Home » नेता जी के बोल बचन » मऊ- अरविन्द राजभर का बयान- भोलेनाथ से डरता हूँ भाजपा से नही

मऊ- अरविन्द राजभर का बयान- भोलेनाथ से डरता हूँ भाजपा से नही

भाजपा के पास सत्ता-शासन हैं। इसलिए वो लोग कुछ भी कर सकते हैं। हम लोगों को किसी से डर नही लगता हैं।...

👤 Ajay20 May 2019 12:30 PM GMT
मऊ- अरविन्द राजभर का बयान- भोलेनाथ से डरता हूँ भाजपा से नही
Share Post


भाजपा के पास सत्ता-शासन हैं। इसलिए वो लोग कुछ भी कर सकते हैं। हम लोगों को किसी से डर नही लगता हैं। ये बाते सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर का कैबिनेट से बर्खास्त होने के बाद उनके पुत्र व पार्टी के राष्ट्रिय महासचिव ने सोमवार को कही। अरविन्द राजभर बलिया से लखनऊ जाते वक्त बलिया मोङ पर कहा कि देखिए बर्खास्त क्या करना था, हम लोग बहुत पहले से ही कह रहे थे कि हमारा इस्तीफा ले लिया जाये। लेकिन 2019 लोकसभा चुनाव को लेकर हमारे सीएम को डर था कि अगर हम लोग इस्तीफा स्वीकार कर लेते हैं, तो कही वोटिंग प्रतिशत गङबङा न जाये। 2017 के विधानसभा चुनाव में ओमप्रकाश ने जो पिछङों का वोट भाजपा को ट्रान्सफर करवाये थे, वो वोट बीजेपी को हो नही पायेगा अगर हम इस्तीफा स्वीकार कर लेते हैं। लेकिन हम लोगों का पता था कि जैसे ही चुनाव बीतेगा, इसपे एक्शन लिया जायेगा। हम इस फैसले का स्वागत करते हैं। ये जो बर्खास्तगीं की कार्य़वाही की गयी हैं, ये सर्वसमाज को व्यवस्थाओं से बर्खास्त किया गया हैं।

राज्यपाल ने बर्खास्तगी को स्वीकार किया हैं। जिसकों लेकर हम उनकों धन्यवाद देते हैं। भारतीय जनता पार्टी को धन्यवाद देते हैं कि उनकों बात समझ में जरुर आई। लेकिन थोङा देरी से आयी। अब जब समझ में आ गयी हैं, तो इसका खामियाजां 2022 के विधानसभा चुनाव में भुगतना पङेगा। हम लोगों को अगला पङाव ये रहेगा कि भारतीय जनता पार्टी ने दो साल के अन्दर जितने भी गलत कार्य़ किये हैं। उनकों लेकर जिला, तहसील और ब्लाक स्तर पर धरना प्रदर्शन किया जायेगा।

मुझे किसी से डर नही लगता हैं। ओमप्रकाश राजभर ने एक शब्द में कहा हैं कि मुझे भोलेनाथ को छोङ कर के किसी से भी डर नही लगता हैं। भारतीय जनता पार्टी के पास सत्ता शासन हैं। इसलिए वो लोग कुछ भी कर सकते हैं। लेकिन इन सब से हम लोग डरने वाले नही हैं। लोकतंत्र में हमारा गला कोई नही घोट सकता हैं। इसलिए हम अपनी आवाज को जरुर उठायेगे। भारतीय जनता पार्टी गलत आरोप लगा रही है। पुत्र मोह मुलायम सिहं यादव को था। आज भतीजा मोह हमारे मायावती को हो गया हैं। पुत्र मोह अमित शाह को था, जब 237 करोङ का घोटाला हुआ था। सुप्रिम कोर्ट से गिरफ्तारी का वारंट भी जारी हुआ, लेकिन गिरफ्तार आज तक नही हो सकी। अमिता शाह ने उसे बचाने का काम किया। इसलिए पुत्र मोह वहां पर था। ओमप्रकाश राजभर सभी को जगाने और सही बात करने का काम कर रहे हैं। आरोप प्रत्यारोप लगते रहते हैं। इसलिए बिचलित होने की कोई बात नही हैं।