Home » यू पी/उत्तराखण्ड » हापुड़ - स्टेशन अधीक्षक के सामने रेल यात्रियों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ -मॉडल स्टेशन पर यात्रियों को बेचे जा रहे घटिया क़्वालिटी के समोसे-समोसे बनाने में हो रहा घरेलू गैस सिलेंडरों का उपयोग -ठेकेदा�

हापुड़ - स्टेशन अधीक्षक के सामने रेल यात्रियों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ -मॉडल स्टेशन पर यात्रियों को बेचे जा रहे घटिया क़्वालिटी के समोसे-समोसे बनाने में हो रहा घरेलू गैस सिलेंडरों का उपयोग -ठेकेदा�

हापुड़ - मॉडल स्टेशन के सरकारी क्वाटर को किराये पर लेकर ठेकेदार द्वारा घटिया क़्वालिटी के समोसे...

👤 Ajay2017-03-01 13:49:00.0
हापुड़ - स्टेशन अधीक्षक के सामने रेल यात्रियों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ -मॉडल स्टेशन पर यात्रियों को बेचे जा रहे घटिया क़्वालिटी के समोसे-समोसे बनाने में हो रहा घरेलू गैस सिलेंडरों का उपयोग -ठेकेदा�
Share Post



हापुड़ - मॉडल स्टेशन के सरकारी क्वाटर को किराये पर लेकर ठेकेदार द्वारा घटिया क़्वालिटी के समोसे तैयार कर,उन्हें बेचकर रेल यात्रियों के स्वास्थ्य से वर्षों से खिलवाड़ कर रहा है। साथ ही ठेकेदार द्वारा समोसे तैयार करने में
प्रतिबंधित घरेलू गैस सिलेंडरों का उपयोग किया जा रहा है। जिसकी भनक स्टेशन अधीक्षक व रेलवे स्वास्थ्य निरीक्षक को नहीं लग सकी है। ठेकेदार के कर्मचारियों को घटिया क़्वालिटी के समोसे बनाने के नजारे को Uttarpradesh.org संवादाता ने अपने कैमरे में कैद कर लिया जिससे कर्मचारियों में अफरा-तफरी मच गयी।
मिली जानकारी के अनुसार स्थानीय रेलवे स्टेशन को वर्ष 2009 में तत्कालीन केन्द्रीय रेलमंत्री ममता बनर्जी ने मॉडल स्टेशन का नाम दिया था। रेलवे अधिकारियों के सख्त निर्देश है,कि स्टेशन पर घटिया क़्वालिटी के खाद्य पदार्थ व पेय पदार्थ बेचने आदेश है। आदेशों का कितना पालन स्थानीय अधिकारियों द्वारा किया जाता है,इसका पता लगाने के लिए रेलवे के उच्च अधिकारियों द्वारा स्टेशनों का निरीक्षण भी किया जाता है।
इसके बावजूद भी स्थानीय मॉडल स्टेशन पर स्टेशन अधीक्षक व स्वास्थ्य निरीक्षक की नाक के सामने एक ठेकेदार के कर्मचारी प्रतिदिन रेल यात्रियों को घटिया क्वालिटी के समोसे बेचकर उनके स्वास्थ्य से खिलवाड़ कर रही है।
स्टेशन पर घटिया क्वालिटी के समोसे कहां तैयार हो रहे है,इसका पता लगाने के लिए संवाददाता स्टेशन पर एक रेलवे क्वार्टर पर पहुंचे,तो वहां देखा कुछ लोग घटिया क्वालिटी के समोसे तैयार कर रहे है,कुछ वहां पहले से तैयार रखे थे। और समोसे बनाने में घेरलू गैस सिलेंडर का उपयोग हो रहा है। इस नजारे को कैमरामैन ने अपने कैमरे में कैद कर लिया। जिससे कर्मचारियों में अफरा तफरी मची हुई है। कर्मचारियों ने बताया कि ठेकेदार का नाम सुमित है। जिसने क्वार्टर नंबर ई-12ए रेलवे कर्मचारी से किराये पर ले रखा है।
इस सम्बंध में स्टेशन अधीक्षक वीरेन्द्र सिंह ने बताया कि रेलवे कर्मचारी द्वारा क्वार्टर किराये पर देने,क्वार्टर में घटिया क्वालिटी के समोसे तैयार करने के सम्बंध में उन्हें कोई जानकारी नहीं है। वह इस मामले की जांच करायेंगे।
-------------
मॉडल स्टेशन पर केंटीन सील की थी
करीब तीन माह पूर्व मुरादाबाद डिवीजन के डीआरएम ने स्थानीय मॉडल स्टेशन का निरीक्षण किया था। निरीक्षण के दौरान केंटीन में साफ सफाई नहीं मिलने व घटिया क्वालिटी के पदार्थ मिलने पर केंटीन को सील करा दिया था।
------

हार्ट प्रॉब्लम हो सकती है:डा पराग
शहर के प्रसिद्घ चिकित्सक डा.पराग शर्मा ने बताया कि घटिया क्वालिटी के खाद्य पदार्थ खाने से मोटापा,शुगर बढऩे के साथ-साथ हार्ट में परेशानी हो सकती है। घटिया क्वालिटी की चीजों को खाने से बचना चाहिए।