Home » अपराध / आचार » संतकबीरनगर_धनघटा पुलिस ने दोहरे हत्याकाण्ड का किया खुलासा, घटना मे प्रयुक्त पिस्टल बरामद-राशिदा खान की रिपोर्ट

संतकबीरनगर_धनघटा पुलिस ने दोहरे हत्याकाण्ड का किया खुलासा, घटना मे प्रयुक्त पिस्टल बरामद-राशिदा खान की रिपोर्ट

पुलिस अधीक्षक संतकबीरनगर आकाश तोमर के निर्देशन में अपराधियो के विरुद्ध चलाये जा रहे अभियान के तहत...

👤 Ajay10 Feb 2019 11:27 AM GMT
संतकबीरनगर_धनघटा पुलिस ने दोहरे हत्याकाण्ड का किया खुलासा, घटना मे प्रयुक्त पिस्टल बरामद-राशिदा खान की रिपोर्ट
Share Post


पुलिस अधीक्षक संतकबीरनगर आकाश तोमर के निर्देशन में अपराधियो के विरुद्ध चलाये जा रहे अभियान के तहत शनिवार की देर शाम प्रभारी निरीक्षक धनघटा मनोज कुमार त्रिपाठी की टीम ने गोविंदगंज में हुए दोहरे हत्याकांड का खुलासा करते हुए घटना में प्रयुक्त पिस्टल बरामद कर लिया है। पुलिस ने हरिवंशपुर गॉव के बाहर बंधे के पास से मु0अ0सं0 32 / 19 धारा 302 / 120 (B) भादवि थाना धनघटा जनपद संतकबीरनगर मे प्रयुक्त एक अदद पिस्टल के साथ अभियुक्त रवि कुमार पुत्र रामचन्दर को गिरफ्तार किया गया । बरामद अवैध पिस्टल के सम्बन्ध मे थाना धनघटा पर मु0अ0सं0 68 / 19 धारा 3 / 25 शस्त्र अधिनियम व हत्या के अहम साक्ष्य पिस्टल को छिपाने के लिये धारा 302 / 201 भादवि मे भी गिरफ्तार किया गया । पुलिसिया पूछताछ में अभियुक्त ने बताया कि 16 जनवरी को सायंकाल वह सब्जी लेने के लिए गोविन्दगंज बाजार गया था जहॉ पर पुरानी रंजिश को लेकर हड़ियामाफी के रहने वाले सलमान ने सर्वेश यादव को पिस्टल से कई गोली मारकर हत्या कर दी।वह भागने लगा जिसके पीछे सर्वेश यादव का छोटा भाई प्रवेश उर्फ झन्नू व कोहलवा निवासी उमेश यादव पुत्र श्यामनयन व अन्य बहुत से लोग जिन्हे वह नही पहचानता दौड़ाकर उसे पकड़कर ईट डण्डे से पीट-पीट कर मार डाले तथा उसको मारने के बाद उसके हाथ से पिस्टल छीनकर भागे। उसका कहना है कि प्रवेश यादव उर्फ झन्नू मुझे जानता था इसलिये उसने मुझे दे दिया। पिस्टल को लाकर मैने घर पर छिपाकर रख दिया था लेकिन पुलिस लगातार पिस्टल को खोज रही थी डर के कारण आज मै पिस्टल को नदी के पास छिपाने के लिये ले जा रहा था कि पुलिस ने पकड़ लिया । घटना का पर्दाफाश करने में

प्रभारी निरीक्षक धनघटा मनोज कुमार त्रिपाठी, उ0नि0 नसीबुद्दीन, हे0का0 हरी प्रसाद शर्मा, का0 मिथिलेश मिश्रा, चालक मनोज कुमार शामिल थे।

राशिदा खान की रिपोर्ट