Home » यू पी/उत्तराखण्ड » शाहजहांपुर:- आईजी रूल्स एन्ड मैनुअल्स अमिताभ ठाकुर का बड़ा बयान-यूपी पुलिस की कार्यप्रणाली पर अमिताभ ने उठाये गम्भीर सवाल_अभिषेक सिंह चौहान की रिपोर्ट

शाहजहांपुर:- आईजी रूल्स एन्ड मैनुअल्स अमिताभ ठाकुर का बड़ा बयान-यूपी पुलिस की कार्यप्रणाली पर अमिताभ ने उठाये गम्भीर सवाल_अभिषेक सिंह चौहान की रिपोर्ट

शाहजहांपुर:- उत्तर प्रदेश के आईजी रूल्स एंड मैनुअलस अमिताभ ठाकुर आज शाहजहांपुर पहुचे। जहां...

👤 Ajay2017-03-05 12:38:43.0
शाहजहांपुर:- आईजी रूल्स एन्ड मैनुअल्स अमिताभ ठाकुर का बड़ा बयान-यूपी पुलिस की कार्यप्रणाली पर अमिताभ ने उठाये गम्भीर सवाल_अभिषेक सिंह चौहान की रिपोर्ट
Share Post


शाहजहांपुर:- उत्तर प्रदेश के आईजी रूल्स एंड मैनुअलस अमिताभ ठाकुर आज शाहजहांपुर पहुचे। जहां उन्होंने एक प्रेस कांफ्रेंस की जहां उन्होंने यूपी पुलिस पर बङे सवालिया निशान खड़े किए। उनका कहना है कि यूपी पुलिस को एक नई दिशा की जरूरत है। यूपी पुलिस पर सत्ता के बङा दवाब रहता है ये इसलिए कहे रहे है क्योंकि ये उनके उपर गुजर चुकी है। यूपी मे दो पर्चे लीक है हुए थे जिनमे उन्होने थाने से लेकर डीआईजी तक के चक्कर लगाए थे उसके बाद भी एफआईआर दर्ज नहीं हुई थी। जिसके बाद उन्होंने कोर्ट का सहारा लिया। तब जाकर मुकदमा दर्ज किया जा सका लेकिन अभी तक उस मामले मे कोई जांच नही की जा सकी है। वहीं गायत्री प्रजापति पर बोलते हुए कहा कि राजनैतिक दवाब के चलते उनकी गिरफ्तारी नही है रही है। पुलिस चाहे तो एक घंटे मे गायत्री को गिरफ्तार कर सकती है। वहीं पत्नी नूतन ठाकुर ने कहा कि आने वाली 11 तारीख गायत्री प्रजापति की गिरफ्तारी मे बङी भूमिका तय करेगी।


दरअसल आज आईजी रूल्स एंड मैनुअलस अमिताभ ठाकुर शाहजहांपुर पहुचे साथ ही उनके साथ पत्नी नूतन ठाकुर भी मौजूद थी। अमिताभ ठाकुर ने एक होटल में पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश मे पुलिस अपना सही से काम नहीं कर पा रही है। गरीब लोगो पर रसूख वाले लोग जुल्म करते है और जब पीड़ित थाने जाता है तो पुलिस के साथ मिलकर रसूख वाले लोग उनको प्रलोभन देकर मामले को दबा देते है। यही कारण है कि पुलिस को एक नई दिशा की जरूरत है जिसके लिए वह काम कर रहे हैं। इससे पहले सबने देखा शाहजहांपुर का पत्रकार जगेंद्र हत्याकांड जिसमे उस पत्रकार के परिवार की कहीं नही सुनी गई। जब उस मामले मे मुकदमा दर्ज हुआ तो उस गरीब परिवार को लखनऊ मे बुलाकर प्रलोभन देकर मामले को शांत करा दिया गया।


साथ ही जब यूपी मे दो पर्चे लीक हुए तो किसी ने इस ओर ध्यान नही दिया लेकिन जब उन्होंने इस मामले मे थाने जाकर रिपोर्ट लिखवाना चाहा तो उनकी भी नही सुनी गई उसके बाद उन्होंने एसपी से लेकर डीआईजी तक चक्कर लगाए लेकिन उनकी कहीं नही सुनी गई जिसके बाद उन्होंने कोर्ट का सहारा लिया तब जाकर मुकदमा लिखने के आदेश हुए लेकिन अभी तक उस मामले विवेचना अभी तक शुरू नही हुई। क्योंकि पर्चा लीक मामले मे काफी रसूख वाले और बङी पहुच वालो के नाम है इसलिए उस मामले में कोई कार्यवाही नही की गई थी।


वहीं गायत्री प्रजापति गिरफ्तारी की गिरफ्तारी पर बोलते हुए कहा कि राजनैतिक दवाब के चलते गायत्री प्रजापति को गिरफ्तार नही किया जा रहा है। पुलिस को पता होता है कि गायत्री प्रजापति कहां है लेकिन उनको पकङने से पहले गायत्री प्रजापति को मैसेज पहुच जाते हैं। यही कारण है कि पुलिस उन्हें गिरफ्तार नहीं करना चाहती है। पुलिस पर नेताओ के दवाब है जो नही होना चाहिए पुलिस चाहे तो एक घंटे के अंदर गायत्री को गिरफ्तार कर सकती है। वहीं एलआईयू पर बोलते हुए कहा कि एलआईयू अब नेताओ को रिपोर्ट करती है।अमिताभ ठाकुर का कहना है कि उनके उपर रेप का मुकदमा दर्ज है वह अपनी गिरफ्तारी देने गए थे। लेकिन उनको गिरफ्तार नही किया जा रहा है। इसलिए उत्तर प्रदेश पुलिस मे एक बङी सुधार की जरूरत है।


वहीं पत्नी नूतन ठाकुर का कहना है कि क्या जिन नेताओ के पास y श्रेणी की सुरक्षा होती है क्या पुलिस उनको गिरफ्तार नहीं करती है। जबकि अभी भी पीड़िता को धमकाया जा रहा है। उनका कहना है कि आने वाली 11 तारीख गायत्री की गिरफ्तारी मे बङी भूमिका तय करेगी।