Home » अपराध / आचार » बुलंदशहर:- हैवानियत की हद, नव विबाहिता को ज़िंदा ही चिता पर जलाने का प्रयास, नव विबाहिता की मौत _इकबाल सैफी की रिपोर्ट

बुलंदशहर:- हैवानियत की हद, नव विबाहिता को ज़िंदा ही चिता पर जलाने का प्रयास, नव विबाहिता की मौत _इकबाल सैफी की रिपोर्ट

बुलन्दशहर:- प्यार में पागल एक लड़की ने अपने परिजनों से धोखा कर प्रेमी से शादी की तो प्रेमी ने भी...

👤 Ajay2017-03-02 05:23:22.0
बुलंदशहर:- हैवानियत की हद, नव विबाहिता को ज़िंदा ही चिता पर जलाने का प्रयास, नव विबाहिता की मौत  _इकबाल सैफी की रिपोर्ट
Share Post

बुलन्दशहर:- प्यार में पागल एक लड़की ने अपने परिजनों से धोखा कर प्रेमी से शादी की तो प्रेमी ने भी उसे धोखा दे डाला। आरोप है की पति और ससुराल पक्ष के लोगो ने युवती को ज़िंदा चिता पर रख दिया। लेकिन एन मौके पर युवती के परिजन पुलिस को लेकर श्मशान पहुचे तो ससुराल पक्ष के लोग मौके से भाग लिए। चिता से निकाल कर शव का पोस्टमार्टम कराया तो पता चला की सत्तर प्रतिशत से अधिक जली रचना की मौत का कारण बर्न शॉक आया। परिजनों की तहरीर पर अलीगढ़ जनपद में 11 ससुराल पक्ष के लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है !
आपको बता दें कि बुलंदशहर जनपद के स्याना थाना क्षेत्र के गांव बरोली वासदेवपुर निवासी रचना। और यह है रचना का तथा कथित पति रोहताश। परिजनों की माने तो रचना यहीं से 13 दिसम्बर 2016 को बिना बताये घर से भाग गयी थी। परिजनों का कहना है की उन्होंने गुमशुदगी की रिपोर्ट एस एस पी और चौकी को भेजी थी लेकिन पुलिस ने कोई कारवाही नहीं की। इस बीच लड़की नोएडा के भट्टा पारसौल में रहते हुए बीमार हुई थी और उसका इलाज़ शारदा हॉस्पिटल में हुआ था कहा जा रहा है की शारदा हॉस्पिटल ने युवती को मृत घोषित कर दिया था। तो शायद ससुराल पक्ष के लोगों ने अलीगढ के सपेरा भानपुर गांव लाकर उसका अंतिम संस्कार करना शुरू कर दिया। तभी गांव प्रधान ने रचना के परिजनों को घटना की सूचना दे डाली , तब वह मौके पर पुलिस को लेकर पहुचे तो सब भाग गए।
सारे मामले में रचना के परिजन बुलंदशहर पुलिस की लापरवाही बता रहे है उनका दावा है की उन्होंने रचना की गुमशुदगी की सूचना दी थी लेकिन कोई नहीं की गयी। परिजन यह भी कह रहे है की स्याना में रचना कोचिंग को जाती थी कोचिंग में ही उसकी मुलाकात लड़के से हुई थी। परिजन यह बता पाने की हालत में नहीं की रचना के साथ ऐसा क्यों हुआ। उधर बुलंदशहर पुलिस रचना की गुमशुदगी के बारे में अनजान है और कुछ भी कैमरे पर बोलने के लिए तैयार नहीं है। उधर रचना की माँ इंसाफ की गुहार लगा रही है।