घंटों करना पड़ा इंतजार-चिकित्सक पर सीएम व सीएमओं के आदेशों की अवहेलना करने का आरोप_अवनीश पाल की लाइव पड़ताल

हापुड़ - त्तर प्रदेश सरकार द्वारा समय-समय पर अधिकारियों को निर्देश दिये जाते है। समय पर अपने...

👤 Ajay2017-03-08 12:05:14.0
हापुड़:- अस्पताल से चिकित्सक नदारद,भटकते रहे मरीज -रेबीज का इंजेक्शन लगाने के लिए घंटों करना पड़ा इंतजार-चिकित्सक पर सीएम व सीएमओं के आदेशों की अवहेलना करने का आरोप_अवनीश पाल की लाइव पड़ताल
Share Post



हापुड़ - त्तर प्रदेश सरकार द्वारा समय-समय पर अधिकारियों को निर्देश दिये जाते है। समय पर अपने कार्यालयों में बैठकर जनता की समस्याओं को सुनकर उनका समाधान करें। लेकिन पिलखुवा स्थित राजकीय चिकित्सालय में तैनात चिकित्सक के लिए सीएम के आदेश कोई मायने नहीं रखते है। उसके कार्यालय से नदारद करने के कारण मरीजों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है। बुधवार को चिकित्सक के नदारद होने से मरीज को इंजेक्शन लगवाने के लिए घंटों इंतजार करना पड़ा।
पिलखुवा के रेलवे रोड पर राजकीय चिकित्सालय संचालित है। जिसमें चिकित्सक के रूप में ब्रहम दयाल तैनात है। आरोप है,कि चिकित्सक द्वारा मुख्यमंत्री अखिलेश यादव व मुख्य चिकित्साधिकारी के लिए कोई मायने नहीं रखते है। वह जनता से मिलने के समय में कार्यालय से नदारद रहते है। जिस कारण अस्पताल पहुंचने वाले मरीजों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है। बुधवार की सुबह करीब 10.10 बजे चिकित्सक ब्रहम दयाल अपने कार्यालय से नदारद थे। और कार्यालय के बाहर गांव हावल निवासी रिहाना पत्नी अरशद मेडिकल कराने आयी थी। इसके अलावा पिलखुवा के मोहल्ला न्यू आर्यनगर निवासी राकेश अस्पताल रेबीज का इंजेक्शन लगवाने पहुंचा,लेकिन चिकित्सक कार्यालय से गायब थे।
काफी देर तक चिकित्सक के कार्यालय में नहीं पहुंचने पर मरीजों ने हंगामा करना शुरू कर दिया। इसके बावजूद भी चिकित्सक वहां नहीं पहुंचा। मीडियाकर्मियों के अस्पताल में पहुंचने की जानकारी मिलने चिकित्सक मौके पर पहुंचे। पीडि़त मरीज को रेबीज का इंजेक्शन लगवाने व महिला को मेडिकल कराने के लिए घंटों इंतजार करना पड़ा। इस सम्बंध में चिकित्सक ब्रहम दयाल का कहना है,कि अस्पताल में दूसरे कर्मचारियों की छुट्टी पर जाने के कारण उन्हें दूसरे कार्य करने पड़ रहे है। जिस कारण मरीजों को घंटों नहीं केवल आधा घंटा इंतजार करना पड़ा है।