Home » यू पी/उत्तराखण्ड » हापुड़:- एलईडी लाइटों से कब जगमगायेगा मेरठ रोड फ्लाई ओवर?-लाइट नहीं लगने से हो रही सडक़ दुर्घटनाएं,कई लोगों की हो चुकी है मौत-छह माह पूर्व जिलाधिकारी ने नपा ईओ को दिये थे लाइटें लगवाने के निर्देश_अवनी�

हापुड़:- एलईडी लाइटों से कब जगमगायेगा मेरठ रोड फ्लाई ओवर?-लाइट नहीं लगने से हो रही सडक़ दुर्घटनाएं,कई लोगों की हो चुकी है मौत-छह माह पूर्व जिलाधिकारी ने नपा ईओ को दिये थे लाइटें लगवाने के निर्देश_अवनी�

हापुड़-जनपद से गुजर रहे दोनों राष्टï्रीय राजमार्ग पर बीते वर्ष में करीब पांच दर्जन लोगों की जिन्दगी...

👤 Ajay2017-02-28 15:34:23.0
हापुड़:- एलईडी लाइटों से कब जगमगायेगा मेरठ रोड फ्लाई ओवर?-लाइट नहीं लगने से हो रही सडक़ दुर्घटनाएं,कई लोगों की हो चुकी है मौत-छह माह पूर्व जिलाधिकारी ने नपा ईओ को दिये थे लाइटें लगवाने के निर्देश_अवनी�
Share Post

हापुड़-जनपद से गुजर रहे दोनों राष्टï्रीय राजमार्ग पर बीते वर्ष में करीब पांच दर्जन लोगों की जिन्दगी लील गये हैं। जबकि 50 से अधिक लोग घायल हो चुके हैं। इस हापुड़ बाईपास पर मेरठ रोड स्थित फ्लाई ओवर पर लाइटें नहीं लगी होने के कारण आये दिन सडक़ हादसे हो रहे है। लोग दोनों स्थानों पर पिछले एक वर्ष से लाइटेें लगवाने की मांग कर रहे है। इसके बावजूद भी अधिकारियों ने कोई शुद्घ नहीं ली है। आपको बता दें कि यातायात पुलिस एवं राष्टï्रीय राजमार्ग प्राधिकरण केवल स्लोगनों पर ही विश्वास रखता हंै। जिस कारण राजमार्ग पर जगह जगह आपको स्लोगन व होर्डिंग पर पढऩे को मिलेगा कि वाहन धीरे चलाये,सुरक्षित पहुंचे और यातायात के नियमों का पालन करें। दूसरी और सडक़ों पर वाहनों की संख्या बढ़ती ही जा रही हैं। जो कि सडक़ दुघर्टनाओं को बढ़ाने में सहायक सिद्घ हो रही हैं। साथ ही प्रत्येक व्यक्ति के सिर पर बोझा इतना बढ़ गया कि सभी को अपने स्थान पर पहुंचने की जल्दबाजी रहती हैं। इसका अंदाजा आप इसी से लगा सकते है कि वर्ष 2016 में पांच दर्जन लोगों की मौत हुई,जबकि 50 से अधिक लोग घायल हुए है। घायलों को उपचार के लिए अस्पताल की शरण लेनी पड़ी हैं। इन घटनाओं में अधिकांश सडक़ दुघर्टनाएं जल्दबाजी के कारण घटित हुई हंै। तो कुछ नेशनल हाइवे 24 व 235 पर विभिन्न स्थानों पर बने कट व लाइटें नहीं लगी होने कारण हो रही है।
जनपदवासी हापुड़ बाईपास व मेरठ रोड स्थित फ्लाई ओवर पर लाइटें लगवाने की मांग करते आ रहे है। इसके बावजूद भी अधिकारियों ने इस ओर ध्यान देना उचित नहीं समझा है। ऐसा लगता है अधिकारी किसी बड़ी घटना का इंतजार कर रहे है। दोनों स्थानों पर लाइटें लगवाने के लिए पत्रकारों ने भी डीएम से मांग की थी। जिलाधिकारी
अनिल ढींगड़ा का कहना कि मेरठ रोड स्थित फ्लाई ओवर पर लाइटें लगाने के लिए नगर पालिका परिषद के अधिशासी अधिकारी व राष्टï्रीय राजमार्ग प्राधिकरण अधिकारियों से वार्ता की जायेगी।