Home » चुनावी चर्चा » संतकबीरनगर:- काबिल और कर्मठ सी एम् के भरोसे है सपा प्रत्याशी-वरिष्ठ पत्रकार जे पी ओझा की कलम से

संतकबीरनगर:- काबिल और कर्मठ सी एम् के भरोसे है सपा प्रत्याशी-वरिष्ठ पत्रकार जे पी ओझा की कलम से

संतकबीरनगर:- आज का दिन जिले की तीनो विधान सभा सीटों पर उतरे सपाई उम्मीदवारों के लिए उम्मीद और...

👤 Ajay2017-02-25 19:50:54.0
संतकबीरनगर:- काबिल और कर्मठ सी एम् के भरोसे है सपा प्रत्याशी-वरिष्ठ पत्रकार जे पी ओझा की कलम से
Share Post


संतकबीरनगर:- आज का दिन जिले की तीनो विधान सभा सीटों पर उतरे सपाई उम्मीदवारों के लिए उम्मीद और विश्वास जगाने का दिन है। लखनऊ और सैफई में छिड़े समाजवादी महाभारत ने इस जिले का समाजवादी पार्टी का समीकरण बदल दिया था। पार्टी ने मेंहदावल में तय प्रत्याशी रहे पप्पू निषाद का टिकट आखिरी समय में काट कर जयराम पांडे को थमाया और यही कहानी खलीलाबाद में दोहराई गई जहां साल भर से खुद को घोषित उम्मीदवार बताते हुए पूर्व सांसद भालचंद यादव के पुत्र सुबोध यादव प्रचार, जनसंपर्क अभियान में जुटे थे। यहां भी सुबोध यादव के बदले नया उम्मीद वार उतारा गया है। मेंहदावल और घनघटा में सपाई चुनौती गिनी जा रही हैं लेकिन खलीलाबाद में सपा का उम्मीद वार गिनती में ही नहीं है। अब तीनो सीटों के उम्मीदवारों को अपने 'काबिल' और कर्मठ सीएम से कमाल की आशा आशा है। आशा आखिरी तीन दिनो की चुनौती को, चुनावी मोड को और सूखे गले वाले तमाम ऐसे वोटरों का गला तर करने और हाथों की खुजली मिटाने की दवा के इंतजाम की चुनौती के सहयोग की भी है। धनघटा में भालचंद यादव ने प्रचार में अपनी ताकत झोक कर सपा को मुख्य मुकाबले में खड़़ा कर दिया है, आज उनके लिए भी खर्च बर्च के जुगाड़ का दिन है। सीएम की चुनौती यह कि एक ओर तो उन्हें अपने विकास के दावों पर मुहर लगने का इंतजाम करना है दूसरी ओर चुनावी जंग में जूझ रहे समाजवादी योद्धाओं को भरपूर रसद पानी का जुगाड़ बना जाना है। नतीजा क्या हुआ, यह तो नतीजा बताएगा लेकिन अखिलेश की आज की जनसभाएं लोगों का चुनावी मिजाज बनाने में कामयाब जरूर होंगी।