Home » खेलजगत » संतकबीरनगर- प्रभा देवी स्पोर्ट्स एकेडमी के बैनर तले आयोजित हुए दंगल का उद्घाटन करने पहुंचे कैबिनेट मंत्री ने किया मुकाबले का उद्घाटन _रिपोर्ट-अजय श्रीवास्तव

संतकबीरनगर- प्रभा देवी स्पोर्ट्स एकेडमी के बैनर तले आयोजित हुए दंगल का उद्घाटन करने पहुंचे कैबिनेट मंत्री ने किया मुकाबले का उद्घाटन _रिपोर्ट-अजय श्रीवास्तव

संतकबीरनगर- प्रभा देवी स्पोर्ट्स एकेडमी द्वारा आयोजित अंतर्जनपदीय कुश्ती मुकाबले का कैबिनेट मंत्री...

संतकबीरनगर- प्रभा देवी स्पोर्ट्स एकेडमी के बैनर तले आयोजित हुए दंगल का उद्घाटन करने पहुंचे कैबिनेट मंत्री ने किया मुकाबले का उद्घाटन _रिपोर्ट-अजय श्रीवास्तव
Share Post


संतकबीरनगर- प्रभा देवी स्पोर्ट्स एकेडमी द्वारा आयोजित अंतर्जनपदीय कुश्ती मुकाबले का कैबिनेट मंत्री सूर्यप्रताप शाही ने फीता काटकर उद्घाटन किया। गौरतलब हो कि पूर्वांचल से विलुप्त होने के कगार पर खड़े पारम्परिक खेल कुश्ती को बढ़ावा देने के उद्देश्य से प्रभा देवी स्पोर्ट्स एकडेमी ने शिव शंकर चतुर्वेदी विद्यालय टुंगपार में महादंगल का आयोजन किया था जिसमे गोरखपुर बस्ती और संतकबीरनगर जिले के पहलवानों ने हिस्सा लिया। इस प्रतियोगिता में बतौर मुख्यातिथि पहुंचे योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री सूर्यप्रताप शाही ने फीता काटकर इसका शुभारंभ किया। विदित हो कि प्रभा देवी स्पोर्ट्स एकेडमी जिले का सबसे पहला ऐसा स्पोर्ट्स एकेडमी है जो ग्रामीण स्तर पर छुपी खेल प्रतिभागियों को राष्ट्रीय/अंतरराष्ट्रीय मंच प्रदान करने के प्रति कटिबद्ध है। खलीलाबाद ब्लाक के टुंगपार में आयोजित महा दंगल प्रतियोगिता में क्षेत्रीय पहलवानों के अलावा पूर्वांचल के नामी गिरामी पहलवानों ने एक दूसरे से जोरआजमाइश कर उपस्थित दर्शकों का मन मोहा। टुंगपार के इस महादंगल का संचालन जहां उमेश राय ने किया वहीं निर्णायक की भूमिका में ओम प्रकाश राय और शत्रुघ्न राय ने भी अपनी जिम्मेदारी का बखूबी निर्वहन किया। कुश्ती प्रतियोगिता में कई चक्र लडने के बाद अपने स्थान को पाने वाले पहलवानों में 45 किलो भारवर्ग में गोरखपुर रेलवे के पहलवान राहुल यादव प्रथम और स्टेडियम के ही अमित पासवार को दूसरा स्थान प्राप्त हुआ। इसके अलावा 51 किलो भारवर्ग में स्टेडियम के अभिलाष यादव को प्रथम स्थान प्राप्त हुआ। वहीं नीतीष पासवान को दूसरा स्थान प्राप्त हुआ। 55 किलो भारवर्ग में हैंसर के कठवतिया के पहलवान रामसिंह को प्रथम और गोरखपुर स्टेडियम के दुर्गा यादव को दूसरा स्थान प्राप्त हुआ। 61 किलो भारवर्ग में मोलनापुर के सोनू यादव को प्रथम व स्टेडियम के हैदर को दूसरा स्थान प्राप्त हुआ। 65 किलो भारवर्ग में प्रवीण सिंह बेलवा को प्रथम व आकाश यादव स्टेडियम को दूसरा स्थान प्राप्त हुआ। 75 किलो भारवर्ग में गोरखपुर स्टेडियम के महेन्द्र को प्रथम स्थान व रेवटा के वेद प्रकाश राय को दूसरा स्थान प्राप्त हुआ। सबसे अंतिम और रोमांचित महादंगल कुश्ती मुकबला पूर्वांचल केसरी के खिलाब के लिए हुई। इस महादंगल में गोरखपुर रेलवे के अमरनाथ ने स्टेडियम के राजन मिश्र को आसमान दिखाकर पूर्वांचल केसरी का खिताब अपने नाम कर लिया। वहीं तीसरे और चौथे स्थान पर क्रमश: रेलवे के शैलेश और महाराजगंज के जीतेन्द्र रहे।

आपको बताते चले कि प्रभा देवी स्पोर्ट्स एकेडमी के निदेशक वैभव चतुर्वेदी के बुलावे पर टुंगपार पहुंचे कैबिनेट मंत्री का लोगों ने जोरदार स्वागत किया। ग्रामीण क्षेत्र में कुश्ती खेल को बढ़ावा देने के लिए कैबिनेट मंत्री ने खुले मन से आयोजक वैभव चतुर्वेदी की प्रशंसा करते हुए कहा कि प्रभा देवी स्पोर्ट्स एकेडमी के निदेशक वैभव चतुर्वेदी बधाई के पात्र है जिन्होंने छुपी खेल प्रतिभाओ को उजागर करने का प्रयास किया है ।

क्या कुछ कहे कैबिनेट मंत्री सूर्यप्रताप शाही?

टुंगपार में आयोजित दंगल को सम्बोधित करते हुए कैबिनेट मंत्री सूर्यप्रताप शाही ने सबसे पहले स्पोर्ट्स एकेडमी प्रभा देवी के निदेशक को शुभकामना देते हुए कहा कि इस तरह के आयोजनों को करने वाले स्पोर्ट्स एकेडमी के निदेशक वैभव चतुर्वेदी पूर्वांचल में जिस तरह से पारम्परिक खेल को बढ़ावा दे रहे है वो वाकई में काबिलेतारीफ है। श्री शाही ने इसके आगे अपने सम्बोधन में कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकार नौजवान, किसान, खिलाड़ी के विकास को लगातार कदम उठा रही है। केंद्र सरकार ने अपने बजट में भी इसका ख्याल रखा है। अब खिलाड़ी बेकार नहीं रहेंगे, उन्हें हम आगे बढ़ाएंगे। विभिन्न विधा के खेलों को प्रोत्साहन देने के लिए सरकार ने अलग से व्यवस्था किया है। सरकारी नौकरियों में खिलाड़ियों को अब दो प्रतिशत आरक्षण मिलेगा। उक्त बातें प्रदेश सरकार के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने रविवार को टुंगपार में आयोजित महादंगल के शुभारंभ अवसर पर कही।

उन्होंने कहा कि ओलंपिक खेल में गोल्ड जीतने वाले खिलाड़ियों को सरकार छह करोड़, सिल्वर जीतने वालों को चार करोड़ और कांस्य जीत कर आने वालों को तीन करोड़ देगी। इसके अलावा आलंपिक तक पहुंचने वालों को भी मदत किया जाएगा। कामन वेल्थ गेम में गोल्ड जीतने वालें को पचाल लाख, सिलवर जीतने वाले को 30 और कांस्य वाले को 15 लाख दिया जाएगा। सरकार की इस व्यवस्था से निश्चित ही खिलाड़ियों को आगे बढ़ने का अवसर मिलेगा। सरकार 16 खेलों में करीब 1800 को नि:शुल्क प्रशिक्षण देने का काम कर रही है। इस दौरान वैभव चतुर्वेदी, पुष्पा चतुर्वेदी, विनय चतुर्वेदी सहित अन्य मौजूद रहे।

सबसे पहले हम किसानों के खातों में भेजेंगे धन

कृषि मंत्री ने मंच से एलान करते हुए कहा कि केंद्र सरकार ने बजट में छह हजार प्रतिवर्ष किसानो को देने की घोषणा किया है। इसकी पहली किश्त मार्च में सभी के खातों में पहुंच जाएगी । उन्होंने कहा कि सबसे पहले हम खातों में भेजने का काम करेंगे।हमने सरकार से कहा है कि धन मिलने के एक सप्ताह के भीतर किसानों को भेज दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि सभी किसान ब्लाक पर पहुंचकर अपना रजिस्ट्रेशन करा लें।