Home » अपराध / आचार » सन्तकबीरनगर_महुली क्षेत्र के कृष्ण बिहारी हत्याकांड का हुआ पर्दाफास, पिता-पुत्र गिरफ्तार-राशिदा खान की रिपोर्ट

सन्तकबीरनगर_महुली क्षेत्र के कृष्ण बिहारी हत्याकांड का हुआ पर्दाफास, पिता-पुत्र गिरफ्तार-राशिदा खान की रिपोर्ट

महुली पुलिस थाना क्षेत्र में चार माह पूर्व हुए कृष्ण विहारी हत्याकांड का शनिवार को महुली पुलिस ने...

सन्तकबीरनगर_महुली क्षेत्र के कृष्ण बिहारी हत्याकांड का हुआ पर्दाफास, पिता-पुत्र गिरफ्तार-राशिदा खान की रिपोर्ट
Share Post


महुली पुलिस थाना क्षेत्र में चार माह पूर्व हुए कृष्ण विहारी हत्याकांड का शनिवार को महुली पुलिस ने पर्दाफास करने का दावा किया है। पुलिस ने इस घटना में नामजद पिता-पुत्र को गिरफ्तार कर लिया है। महुली थाने के इंस्पेक्टर प्रदीप कुमार सिंह ने बताया कि महुली थाना क्षेत्र के ग्राम गजाधरपुर के पोखरवा निवासी कृष्ण बिहारी उर्फ सुन्नर पुत्र लुटावन मुण्डेरवा थाना क्षेत्र के ग्राम बेहिल मे नेवासे पर रहता था। परिवार के कुछ सदस्य गजाधरपुर मे भी रहते थे। 15 मई 2019 की शाम 4 बजे कृष्ण बिहारी बेहिल से गजाधरपुर के लिए निकला था। जब वह अगले दिन तक गजाधरपुर नही पहुंचा तो परिजनों ने उसकी तलाश शुरू कर दिया। 18 मई को कृष्ण बिहारी का शव कुआनो नदी में उतराता हुआ मिला था। उन्होंने बताया कि इस मामले में मृतक के पुत्र गोपाल ने गांव के ही राम भरत पुत्र रामकरन और विशाल कुमार उर्फ दीपक पुत्र राम भरत के खिलाफ धारा 302, 201 आईपीसी के तहत केस दर्ज कराया था। उन्होंने बताया कि वर्ष 2016 मे मृतक कृष्ण बिहारी ने अपनी जमीन नगुआ गांव निवासी कौशिल्या पत्नी भागीरथी को 3 लाख 75 हजार रुपए मे बेचा था। जमीन की सौदेबाजी मे राम भरत ने 75 हजार रुपए की दलाली लिया था। जमीन बेचने के बाद विक्रेता कृष्ण बिहारी को मात्र एक लाख 25 हजार रूपए ही मिले थे। बाकी रूपये राम भरत नही दे रहा था। कृष्ण बिहारी के बार बार मांगने से परेशान होकर आरोपी रामभरत ने बेटे विशाल के साथ मिलकर कृष्ण बिहारी की हत्या करके साक्ष्य मिटाने के लिए शव को कुआनो नदी मे छिपाने का प्रयास किया था। इन्सपेक्टर प्रदीप सिंह ने बताया कि मुकदमा पंजीकृत कर सम्बन्धित न्यायालय भेज दिया गया है-राशिदा खान की रिपोर्ट