Home » गुड वर्क/बैड वर्क » हापुड़:- एचपीडीए ने यांत्रिक मीट प्लांट किया सील,मचा हड़कंप-प्राधिकरण से बिना नक्शा पास कराये,निर्माण कराया था-वर्ष 2004 से प्लांट के खिलाफ कार्रवाई चल रही है:अजीत त्यागी-मीट प्लांट स्वामी पर प्राधिक

हापुड़:- एचपीडीए ने यांत्रिक मीट प्लांट किया सील,मचा हड़कंप-प्राधिकरण से बिना नक्शा पास कराये,निर्माण कराया था-वर्ष 2004 से प्लांट के खिलाफ कार्रवाई चल रही है:अजीत त्यागी-मीट प्लांट स्वामी पर प्राधिक

हापुड़-रामपुर रोड पर अवैध रूप से एक दशक से अधिक समय सेे संचालित रेबन फूड्स प्राइवेट लिमिटेड...

👤 Ajay2017-03-27 14:03:57.0
हापुड़:- एचपीडीए ने यांत्रिक मीट प्लांट किया सील,मचा हड़कंप-प्राधिकरण से बिना नक्शा पास कराये,निर्माण कराया था-वर्ष 2004 से प्लांट के खिलाफ कार्रवाई चल रही है:अजीत त्यागी-मीट प्लांट स्वामी पर प्राधिक
Share Post



हापुड़-रामपुर रोड पर अवैध रूप से एक दशक से अधिक समय सेे संचालित रेबन फूड्स प्राइवेट लिमिटेड यांत्रिक मीट प्लांट को हापुड़ पिलखुवा विकास प्राधिकरण अधिकारियों ने पुलिस प्रशासनिक अधिकारियों व भारी पुलिस बल की मौजूदगी में सील कर दिया। जिससे प्लांट स्वामी,कर्मचारियों में हड़कंप मच गया। आरोप है,कि प्लांट सील करने पहुंचे प्राधिकरण अधिकारी के साथ मीट प्लांट स्वामी व कर्मचारियों ने धक्का मुक्की भी की।
आपको बता दें,कि उत्तर प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के बाद आदित्यनाथ योगी के सीएम के बनने के बाद से अवैध बूचड़खानों व पशु अवशेषों के गोदामों पर जिला प्रशासन द्वारा कार्रवाई की जा रही है। गत 25 मार्च को जिला प्रशासन ने रामपुर रोड स्थित हाजी नौशाद के यांत्रिक मीट प्लांट रेबन फूड्स पर छापामार कार्रवाई की थी। अधिकारियों की टीम प्लांट में सभी कुछ बताकर वापिस लौट आयी।
जबकि प्रकाश में आया कि मीट प्लांट स्वामी ने नगर पालिका परिषद से एनओसी नहीं ली,न ही हापुड़ पिलखुवा विकास प्राधिकरण से नक्शा पास कराया था। जिस पर जिलाधिकारी अनिल ढींगरा ने रेबन फूड्स प्राइवेट लिमिटेड को सील करने के लिए सदर एसडीएम अजय श्रीवास्तव व सदर सीओ शैलेन्द्र राठौर को नामित किया।
सोमवार की दोपहर हापुड़ पिलखुवा विकास प्राधिकरण के अधिशासी अभियंता अजीत त्यागी,डीएम द्वारा नामित अधिकारी सदर एसडीएम अजय श्रीवास्तव व सदर सीओ शैलेन्द्र राठौर भारी पुलिस बल के साथ रामपुर रोड स्थित यांत्रिक मीट प्लांट रेबन फूड्स प्राइवेट लिमिटेड पर पहुंचे। आरोप है,कि अब प्राधिकरण अधिकारी मीट प्लांट में अंदर पहुंचे,तो प्लांट स्वामी व कर्मचारियों ने उनके साथ मारपीट की।
प्राधिकरण अधिकारियों ने पुलिस प्रशासनिक अधिकारियों व भारी पुलिस बल की मौजूदगी में यांत्रिक मीट प्लांट का सील कर दिया। जिससे प्लांट स्वामी व कर्मचारियों के साथ शहर के मीट विक्रेताओं में हड़कंप मच बया।
हापुड़ पिलखुवा विकास प्राधिकरण के अधिशासी अभियंता अजीत त्यागी ने बताया कि रेबन फूड्स प्राइवेट लिमिटेड यांत्रिक मीट प्लांट में करीब 31 हजार वर्ग मीटर पर अवैध रूप से निर्माण कराया गया है। प्राधिकरण द्वारा कोई नक्शा पास नहीं कराया गया।
उन्होंने बताया कि रेबन फूड्स के खिलाफ वर्ष 2005 से कार्रवाई की जा रही है। अब पुलिस प्रशासनिक अधिकारियों की मौजूदगी में सील कर दी है।