Home » अपराध / आचार » बुलन्दशहर :- पुलिसकर्मियों को धमकाने वाला फर्जी डीआईजी अरेस्ट_इक़बाल सैफी की रिपोर्ट

बुलन्दशहर :- पुलिसकर्मियों को धमकाने वाला फर्जी डीआईजी अरेस्ट_इक़बाल सैफी की रिपोर्ट

बुलंदशहर:- बुलंदशहर में लेडी पुलिसकर्मियों को धमकाने और अश्लील बाते करने वाले फर्जी डीआईजी को पुलिस...

👤 Ajay2017-03-06 15:09:25.0
बुलन्दशहर :- पुलिसकर्मियों को धमकाने वाला फर्जी डीआईजी अरेस्ट_इक़बाल सैफी की रिपोर्ट
Share Post


बुलंदशहर:- बुलंदशहर में लेडी पुलिसकर्मियों को धमकाने और अश्लील बाते करने वाले फर्जी डीआईजी को पुलिस ने अरेस्ट कर लिया है। आरोपी अपने आप को डीआईजी अलोक सिंह बताकर महिला पुलिसकर्मियों को फोन करता था और उन्हें धमकाता था। महिला एसओ की शिकायत के बाद सर्विलांस की टीम ने फर्जी डीआईजी को अरेस्ट किया है।

बताते चले कि पुलिस कर्मियों को फोन पर कुछ इस अंदाज में फोन करता था ये फर्जी डीआईजी- हेल्लों मैं डीआईजी आलोक सिंह बोल रहा हूं। यह शब्द डीआईजी आलोक सिंह के नहीं, बल्कि दिल्ली में सिक्योरिटी गार्ड सुनील पाण्डेय के है। जी हां आप को बता दें कि यह शख्स डीआईजी आलोक सिंह नहीं, बल्कि सिक्योरिटी गार्ड सुनील पाण्डेय है। सुनील पाण्डेय शराब पीकर महिला पुलिसकर्मियों को फोन करता और अपने आप को डीआईजी बताता। उसके बाद डीआईजी आलोक सिंह उर्फ सुनील पाण्डेय महिला पुलिस कर्मियों को फोन पर धमकी भी देता। बता दे कि 23 फरवरी को महिला थानाध्यक्ष के सीयूजी नं0-9454404784 पर मोबाईल नम्बर-9205661314 से फोन आया। फोन करने वाले ने अपने आप को महिला हैल्प लाइन-1090 से डीआईजी आलोक सिंह बताया। महिला पुलिस कर्मी ने बताया कि फर्जी डीआईजी ने उनके साथ अश्लील भाषा का प्रयोग किया। साथ ही कहा कि कांस्टेबिल प्रियंका, पूनम व नीलम से कहो कि मुझसे बात करे। 25 फरवरी को फर्जी डीआईजी ने 100 नम्बर पर फोन करके महिला थानाध्यक्ष से बात कराने के लिए कहा। महिला पुलिसकर्मी को नम्बर परिचित था इसलिए महिला थानाध्यक्ष ने कांस्टेबिल से उक्त नम्बर पर कॉल करने को कहा। फोन करने पर कथित डीआईजी ने महिला पुलिस कर्मी के साथ अश्लील शब्दो का प्रयोग कर गाली गलौच की गयी। साथ महिला पुलिस कर्मियों को धमकाया और जान से मारने की धमकी भी दी।
पुलिस की मानें तो फर्जी डीआईजी को कोतवाली नगर पुलिस ने बुलंदशहर रेलवे स्टेशन से अरेस्ट किया है। पुलिस ने बताया कि फर्जी डीआईजी बनकर महिला पुलिस कर्मियों से फोन कर अभद्र भाषा एवं जान से मारने की धमकी देता है। पुलिस ने सर्विलांस की मदद से आरोपी सुनील पाण्डेय को अरेस्ट किया है। पुलिस ने बताया कि सुनील पाण्डेय पुत्र सुदामा निवासी ग्राम मनोरतपुर थाना महदावल जिला संतकबीरनगर का रहने वाला है। सुनील पाण्डेय नाम का यह शख्स 4 सालों से राहुल वर्मा कैलाशपुरी, दिल्ली में सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करता है। सुनील नशे का आदी है और अपना रौब जमाने के लिए महिला अधिकारियो-महिला पुलिसकर्मियों के मोबाईल नम्बरो पर फोन कर अश्लील शब्दों का प्रयोग व उनको धमकाता है। कथित डीआईजी इस तरह की घटना 40 जनपदों में कर चुका है, लेकिन पुलिस के हाथ आज तक नही आया।
40 से ज्यादा जनपदों में फोन पर पुलिस अधिकारी और महिला पुलिस कर्मियों को धमका चुका है कथित डीआईजी। बुलंदशहर पुलिस ने सर्विलांस, सीडीआर, आईडी और लोकेशन की मदद से कथित डीआईजी को पकडने में सफलता हासिल की है।