Home » शख्सियत » संतकबीरनगर:- आईएएस बने फुरकान अख्तर ने गुरु का लिया आशीर्वाद, गुरु की छड़ी के चमत्कार से मिली सफलता- फुरकान_नूर आलम सिद्दीकी की रिपोर्ट

संतकबीरनगर:- आईएएस बने फुरकान अख्तर ने गुरु का लिया आशीर्वाद, गुरु की छड़ी के चमत्कार से मिली सफलता- फुरकान_नूर आलम सिद्दीकी की रिपोर्ट

सेमरियावां।संघ लोक सेवा आयोग की सिविल सर्विसेज में सफलता हासिल कर पहली बार अपने घर तशरीफ़ लाये...

👤 Anonymous2 May 2018 5:15 PM GMT
संतकबीरनगर:- आईएएस बने फुरकान अख्तर ने गुरु का लिया आशीर्वाद, गुरु की छड़ी के चमत्कार से मिली सफलता- फुरकान_नूर आलम सिद्दीकी की रिपोर्ट
Share Post




सेमरियावां।
संघ लोक सेवा आयोग की सिविल सर्विसेज में सफलता हासिल कर पहली बार अपने घर तशरीफ़ लाये फुरकान अख्तर ने घर के रिश्तेदार सगे सम्बन्धी से भेंट करने के बाद फुर्सत पाते हीजूनियर हाई स्कूल सेमारियावां से रिटायर अपने लोक प्रिय उस्ताद जनाब अबू बकर साहब संरक्षक मदरसा अल्हुदा पब्लिक स्कूल सेमारियावं और फैजान सर प्रबन्धक के घर पहुंचकर दस्तक दी। फुरकान अख्तर को अपने दरवाजे पर देखकर अबू बकर साहब निहाल हो गए और ढेर सारी दुआएं दीं। घर पहुंचे फुरकान अख्तर का बड़े ख़ुशी के साथ इस्तकबाल और स्वागत किया।उस्ताद और शागिर्द प्रगाढ़ सम्बन्ध की पूर्व परम्परा को फुरकान अख्तर ने जिन्दा कर दिया।भेंट के दौरान स्कूल की पुरानी यादें ताजा की साथ अपनी सफलता और आगे की योजन के बारे में बातें शेयर की।फुरकान अख्तर बार बार यह कहने में तनिक भी संकोच नही करते की आगे बढ़ने और मेहनत करने की प्रेरणा मुझे जनाब अबू बकर साहब और अब्दुस्सलाम सिद्दीकी सिद्दीकी से मिली।
फुरकान अख्तर ने अपनी याद को ताजा करते हुए कहा कि जनाब अबू बकर साहब की एक डंडी ने मुझे यहां तक पहुंचाया।आज जिस मुकाम पर पहुंचा हूँ इसमें बहुत बड़ा योगदान जनाब अबू बकर साहब का है।इनकी शिक्षा और दीक्षा मार्गदर्शन से मुझे बहुत बल मिला।इनका एहसान मैं जिंदगी भर नही भूलूंगा।अपने लोकप्रियउस्ताद की दीघ्र आयु और सदैव स्वस्थ्य रहने की कामना ईश्वर से की।साथ ही अपने उस्ताद से आशिर्वाद और दुआ करते रहने की दरखास्त की।
इस अवसर पर फैजान अहमद प्रबन्धक,शामीम अहमद प्रधान ,मो अरशद ,नोमान अख्तर ,दाऊद अख्तर मौजूद रहे।