Home » शैक्षिक गतिविधि » संतकबीरनगर- MD कैम्पस में आयोजित हुआ शैक्षणिक सेमिनार, प्रतियोगी छात्र छात्राओं को चीफ गेस्ट ने दी महत्वपूर्ण टिप्स

संतकबीरनगर- MD कैम्पस में आयोजित हुआ शैक्षणिक सेमिनार, प्रतियोगी छात्र छात्राओं को चीफ गेस्ट ने दी महत्वपूर्ण टिप्स

संतकबीरनगर- सिविल सेवा सहित विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की बेहतर तैयारी के लिए प्रशिद्ध जिले के...

संतकबीरनगर- MD कैम्पस में आयोजित हुआ शैक्षणिक सेमिनार, प्रतियोगी छात्र छात्राओं को चीफ गेस्ट ने दी महत्वपूर्ण टिप्स
Share Post












संतकबीरनगर- सिविल सेवा सहित विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की बेहतर तैयारी के लिए प्रशिद्ध जिले के नामचीन कोचिंग सेंटर एमडी कैंपस में शैक्षणिक सेमिनार का आयोजन किया गया जिसमें बतौर मुख्य अतिथि के रूप में पहुंची डिप्टी एसपी श्रीमती समीक्षा यादव ने एमडी कैंपस में पढ़ रहे छात्र छात्राओं को बेहतर तैयारी के साथ सफल परिणाम पाने का मंत्र बताया। मुख्यातिथि श्रीमती समीक्षा यादव ने आईएएस पीसीएस और एसएससी सीटेट इत्यादि प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले विद्यार्थियों का उत्साहवर्धन और मार्गदर्शन किया। उन्होंने छात्र छात्राओं को जीवन में सफलता और असफलता से संबंधित संघर्षमय जीवन के बारे में बताते हुए कहा कि सफलता का कोई शॉर्टकट नहीं होता, एक लक्ष्य को लेकर कठिन परिश्रम से ही सफलता मिलती है। अपने शैक्षणिक दिनों की यादों को छात्र छात्राओं से साझा करते हुए मुख्यातिथि डिप्टी एसपी समीक्षा यादव ने कहा कि जब मेरा सिलेक्शन नहीं हुआ था उस दौरान जब मैं तैयारी कर रही थी तो डी पी एन सिंह सर ने कई विषयों में हमारी मदद की आज आप सब का सौभाग्य है खलीलाबाद में डीपीएन सर ने एमडी केंपस खोला है.. इस दौरान उन्होंने तैयारी करने वाले विद्यार्थियों के प्रश्नों का भी उत्तर दिया और उनका उचित मार्गदर्शन किया। आपको बता दें कि इस कार्यक्रम में मौजूद एमडी केंपस और उसके बाहर के तैयारी करने वाले विद्यार्थी भी मौजूद रहे।

परीक्षाओं में शत प्रतिशत सफ़लता प्राप्ति के लिए क्या कुछ कहे MD कैम्पस के डायरेक्टर गुरु DPN सिंह

सेमिनार में उपस्थित छात्र छात्राओं को सम्बोधित करते हुए MD कैम्पस के डायरेक्टर गुरु डीपीएन सिंह ने कहा कि किसी भी परीक्षा में अच्छे अंकों से सफलता पाने का कोई शॉर्ट कट नहीं होता। इसके लिए पूरी निष्ठा के साथ अपने विषयों का अध्ययन करना चाहिए। इसके साथ-साथ यह भी विशेष ध्यान रखना चाहिए कि किसी भी विषय को रटा नहीं जाए बल्कि उसका बार-बार रिवीजन करना चाहिए। इसके अलावा पहले अपने लिए छोटे लक्ष्यों का निर्धारण करें और उनमें सफलता हासिल करें। इसके बाद बड़े लक्ष्यों की ओर कदम बढ़ाएं। रात को सोने से पहले एक बार पढ़े गए विषय का रिवीजन करने को भी अपनी आदत में शुमार करें। परीक्षा देने के लिए अपने अंदर आत्मविश्वास भी विकसित करें। किसी सब्जेक्ट में परेशानी आने पर संबंधित विषय विशेषज्ञ की भी सलाह ली जा सकती है। इतना ही नहीं ज्यादा पुस्तकों को एक-एक बार पढ़ने के बजाय एक पुस्तक को चुनकर उसे बार-बार पढ़ें। जब उस पर कमांड हो जाए, तो दूसरी पुस्तक का अध्ययन शुरू करें। ऐसा करने से प्रत्येक विषय पर अच्छी पकड़ बनाई जा सकती है। उन्होंने बताया कि विषय वही चुनने चाहिए जिस पर अभ्यार्थी की अच्छी पकड़ हो।

इस दौरान एमडी केंपस के सम्मानित फैकेल्टी श्री सुधीर द्विवेदी जी, श्री वैभव जी, श्री विनोद जी और चाणक्य आईएएस के फैकेल्टी राहुल त्रिपाठी जी, श्री विनोद कुमार यादव जी, श्री विवेक जी, श्री आशीष जी, श्री राघवेंद्र प्रताप सिंह जी मौजूद रहे।