Home » यू पी/उत्तराखण्ड » रामपुर:- दो दरोगा समेत तीन पुलिस कर्मियों को कोर्ट ने किया तलब-हो सकती है जेल _जीशान खां की रिपोर्ट

रामपुर:- दो दरोगा समेत तीन पुलिस कर्मियों को कोर्ट ने किया तलब-हो सकती है जेल _जीशान खां की रिपोर्ट

रामपुर - उत्तर प्रदेश जिला रामपुर में आज भारतीय किसान यूनियन नेता के घर में घुसकर मारपीट , तोड़फोड़...

👤 Ajay2017-03-07 10:43:22.0
रामपुर:- दो दरोगा समेत तीन पुलिस कर्मियों को कोर्ट ने किया तलब-हो सकती है जेल _जीशान खां की रिपोर्ट
Share Post


रामपुर - उत्तर प्रदेश जिला रामपुर में आज भारतीय किसान यूनियन नेता के घर में घुसकर मारपीट , तोड़फोड़ जान से मारने की धमकी के इल्ज़ाम में दो दारोगा सहित तीन पुलिस कर्मी फंस गए हैं। कोर्ट ने नेता की शिकायत पर दर्ज परिवाद में तीनों को तलब कर लिया है। सम्बंधित पुलिस कर्मियों को कोर्ट ने आदेश दे कर तलब कर लिया है। वारसी ने अदालत में प्रार्थना पत्र दिया था। जिसमें कहा कि पिछले साल केमरी थाना पुलिस ने एक नालाबिग को झूठे मामले में पकड़ लिया था। उन्होंने पुलिस से उसे छोड़ने के लिए कहा, जिस पर पुलिस ने 40 हजार रुपये रिश्वत मांगी थी।
रुपये देने पर पुलिस ने थाने में उनके साथ मारपीट की।उसके बाद इस घटना की शिकायत पुलिस अधीक्षक से की गई। पुलिस अधीक्षक ने तत्कालीन केमरी थाना प्रभारी राजेंद्र प्रसाद का तबादला कर दिया। इसके अलावा दारोगा अमित मान को लाइन हाजिर और सिपाही रंजीत को निलंबित कर दिया था। इससे आरोपी पुलिस कर्मी रंजिश मानने लगे। झूठे मुकदमे में जेल भिजवाने की धमकी देने लगे।
30 अगस्त 2016 को रात करीब आठ बजे तीनों आरोपी दो अन्य पुलिस कर्मियों के साथ उनके घर में घुस आए। मारपीट और तोड़फोड़ की। उनकी पत्नी बचाने आई तो उसके साथ भी मारपीट की। कपड़े फाड़ दिए। आरोपी पुलिस कर्मियों ने घर में रखे 22 हजार रुपये और करीब दो लाख रुपये का जेवर लूट लिया। भाकियू नेता घटना की शिकायत करने थाने गया। एसपी को प्रार्थना पत्र दिया ।लेकिन पुलिस ने कार्रवाई नहीं की, मजबूरन उन्होंने अदालत में अधिवक्ता मोहम्मद रेहान खां के माध्यम से प्रार्थना पत्र दिया। अधिवक्ता की दलीलें सुनने के बाद अदालत ने तत्कालीन केमरी थाना प्रभारी समेत दारोगा और सिपाही को तलब कर लिया है। अदालत 17 मार्च को सुनवाई करेगी।