Home » अपराध / आचार » मथुरा:- बेख़ौफ़ लुटेरो का कहर-लूट के बाद हत्या की घटना को दिया अंजाम _धनीराम खण्डेलवाल की रिपोर्ट

मथुरा:- बेख़ौफ़ लुटेरो का कहर-लूट के बाद हत्या की घटना को दिया अंजाम _धनीराम खण्डेलवाल की रिपोर्ट

मथुरा:- यु पी में अपराधी कितने बेख़ौफ़ है इसकी बानगी मथुरा के थाना हाईवे की अमर कॉलोनी में देखने...

👤 Ajay9 March 2017 12:45 PM GMT
Share Post


मथुरा:- यु पी में अपराधी कितने बेख़ौफ़ है इसकी बानगी मथुरा के थाना हाईवे की अमर कॉलोनी में देखने को मिली जब लूट के इरादे से आये बदमाशो ने दंपत्ति को चेहरे पर ताबड़तोड़ हमला कर गंभीर रूप से घायल कर दिया । हमले में पत्नी की मौके पर ही मौत हो गयी और पति का गंभीर हालत में नयति हॉस्पिटल में इलाज चल रहा है ।
चारो तरफ भीड़ मौके पर पहुचते जिले के आला अधिकारी और रोते बिलखते परिजन सब इस बात से हैरान हे की घर में सो रहे दंपत्ती रविबाला और उसके पति बनवारी की लूट के बाद इतनी निर्मम हत्या दी और किसी को कानो कान खबर तक नहीं लगी । स्थानीय लोगो का मानना है कि लूट के इरादे से आये बदमाशो ने पहचान हो जाने के चलते उनको मौत के घाट उतार दिया है ।

हत्या की खबर और पुलिस को 100 न पर सूचना दिए जाने के बाद भी जब पुलिस काफी देर तक पुलिस मौके पर नहीं पहुँची तो लोगो का गुस्सा फूट पड़ा और उन्होंने जाम लगाना शुरू करा दिया । जाम की सूचना पर क्या थानेदार क्या एसएसपी सभी एक एक करके मौके पर पहुँच गए और घटना के बारे में एक एक कर परिजनों और पड़ोसियों से पूछने लगे । पूछताछ में आयी जानकारी के बाद एसएसपी मोहित गुप्ता ने बताया कि बनवारी के घर में पिछले महीने भर से काम चल रहा है । कल बनवारी 2 लाख रुपये भी लेकर आया था । रात्रि को बदमाशो ने हमला कर उनकी हत्या कर दी । हत्या लूट की वजह और पहचान लिए जाने की वजह से भी हो सकती है ।
परिजनों और पुलिस की माने तो वारदात की जानकारी सुबह उस समय हुई जब पड़ोस के घर में सो रहे दंम्पत्ति के बच्चे उठ कर घर आये और दोनों लोगो को मरणासन्न हालात में देखा । पुलिस और परिजन इस बात से सन्न हे की बदमाश बेख़ौफ़ हो वारदात को अंजाम देते रहे और किसी को कोई जानकारी नहीं हो सकी । फिलहाल पुलिस की फोरेंसिक टीम साक्ष्य जुटाने में और पुलिस के आलाधिकारी घटना के खुलासे में जुट गए है । वारदात के पीछे पुलिस को किसी जानकार का हाथ होने और घर पर काम कर रहे मजदुरो पर शक है । अब देखना होगा की शक की परत से कब पर्दा उठता है और आरोपी पुलिस की गिरफ्त में होते है ।