Home » राष्ट्रीय/अंतराष्ट्रीय » बस्ती: - गधे मेरे प्रेरणाश्रोत- मोदी_विवेक गुप्ता की रिपोर्ट

बस्ती: - गधे मेरे प्रेरणाश्रोत- मोदी_विवेक गुप्ता की रिपोर्ट

बस्ती:- भारतीय जनता पार्टी के स्टार प्रचारक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरूवार को उत्तर प्रदेश के...

👤 Ajay2017-02-25 01:59:31.0
बस्ती: - गधे मेरे प्रेरणाश्रोत- मोदी_विवेक गुप्ता की रिपोर्ट
Share Post


बस्ती:- भारतीय जनता पार्टी के स्टार प्रचारक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरूवार को उत्तर प्रदेश के बस्ती में रैली संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने गधे और कालेधन के मुद्दे पर कविता सुनाई। बस्ती के पालीटेक्निक कालेज में रैली के दौरान मोदी ने कहा कि ऐसा लग रहा है कि आप अभी से विजयउत्सव मनाने में लग गए हैं। संबोधन के शुरूआत में ही मोदी ने रैली में मौजूद लोगों से सवाल जवाब के मोड में आ गए। पूछा कि क्या आजादी के 70 साल

बाद भी बस्ती का इलाका मुश्किलें झेल रहा है कि नहीं? इसके लिये कौन जिम्मेवार? जिन्होंने आपकी दुर्दशा की है, उनको जाना चाहिए कि नहीं जानाचाहिए? मोदी ने कहा कि सरकार की जिम्मेवारी होती है जब जनता के पास जाए तो पाई-पाई का हिसाब देना चाहिए। पांच साल क्या किया? किसके लिए किया? क्यों किया? इन सारी बातों का हिसाब देना चाहिए। रैली के दौरान मोदी ने कहा यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, पांच साल में लोगों का जवाब नहीं
दे रहे हैं। हर चीज का जवाब दे रहे हैं लेकिन काम का जवाब नहीं दे रहे हैं। मोदी ने कहा कि जो लोग काम का हिसाब नहीं दे रहे हैं, ऐसे लोगों को।वोट मांगने का कोई अधिकार नहीं है। मोदी ने कहा कि पूर्वी उत्तर प्रदेश में तमाम संसाधन है फिर भी ये इलाका आज भी पिछड़ा हुआ है, इसका क्या कारण है? मोदी ने कहा कि इनको आदत हो गई है कि यूपी में कुछ करने की जरूरत नहीं है। कभी बसपा आएगी, कभी सपा आएगी। ये आएंगे जाएंगे, माल खाएंगे।
मोदी ने कहा कि अभी लडाई जारी है। मोदी ने कहा कि अखिलेश इतने परेशान हैं कि गुजरात के गधे से भी परेशान है, क्या हो गया आपको? आपको गधे से भी डर लगने लगा? आप पर मुझको बहुत दया आती है। इस पर भी मोदी ने सर्वेश्वर दयाल सक्सेना की गधे पर लिखी कविता सुनाई। कहा कि यह बड़ा ही सटीक जवाब है बस्ती के कवि ने जवाब दे दिया है। मोदी ने सुनाया-नेता के दो टोपीऔश् गदहे के दो कान, टोपी अदल-बदलकर पहनें
गदहा था हैरान।एक रोज गदहे ने उनको तंग गली में छेंका,कई दुलत्ती झाड़ीं उन पर और जोर से रेंका।नेता उड़ गए, टोपी उड़ गईउड़ गए उनके कान, बीच सभा में खड़ा हो गया गदहा सीना तान!

मोदी ने कहा कि सोच में फर्क होता है। हम गुजरात में जितना शेर के लिए जो करते हैं वो गधे के लिए भी करते हैं। यूपी में तो एक मंत्री की भैंस चोरी हो जाए तो सारी सरकार लग जाती है। मोदी ने कहा कि गधे से भी प्रेरणा मिलती है। गधा थका हो, भूखा हो, बीमार हो, धूप हो , बारिश हो ठंड हो लेकिन मालिक जो काम दे, वो पूरा कर के देता है। मैंने भी सीखा है। सवा सौ

करोड़ देशवासी मेरे मालिक है। मैं भी उनकी सेवा करने आया हूं। गधे की पीठ पर चीनी रखो या चूना कोई फर्क नहीं पड़ता। मैं भी बिना छुट्टी लिए, २४ घंटे आपके लिए मजदूरी करने में कोई कमी नहीं रखूंगा। मोदी ने अपील की कि भारी संख्या में मतदान कर लोग भाजपा को विजयी बनाएं। रैली में बीजेपी जिलाध्यक्ष पवन कसौधन, सांसद हरीश द्विवेदी, सांसद संत कबीर नगर , सांसद शरद त्रिपाठी, डुमरियागंज जगदम्बिकापाल , पूर्व मंत्री एवं घंनघटा विधानसभा प्रत्याशी श्रीराम चौहान, हरैया विधानसभा प्रत्याशी अजय सिंह, पूर्व एमएलसी एवं बस्ती सदर विधानसभा प्रत्याशी दयाराम चौधरी, कप्तानगंज विधानसभा प्रत्याशी सीए चन्द्र प्रकाश शुक्ल, रुधौली विधायक एंव बीजेपी प्रत्याशी संजय प्रताप जयसवाल, महादेवा विधानसभा प्रत्याशी रवि सोनकर, तारक जयसवाल, मीडिया प्रभारी अमृत वर्मा, पंकज श्रीवास्तव, रिंकू दुबे, अभिनव उपाध्याय, प्रमोद पांडेय, आलोक पांडेय, राकेश श्रीवास्तव, अजय सिंह गौतम, नरेंद्र चंचल, देवेंद्र सिंह,तृप्ति गुप्ता, सहित हज़ारो हज़ार कार्यकर्त्ता , पदाधिकारी, जनता उपस्थित रहे।