Home » यू पी/उत्तराखण्ड » हापुड़:- दो इंजन के फोन डोल तारों की चपेट में आने से एक बड़ा हादसा होते-होते बच गया_अवनीश पाल की विशेष रिपोर्ट

हापुड़:- दो इंजन के फोन डोल तारों की चपेट में आने से एक बड़ा हादसा होते-होते बच गया_अवनीश पाल की विशेष रिपोर्ट

हापुड़ - मुरादाबाद से गाजियाबाद ले जा रहे रेल के दो इंजन के फोन डोल तारों की चपेट में आ गया। जिससे...

👤 Ajay2017-02-28 15:26:22.0
हापुड़:- दो इंजन के फोन डोल तारों की चपेट में आने से एक बड़ा हादसा होते-होते बच गया_अवनीश पाल की विशेष रिपोर्ट
Share Post



हापुड़ - मुरादाबाद से गाजियाबाद ले जा रहे रेल के दो इंजन के फोन डोल तारों की चपेट में आ गया। जिससे के एक बड़ा हादसा होते-होते बच गया। लेकिन घटना से कई एक्सप्रेस सहित एक दर्जनों गई। रेलवे कर्मियों की करीब दो घंटे की मशक्कत के बाद इन इंजनों को गाजियाबाद के लिए रवाना किया। जिसके बाद सभीट्रेन अपने-अपने गंतव्य की तरफ रवाना हुइ।जानकारी के अनुसार रेलवे द्वारा मुरादाबाद से गाजियाबाद रेल को दो इंजनों को एक साथ ले जाया जा रहा था। जब उन्होंने करीब तीन बजे बाबूगढ़ रेलवे

स्टेशन पार किया तो अचानक उनमें कोई गढ़बढ़ी का अंदेशा हुआ। जब वहï यहï इंजन हापुड़ रेलवे स्टेशन के आउटर पर पहुंचे तो इनका फोन डोल बिजली तारों की चपेट में आ गए। जिससे दोनों इंजन ट्रक पर ही खड़े हो गए। जैसे ही घटना ही जानकारी रेलवे कर्मियों को हुई। तो उनमें अफरातफरी मच गई और आननफानन में बड़ी संख्या में रेलवे के अधिकारी व कर्मचारी मौके पर पहुंच गए और
करीब ढाई घंटे की कड़ी मशक्कत करने पर समस्या का हïल किया। जिसके बाद दोनों इंजन अपने गंतव्य की तरफ रवाना हो गए। हालांकि इस दौरान दर्जनों रेलों को जहां-तहां रोक दिया गया। ट्रेनों के आवागमन में बाधा आने से लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। रेलवे स्टेशन के अधीक्षक विरेंद्र सिंहï ने बताया तकनीकी खराबी के कारण यहï बाधा आई थी। जिसको ठीक कराकर पूरा यातायात सुचारू करा दिया गया है।