Home » शख्सियत » संतकबीरनगर:- आईएएस फुरकान अख्तर का अपने गुरुजनों से मिलने का सिलसिला जारी_गुरु इनामूल्लाह सर के घर पहुंचकर फुरकान ने की मुलाकात_माता पिता और उस्ताद के अदब व् एहतराम में छिपी है सफलता-फुरकान

संतकबीरनगर:- आईएएस फुरकान अख्तर का अपने गुरुजनों से मिलने का सिलसिला जारी_गुरु इनामूल्लाह सर के घर पहुंचकर फुरकान ने की मुलाकात_माता पिता और उस्ताद के अदब व् एहतराम में छिपी है सफलता-फुरकान

सेमारियावं।संघ लोक सेवा आयोग की सिविल सर्विसेज प्रतियोगिता में सफलता अर्जित कर पहली बार अपने घर...

👤 Anonymous3 May 2018 4:15 PM GMT
संतकबीरनगर:- आईएएस फुरकान अख्तर का अपने गुरुजनों से मिलने का सिलसिला जारी_गुरु इनामूल्लाह सर के घर पहुंचकर फुरकान ने की मुलाकात_माता पिता और उस्ताद के अदब व् एहतराम में छिपी है सफलता-फुरकान
Share Post



सेमारियावं।
संघ लोक सेवा आयोग की सिविल सर्विसेज प्रतियोगिता में सफलता अर्जित कर पहली बार अपने घर तशरीफ़ लाये फुरकान अख्तर ने घर के रिश्तेदार सगे सम्बन्धी क्लास मेट और गुरुजनों से भेंट करने का सिलसिला जारी है।

जूनियर हाई स्कूल सेमारियावां से रिटायर अपने लोकप्रिय गुरु जनाब अबू बकर साहब और अब्दुस्सलाम सिद्दीकी से मिलने के बाद गुरुवार के दिन नेहनल इंटर कालेज मूंडाडीह बेग के पूर्व प्रिंसिपल मॉडल टीचर जनाब इनामूल्लाह साहब के कोहरियावां स्थित घर पहुंचकर भेंट की।
फुरकान अख्तर को अपने घर पर देखकर विद्यालय के टॉपर बच्चे की इस बड़ी सफलता की खबर सुनकर प्रसन्नचित हो गए।ढेर सारी दुआएं दी। घर पहुंचे फुरकान अख्तर का बड़े ख़ुशी के साथ इस्तकबाल और स्वागत किया।
एन आई सी मूंडाडीहा बेग के पूर्व प्रिंसिपल इनामूल्लाह साहब का शुमार तप्पा उजियार के बहुत ही सम्मानित व योग्य संजीदा शिक्षक के रूप में होती है ।साइंस व मैथ के बेहतरीन टीचर है।इनके हजारों शागिर्द विभिन्न पदों पर कार्यरत हैं।फुरकान अख्तर ने पहली आमद पर अपने उस्ताद और गुरुजनों को नही भूले ।सभी से भेंट कर आशीर्वाद प्राप्त करने में लगे है।
उन्होंने आज के स्टूडेंट्स को एक अच्छा मैसेज दिया है।
फुरकान अहमद के नजदीक इनामूल्लाह सर की देन है कि मुझे साइंस और मैथ में रूचि उनके सानिध्य में मिली।जिसका इंटर मीडियट और ए एम यू अलीगढ़ से बी एस सी और एमसीए करने में बहुत मदद मिली।
छात्र जीवन में हमेशा उत्साहवर्धन करते रहे। अमरिका के कार्नेल यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर उमर अफजल साहब केNIC मूंडाडीहा बेग आगमन पर जनाब इनामूल्लाह साहब ने मेरी विशेष भेंट कराई थी।खूब प्रशंशा मुझे मिली थी।वह दिन मेरे लिए आज भी यादगार है।
फुरकान अख्तर ने कहा कि स्टूडेंट्स की सफलता माता पिता और उस्ताद के अदब एहतराम और उनकी इज्जत करने में छिपी हुई है।इसी का श्रेय मुझे मिला है।उस्ताद की निगाह टेलेंट को बहुत आसानी से परख लेती है।उनकी दुआ जिंदगी भर साथ देती है।
फुरकान अख्तर के क्लास मेट उनके घर पहुंचकर बधाई और मुबारकबाद दे रहे हैं।फुरकान भी अपने पुराने साथियों को सम्मान देने में तनिक भी चूक नही करते।उनसे मिलकर पुरानी यादों को ताजा कर लेते हैं।उनके साथी भी बहुत खुश है इस बड़ी सफलता पर।
फुरकान अख्तर के इस कदम की प्राथमिक शिक्षक के जिला उपाध्यक्ष जफीर अली करखी,मुजिबूलल्लाह साहब,कमरे आलम सिद्दीकी,महमूद अहमद ,इंमतियाज अहमद दरियाबादी,अब्दुर्रहमान,फूल चन्द ,मनोज कुमार अनिल,मेहताब आलम सिद्दीकी,शैलेंद्र कुमार वरुण,सुहेल अहमद अलीग ,मसरूर खान,मुनव्वर खान,परवेज अख्तर ,महेंद्र श्रीवास्तव पत्रकार ,मो अदनान,अफजल अहमद प्रधान ने प्रशंशा की है