Home » स्वास्थ्य समस्या/निदान » संतकबीरनगर- किशोरियों में एनीमिया का पता लगाने के लिए हुई रक्त की जांच_रिपोर्ट-बिट्ठल दास

संतकबीरनगर- किशोरियों में एनीमिया का पता लगाने के लिए हुई रक्त की जांच_रिपोर्ट-बिट्ठल दास

सेमरियांवा व हैसर के विभिन्न स्वास्थ्य उपकेन्द्रों पर मनाया गया किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम किशोर व...

संतकबीरनगर- किशोरियों में एनीमिया का पता लगाने के लिए हुई रक्त की जांच_रिपोर्ट-बिट्ठल दास
Share Post


सेमरियांवा व हैसर के विभिन्न स्वास्थ्य उपकेन्द्रों पर मनाया गया किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम


किशोर व किशोरियों के वजन व लम्बाई की जांच के साथ उन्हें दिए गए विभिन्न उपहार


संतकबीरनगर। किशोर व किशोरियों को बेहतर स्वास्थ्य प्रदान करने के उद्देश्य से जिले के हैसर तथा सेमरियांवा ब्लाक क्षेत्र के विभिन्न स्वास्थ्य उपकेन्द्रों पर किशोर स्वास्थ्य दिवस का आयोजन किया गया। इस दौरान एएनएम ने किशोरियों में एनीमिया का पता लगाने के लिए उनके रक्त की जांच के लिए नमूने लिए। साथ ही उनके वजन और लम्बाई की जांच करके उन्हें विभिन्न उपहार भी प्रदान करते हुए बेहतर परामर्श दिया गया। मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ हरगोविन्द सिंह के निर्देशन में तथा जिला किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम (आरकेएसके) के समन्वयक दीनदयाल वर्मा के कुशल पर्यवेक्षण में सेमरियांवा व हैसर ब्लाक क्षेत्र के विभिन्न स्वास्थ्य उपकेन्द्रों पर 'किशोर स्वास्थ्य दिवस' का आयोजन किया गया। इस दौरान स्वास्थ्य केन्द्रों पर किशोरों व किशोरियों के स्वास्थ्य की जांच की गई। उनके अन्दर हीमोग्लोबीन की कमी व एनीमिया के स्तर को देखा गया। इसके लिए किशोरियों के रक्त के नमूने लिए गए, किशोरियों की प्रमुख समस्या माहवारी स्वच्छता व उसकी नियमितता की थी। जिसके बारे में उन्हें एएनएम तथा स्टाफ नर्सेज ने विधिवत जानकारी दी। जबकि पीयर एजूकेटर्स ने उन्हें यौन व प्रजनन स्वास्थ्य, ब्लड प्रेशर, मानसिक स्वास्थ्य, नशावृत्ति, असंक्रामक बीमारियों के बारे में जानकारी दी । इस दौरान राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम (आरबीएसके) की टीम ने भी उनका सहयोग किया। किशोरों के के पोषण की जांच उनकी उंचाई और वजन के आधार पर की गई। साथ ही उनको सुपोषित करने के विविध उपाय भी सुझाए गए। उन्हें आयरन की गोली के महत्व के बारे में भी जानकारी दी गई। उनके बीच प्रतियोगिताएं कराई गईं तथा उन्हें प्रमाण पत्रों का भी वितरण किया गया। इस दौरान किशोर किशोरियों को विभिन्न उपहार भी दिए गए। हैसर ब्लाक में सीएचसी के वीपीएम अशोक यादव के पर्यवेक्षण में उपकेन्द्र बहराडाड़ी, रामपुर दक्षिणी, गरथवलिया, बभनौली, अशरफपुर, बकैनिया, चपरापूर्वी, दौलतपुर में इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया। वहीं सेमरियांवा क्षेत्र के वीपीएम राजेश पाण्डेय के पर्यवेक्षण में बूधाकला, काट डिहेस उर्फ कांटे तथा अन्य उपकेन्द्रों पर कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। इस दौरान एएनएम पूजा, आशा देवी, विनीता राय, फूला देवी, कुसुमलता देवी, शशिकला, कमलावती, सुरेखा, माया, अंजनी समेत अन्य आशा स्वास्थ्य कार्यकर्ता व पीयर एजूकेटर्स उपस्थित रहे। राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के जिला समन्वयक दीनदयाल वर्मा बताते हैं कि जिले में चार ब्लाक इस कार्यक्रम के लिए चयनित किए गए हैं। त्रैमासिक स्तर पर चयनित ब्लाकों में खलीलाबाद, हैसर, सेमरियांवा व मेंहदावल शामिल हैं। इन ब्लाक क्षेत्र के 54 स्वास्थ्य उपकेन्द्रों पर एएनएम, आशा, आंगनबाड़ी कार्यकत्री के सहयोग से यह कार्यक्रम आयोजित किया जाता है। बच्चों को योग दिवस के लिए भी जागरुक किया गया। उन्हें यह बताया गया कि किस तरह से योग के जरिए रोगों को दूर भगाया जा सकता है। योग के बारे में किशोर व किशोरियों को विशेष जानकारी दी गई। साथ ही इसमें प्रतिभाग करने को कहा गया।