Home » शैक्षिक गतिविधि » सिद्धार्थनगर यूनिवर्सिटी में हुई बैठक, कुलपति ने दिए आवश्यक निर्देश_रिपोर्ट-बिट्ठल दास

सिद्धार्थनगर यूनिवर्सिटी में हुई बैठक, कुलपति ने दिए आवश्यक निर्देश_रिपोर्ट-बिट्ठल दास

सिद्धार्थ विश्वविद्यालय के माननीय कुलपति प्रो०सुरेन्द्र दुबे जी की अध्यक्षता में आज दिनांक...

सिद्धार्थनगर यूनिवर्सिटी में हुई बैठक, कुलपति ने दिए आवश्यक निर्देश_रिपोर्ट-बिट्ठल दास
Share Post



सिद्धार्थ विश्वविद्यालय के माननीय कुलपति प्रो०सुरेन्द्र दुबे जी की अध्यक्षता में आज दिनांक 26/06/2019 को हुयीं परीक्षा समिति की बैठक मे छात्र हित में एक महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया । छात्र अब अपनी उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन से असंतुष्ट होने पर उसे चुनौती दे सकते है । इसके लिए छात्र को अपनी उत्तर पुस्तिका देखने के 15 दिनों के भीतर उसके मूल्यांकन को चुनौती देनी होगी । चुनौती देते समय छात्र को रुपये 3000/- (तीन हजार मात्र) जमा करना होगा , उसके उपरान्त छात्र की उत्तर पुस्तिका को दो अन्य परीक्षकों से मूल्यांकित कराया जाएगा । यदि दोनों परीक्षकों द्वारा दिये गये अंक छात्र के द्वारा पहले से प्राप्त अंक में पूर्णांक के 15% (पन्द्रह प्रतिशत) से अधिक की वृद्धि करते हैं तो दोनों परीक्षकों द्वारा पहले से प्राप्त अंक से अधिक दिये गए अंक के औसत को जोडकर छात्र का परीक्षाफल घोषित कर दिया जायेगा । परन्तु यदि यह वृद्धि 25% (पच्चीस प्रतिशत) से अधिक है तो पुनः तीसरे परीक्षक से मूल्यांकन कराया जायेगा और तीसरे परीक्षक द्वारा भी 25% से अधिक की वृद्धि होती हैं तो , पहले से प्राप्त अंक में तीनों परीक्षकों द्वारा की गयी वृद्धि के औसत को जोडकर परीक्षाफल घोषित किया जायेगा और छात्र द्वारा जमा शुल्क में से रुपये 2500/- (रुपये पच्चीस सौ मात्र) छात्र को वापस किया जायेगा और मूल परीक्षक को तीन वर्ष के लिये मूल्यांकन कार्य से वंचित (DEBAR )कर दिया जायेगा । यदि वृद्धि 15% (15 प्रतिशत) से कम है तो मूल अंक मे कोई परिवर्तन नही होगा और न ही कोई शुल्क वापस होगा ।

यह प्रक्रिया इसी वर्ष के मूल्यांकन से लागू होगी जिसके लिये विस्तृत दिशानिर्देश सिद्धार्थ विश्वविद्यालय,कपिलवस्तु की बेबसाइट पर अतिशीघ्र उपलब्ध करा दिया जायेगा ।