Home » धर्म/ज्योतिष » संतकबीरनगर- मोहर्रम दशवीं का जुलूस सकुशल सम्पन्न, अकीदत मंदो ने ताजिए को कर्बला में किया सुपुर्द _रिपोर्ट-बिट्ठल दास

संतकबीरनगर- मोहर्रम दशवीं का जुलूस सकुशल सम्पन्न, अकीदत मंदो ने ताजिए को कर्बला में किया सुपुर्द _रिपोर्ट-बिट्ठल दास

पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष जगत जायसवाल ने शान्ति पूर्ण ढंग से जुलूस सम्पन्न कराने में प्रशासन का किया...

संतकबीरनगर- मोहर्रम दशवीं का जुलूस सकुशल सम्पन्न, अकीदत मंदो ने ताजिए को कर्बला में किया सुपुर्द _रिपोर्ट-बिट्ठल दास
Share Post

पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष जगत जायसवाल ने शान्ति पूर्ण ढंग से जुलूस सम्पन्न कराने में प्रशासन का किया सहयोग


सेमरियावां (संतकबीरनगर)। जनपद में सकुशल शान्ति पूर्ण ढंग से मोहर्रम दशवीं का जुलूस शान्ति पूर्ण ढंग से सम्पन्न हुआ। हालांकि धनघटा थाना क्षेत्र के हैंसर व कुछ स्थानो पर कहा सुनी का मामला प्रकाश में आया। पुलिस व समाजसेवियो की सक्रियता से मामला आगे नही बढ़ सका। पुलिस प्रशासन ने दशवीं का जुलूस सम्पन्न होने पर राहत की सांस ली है। देर रात तक जिलाधिकारी रवीश गुप्ता, पुलिस अधीक्षक ब्रजेश सिंह डयूटी पर लगाये गये मजिस्ट्रेटो के माध्यम से जुलूस सम्पन्न की सूचना लेते रहे। मगहर कस्बा में समाजसेवियो के सहयोग से सकुशल जुलूस सम्पन्न हुआ। पूरे जनपद के संवेदनशील बखिरा, खलीलाबाद, मगहर सहित अन्य स्थलो पर अपर पुलिस अधीक्षक असित श्रीवास्तव, सीओ सदर रमेश कुमार, इंस्पेक्टर एलआईयू त्रिलोचन त्रिपाठी, भ्रमण करते रहे। इंस्पेक्टर कोतवाली श्रीप्रकाश सिंह, महिला इंस्पेक्टर डा0 शालिनी सिंह अपने पुलिस टीम के साथ पूरे मेले में भ्रमणशील रहे। मंगलवार को क्षेत्र में दशवीं मोहर्रम के मौके पर अकीदतमंदों ने कर्बला में ताजियो को सुपुर्द कर इमाम हुसैन को श्रद्धांजलि दी। इसके पूर्व क्षेत्र के प्रमुख मार्गो से ताजियो को निकालकर जगह जगह मेले का आयोजन हुआ। दुधारा थाना क्षेत्र के सालेहपुर, परसा शेख, शाहपुर, सिसवा दाखिली, परासी तकीइयवा, मिया कुसुरू समेत 77 गांवों में दशवीं मोहर्रम के दिन ताजियांदारो ने रंग विरंगी ताजिए के साथ युवको का एक जत्था विशेष किस्म की शोक के भरी धुन बजाता हुआ जुलूस निकाला गया। इस दौरान मातम मनाते हुए बारी-बारी से ताजिये दफनाए गए। इसके पूर्व क्षेत्र में लगे मेले में बच्चों और महिलाओं ने अपनी-अपनी पसंद की वस्तुएं खरीदीं। इस बीच क्षेत्र में सुरक्षा व्यवस्था को संभालने के लिए दुधारा पुलिस के जवान तैनात रहे।