Home » शैक्षिक गतिविधि » संतकबीरनगर:- सर्वोदय बलराम विद्यालय का वार्षिकोत्सव सम्पन्न-संस्कृतिक कार्यक्रम में बच्चों ने दिखाया अपना कौशल- भाजपा नेता मदन नरायन सिंह रहे कार्यक्रम के मुख्य अतिथि_शैलेश सिंह राजन की रिपोर्

संतकबीरनगर:- सर्वोदय बलराम विद्यालय का वार्षिकोत्सव सम्पन्न-संस्कृतिक कार्यक्रम में बच्चों ने दिखाया अपना कौशल- भाजपा नेता मदन नरायन सिंह रहे कार्यक्रम के मुख्य अतिथि_शैलेश सिंह राजन की रिपोर्

संतकबीरनगर/मेंहदावल -सर्वोदय बलराम विद्यालय का वाषिकवोत्सव बहुत हर्षोल्लास के साथ मनाया गया...

👤 Ajay5 March 2017 11:55 AM GMT
संतकबीरनगर:- सर्वोदय बलराम विद्यालय का वार्षिकोत्सव सम्पन्न-संस्कृतिक कार्यक्रम में बच्चों ने दिखाया अपना कौशल- भाजपा नेता मदन नरायन सिंह रहे कार्यक्रम के मुख्य अतिथि_शैलेश सिंह राजन की रिपोर्
Share Post



संतकबीरनगर/मेंहदावल -सर्वोदय बलराम विद्यालय का वाषिकवोत्सव बहुत हर्षोल्लास के साथ मनाया गया ।कार्यक्रम में भाजपा के वरिष्ठ नेता मदन नारायण सिंह ने मा सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्वलित कर चित्र पर माल्यार्पण किया और कार्यक्रम की शुरूआत की ।कार्यक्रम सरस्वती वंदना से बच्चों द्वारा शुरू किया गया ।उसी क्रम में भाजपा नेता ने कहा की बच्चे राष्ट्र के धरोहर हैं इन्हीं के कन्धों पर देश का भविष्य निर्भर करता है ।बच्चे मिट्टी के कच्चे घड़े होते हैं ।जिस तरह कुम्हार चाक पर मिट्टी को रखकर जो चाहता है वो बनाता है उसी तरह बच्चों को शिक्षा के साथ-साथ संस्कार की थी आवश्यकता होती हैं ।जिसमें सर्वोदय बलराम विद्यालय निपुण हैं इसी क्रम में प्रधानाचार्य पंडित रविशंकर मिश्र ने कहा कि सर्वोदय बलराम विद्यालय के बच्चे मंडल और प्रदेश स्तर तक अपने प्रतिभा और कला का प्रदर्शन किए हैं और हम ये चाहते हैं कि ये बच्चे राष्ट्र स्तर तक प्रदर्शन करे। जिससे हमारे क्षेत्र व जिले का नाम रोशन हो ।अध्यक्षता गोरखपुर विश्वविद्यालय के छात्र संघ के उपाध्यक्ष अखिल देव त्रिपाठी ने कहा कि बच्चे होनहार होते हैं उन्हें केवल दिशा की आवश्यकता होती हैं ।उसी क्रम में उन्होंने कहा कि मुसाफिर अगर अपनी हिम्मत ना हारे तो कदम चूम लेती है बढ़ के मंजिल ।मुख्य रूप से कार्यक्रम में बच्चों द्वारा प्रस्तुत निरत्य एकाकी प्रस्तुत किया गया ।एकाकी में सेना में शहीद हुए शहीदों के बारे में नाटक से सीख दी गयी कि शहीदों के मा ने कहा -जिस दिन तुम सेना में भर्ती हुए उस दिन से तुम मेरे नही पूरे देश के बेटा हो ।देश की रक्षा के लिए समर्पित हो ।बच्चीयो ने महिलाओं के सिंगार के बारे में गाने से परिभाषित किया । हार ; पायल; चूड़ी; बिंदी पर बच्चों ने गाना गाकर समा बांधा ।जैसे -हार पर मुझे नवलखा मगा दे। चूड़ी पर -मेरे हाथों में नव नव चूड़ी । बिंदी -साजन जी घर आए।काजल- कजरा मोहब्बत वाला आदि गीत गा कर दर्शकों को झूमने पर मजबूर कर दिया ।